ताज़ा खबर
 

पद्मावत: तेलंगाना के BJP विधायक की धमकी- यहां फिल्‍म रिलीज हुई तो भुगतेंगे थियेटर वाले

फिल्म पद्मावत को लेकर विवाद हिंदी पट्टी से निकलकर दक्षिण भारत तक पहुंच गया है।

फिल्म ‘पद्मावत’ में दीपिका पादुकोण।

फिल्म पद्मावत को लेकर विवाद हिंदी पट्टी से निकलकर दक्षिण भारत तक पहुंच गया है। तेलंगाना के एक बीजेपी विधायक ने राज्य में फिल्म रिलीज होने की सूरत में सिनेमाघर वालों को अंजाम भुगतने की धमकी दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बीजेपी विधायक राजा सिंह ने संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत को लेकर कड़ा रुख अख्तियार किया है। राजा सिंह ने लोगों के एक समूह को संबोधित करते हुए कहा- हम लोग तेलंगाना में भी फिल्म रिलीज नहीं होने देंगे। हमने सिनेमाघर मालिकों को आगाह कर दिया है कि अगर उन्होंने फिल्म चलाने की कोशिश की तो गंभीर और हानीकारक परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहें। राजा सिंह ने आगे कहा- फिल्म की कहानी को लेकर उठाई गई आपत्तियों के बावजूद केवल फिल्म का नाम पद्मावती से बदलकर पद्मावत कर दिया गया है। फिल्म ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़-मरोड़कर पेश करती है। इसमें दिखाया गया है कि बाद्मण और राजपूत आपस में लड़ते हैं। अगर हम एक फिल्म को रोकने में सफल रहे तो भविषय में फिर कोई फिल्म हमारे इतिहास, संस्कृति और धर्म के साथ छेड़छाड़ नहीं करेगी।

राजा सिंह ने कहा कि शहर में आए 15 लाख राजपूतों को सूचना दे दी गई है कि वे अपने-अपने इलाकों में भी सिनेमाघरों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करें। इससे पहले बीजेपी विधायक ने तेलंगाना में फिल्म रिलीज करने को लेकर सिनेमाघरों को जलाने की धमकी दी थी। 25 जनवरी को रिलीज होने वाली यह फिल्म राजस्थान, मध्य प्रदेश और गुजरात में बैन हो चुकी है।

बता दें कि राजस्थान में इस फिल्म को लेकर भारी रोष है। शनिवार (13) जनवरी को क्षत्रिय समाज की महिलाओं ने फिल्म रिलीज होने पर जौहर (आग में कूदकर जान देना) करने की धमकी दी है। राजपूत करणी सेना ने फिल्म को रिलीज होने से रोकने के लिए भारी विरोध प्रदर्शन की तैयारी की है। राजपूत सेना के प्रवक्ता वीरेंद्र सिंह ने बताया कि 17 जनवरी को चित्तौड़गढ़ से गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग और रेलवे लाइन को जाम करने की योजना है। उन्होंने कहा अगर उनके (राजपूत समाज के) भारी विरोध प्रदर्शऩ के बावजूद फिल्म रिलीज होती है तो 24 जनवरी को चित्तौड़गढ़ के किले में क्षत्रिय महिलाएं जौहर करेंगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App