ताज़ा खबर
 

गुरुग्रामः कोविड मरीजों के परिजन अस्पताल पहुंचे तो न डॉक्टर मिला और न ही स्टाफ, ICU का ताला खोला तो मंजर देख रह गए हैरान, देखें वीडियो

पुलिस ने कुछ डॉक्टरों को कहीं से बुलाकर ले आई, लेकिन मरीजों की पहले ही मौत हो चुकी थी। घटना गुरुग्राम के सेक्टर 56 स्थिति कीर्ति अस्पताल की है।

दिल्ली के एक श्मशान घाट में कोरोना मरीजों के शवों के पास खड़ा एक शख्स। (PTI Photo)

ऑक्सीजन, वेंटिलेटर बेड, वैक्सीन जैसी जरूरी आवश्यकतों के बिना लोग लगातार दम तोड़ रहे हैं। इसकी लगातार कमी से हर कोई बेचैन है। कहीं कोई सुनवाई नहीं हो रही है। सरकार बेबस और लाचार जैसी प्रतीत हो रही है। इस बीच गुरुग्राम के एक अस्पताल में रात में कथित रूप से ऑक्सीजन खत्म होने के बाद डॉक्टर और अन्य चिकित्साकर्मी मरीजों को उनके हाल पर छोड़कर भाग गए। इससे छह मरीजों की मौत हो गई।

मरीजों के परिजन सुबह जब अस्पताल पहुंचे तो उन्हें सिर्फ लाशें मिलीं। अस्पताल में कोविड पीड़ित 20 मरीज भर्ती थे। इसका किसी ने वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। इस मामले में जिला प्रशासन का कहना है कि वायरल वीडियो का फुटेज पुराना है। अस्पताल की घटना से उसका कोई संबंध नहीं है।

परिजनों का आरोप है कि लाशें आईसीयू में पड़ी थीं। और बाहर से तालाबंद था। परिजनों ने जब ताला खोलवाया तो वहां का मंजर देखकर चौंक गए। इसके बाद वहां जमकर हंगामा हुआ। गुस्साए लोगों ने गमले आदि तोड़ दिए। अस्पताल की सीढ़ियां भी तोड़ दी। परिजन अपनों को खोकर बेहाल हैं और वे रोते रहे।

सूचना पर पहुंची पुलिस भी डॉक्टरों का ही साथ देती नजर आई। पुलिस ने कुछ डॉक्टरों को कहीं से बुलाकर ले आई, लेकिन मरीजों की पहले ही मौत हो चुकी थी। घटना गुरुग्राम के सेक्टर 56 स्थिति कीर्ति अस्पताल की है। घटना के बाद मौके पर पुलिस की तैनाती कर दी गई है। परिजनों में जबरदस्त आक्रोश है। वे अस्पताल के मैनेजमेंट के लोगों, डॉक्टरों, कर्मचारियों और अन्य दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि अंदर भर्ती लोगों की ऑक्सीजन खत्म होने से पहले उसकी व्यवस्था कर लेनी चाहिए थी।

हरियाणा सरकार के तमाम प्रयासों के वावजूद कोरोना संक्रमण काबू नहीं हो रहा है। लॉकडाउन के बावजूद संक्रमण के नए केसों की संख्या घटने के बजाय बढ़ रही है। संक्रमण दर 7.17 प्रतिशत पहुंच गई है और रिकवरी दर 79.10 पर ठहरी है। मृत्यु दर 0.88 प्रतिशत है। मंगलवार को 15786 नए केस मिले हैं, जो सोमवार को मिले केसों से 2931 अधिक हैं। वहीं, 153 मरीजों की मौत दर्ज की गई है। 1 मई से अब तक रोजाना मौतों का आंकड़ा 100 के पार जा रहा है। गंभीर मरीजों की संख्या 1418 है, इनमें से 1178 ऑक्सीजन और 240 वेंटीलेटर सपोर्ट पर हैं। वहीं, एक ही दिन में 11525 लोगों ने कोरोना को हराया। अब एक्टिव केस 108830 हो गए हैं। इनमें से 80 हजार से अधिक मरीज होम आइसोलेशन में हैं।

Next Stories
1 कोरोनाः ममता बनर्जी ने लोकल ट्रेनों पर लगाई रोक, सूबे में आने के लिए नेगेटिव कोविड रिपोर्ट अनिवार्य
2 कोरोना ने बदली रवायतः बिहार में विवाह के दौरान एक दूसरे को लकड़ी के जरिए पहनाई वरमाला, देखें वीडियो
3 कोरोना संकट के बीच योगी सरकार को गायों की फिक्र, गोशाला में होगा ऑक्सीमीटर और थर्मल स्कैनर
यह पढ़ा क्या?
X