ताज़ा खबर
 

Uttar Pradesh: बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को मिलेगी कमांडो जैसी ट्रेनिंग, मंदिर और महिलाओं की करेंगे सुरक्षा

उत्तर प्रदेश में एक हजार बजरंग दल कार्यकर्ताओं को कमांडो जैसी ट्रेनिंग मिलेगी। इस ट्रेनिंग के पीछे वजह मंदिरों सहित महिलाओं की रक्षा वजह बताई जा रही है।

प्रतीकात्मक फोटो, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

उत्तर प्रदेश में एक हजार से भी अधिक बजरंग दल कार्यकर्ताओं को ‘कमांडो ट्रेनिंग’ दिए जाने की बात सामने आई है। इस ट्रेनिंग की वजह एंटी नेशनल लोगों से टकराने और महिलाओं सहित मंदिर को बचाना बताया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 200 कार्यकर्ताओं का एक कैंप 15 मई से अयोध्या में शुरू होगा। वहीं ऐसे 8 कैंप सिर्फ मई में ही प्रदेश के पांच अलग हिस्सों में लगाए जाएंगे। जिसमें कार्यकर्ताओं को कमांडो जैसी ट्रेनिंग दी जाएगी।

कबसे कहां शुरू होगी ट्रेनिंग: टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत करते हुए बजरंग दल के संयोजक सोहन सिंह सोलंकी ने बताया कि मेरठ के खुर्जा में 22 मई, फिरोजाबाद के बृज में 26 मई, अमेठी के कासी में 25 मई, कानपुर में 27 मई और गोरखपुर के मऊ में 22 मई से ट्रेनिंग शुरू होगी। इसके साथ ही सोलंकी ने बताया कि कैंप के लिए कैंडिडेट्स का सिलेक्शन उनके दल में एक्टिव परफॉर्मेंस से तय किया जाएगा। इसके साथ ही ट्रेनिंग के बारे में सोलंकी ने कहा कि कार्यकर्ताओं को शारीरिक और मानसिक तौर पर तैयार किया जाएगा।

National Hindi News, 20 May 2019 LIVE Updates: दिनभर की हर बड़ी खबर सिर्फ एक क्लिक पर

क्यों होगी ट्रेनिंग: ट्रेनिंग के पीछे के मकसद के बारे में अलीगढ़ के विश्व हिंदू परिषद (विहिप) विभाग मंत्री राम कुमार आर्या ने बताया कि ट्रेनिंग कार्यकर्ताओं को मजबूत बनान के लिए है जिससे वोल राष्ट्र रक्षा, महिला सुरक्षा, गऊ संरक्षण, मंदिर की सुरक्षा और हिंदुत्व की रक्षा कर सकें।

 

कराटे के साथ-साथ तलवार बाजी आदि भी होगी शामिल: अलीगढ़ के बंजरंग दल संयोजक गौरम शर्मा ने ट्रेनिंग के बारे में बताया कि इसमें कराटे के साथ, एयर राइफिल, तलवार और लाठी आदि का इस्तेमाल भी सिखाया जाएगा। वहीं तमाम एक्सरसाइज की मदद से शरीर को मजबूत बनाया जाएगा। मजबूती के लिए रस्सी से पड़ चढ़ना, हाई जंपिंग और लॉन्ग डिस्टेंस रनिंग शामिल है। इसके साथ ही गौरव ने बताया कि सभी कार्यकर्ताओं की ट्रेनिंग आधिकारिक ट्रेनर्स से होगी या फिर रिटायर्ड आर्मी और पुलिस अधिकारियों से।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X