ताज़ा खबर
 

एक साल में 1000 से ज्‍यादा एनकाउंटर्स कर निशाने पर आई योगी आदित्‍यनाथ सरकार

योगी आदित्‍यनाथ ने पिछले साल मार्च में मुख्‍यमंत्री का पद संभाला था। भाजपा ने अपराध पर अंकुश लगाने का वादा किया था। भाजपा के शासन में आने के बाद से अब तक 1,100 से ज्‍यादा एनकाउंटर की घटनाएं सामने आ चुकी हैं। राष्‍ट्रीय मानवाधिकार आयोग इसको लेकर प्रदेश सरकार को नोटिस भी जारी कर चुका है।

विधानसभा से बाहर निकलते यूपी सीएम योगी आदित्‍यनाथ। (File Photo: PTI)

योगी आदित्‍यनाथ की सरकार के एक साल के कार्यकाल में 1000 से ज्‍यादा एनकाउंटर किए जा चुके हैं। अपराधियों को खत्‍म करने के लिए उत्‍तर प्रदेश पुलिस की ओर से चलाए गए इस अभियान में अब 49 लोगों को ढेर किया जा चुका है, जबकि 370 से ज्‍यादा घायल हुए हैं। इसके अलावा 3,300 से ज्‍यादा को गिरफ्तार किया गया है। ‘द हिंदू’ अनुसार, योगी राज में उत्‍तर प्रदेश में पुलिस 1,100 से ज्‍यादा मुठभेड़ कर चुकी है। आंकड़ों क अनुसार, ज्‍यादातर एनकाउंटर पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश के मेरठ, शामली, मुजफ्फरनगर, बागपत, साहरनपुर, बुलंदशहर, गाजियाबाद और नोएडा में हुए हैं। पूर्वी उत्‍तर प्रदेश के आजमगढ़ में पांच संदिग्‍ध अपराधियों को ढेर किया गया। मानवाधिकारों के उल्‍लंघन के आरोपों के बीच राष्‍ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने उत्‍तर प्रदेश को कई नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है। वहीं, राज्‍य मानवाधिकार आयोग एनकाउंटर के चार मामलों की जांच कर रहा है। इनमें से तीन आजमगढ़ से जुड़े हैं। प्रदेश में लगातार एनकाउंटर से योगी सरकार विपक्षी दलों के निशाने पर आ गई है। विपक्षी दलों ने एनकाउंटर को फर्जी करार दिया है। साथ ही मुठभेड़ में ज्‍यादातर दलित, मुस्लिम या पिछड़ी जातियों से आने वाले लोगों के मारे जाने पर भी सवाल उठाए हैं।

सीबीआई जांच की उठी थी मांग: विधानपरिषद के अध्‍यक्ष रमेश यादव (समाजवादी पार्टी) ने इस साल 13 फरवरी को नोएडा और मथुरा के कथित तौर पर फर्जी एनकाउंटर की सीबीआई जांच की सिफारिश की थी। हालांकि, सत्‍तारूढ़ भाजपा के विरोध के कारण उन्‍हें पीछे हटना पड़ा था। बता दें कि सपा शुरुआत से ही यूपी पुलिस द्वारा किए जा रहे एनकाउंटर पर सवाल उठाती रही है। यह मामला विधानसभा में भी उठाया जा चुका है। वहीं, उत्‍तर प्रदेश पुलिस ने एनकाउंटर का बचाव किया है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि अपराध को रोकने के लिए और वांछित अपराधियों के खिलाफ अभियान चलाया गया है। पुलिस और उत्‍तर प्रदेश शासन फर्जी एनकाउंटर के आरोपों को शुरुआत से ही खारिज करते रहे हैं।

सीएम योगी पर भड़के AAP नेता: आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता आशुतोष ने पुलिसिया कार्रवाई पर मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की कड़ी आलोचना की है। उन्‍होंने उन्‍नाव में एक महिला द्वारा भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर दुष्‍कर्म का आरोप लगाने के बाद पुलिस के सुस्‍त रवैये तीखी टिप्‍पणी की है। आशुतोष ने ट्वीट किया, ‘बीजेपी क़ानून से ऊपर है। गैंगरेप का आरोप। आत्मदाह की कोशिश। पिता की थाने में मौत। मोदी जी की सरकार खामोश। योगी जी चुप। महिला बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर का नाम लिया कि उसने धमकी दी थी कि वो रेप की बात करेगी तो जान से मार देंगे। मार दिया। हिंदुत्व का ये असली चेहरा है। महिला ने बताया कि उसने योगी जी को भी बताया था। योगी जी ने कहा कि इंसाफ होगा और ये इंसाफ हुआ कि पिता की थाने में मौत हो गई। योगी सोचें कि क्या उन्हें पद पक रहना चाहिए?’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App