नहीं रहे ऑस्कर फर्नांडीज: सोनिया के थे भरोसेमंद, कभी गोमूत्र से अपना कैंसर ठीक होने का कर बैठे थे दावा

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता ऑस्कर फर्नांडीज का सोमवार को मंगलुरु में निधन हो गया। वह 80 वर्ष के थे। फर्नांडीज लंबे वक्त से बीमार चल रहे थे। पिछले दिनों ही उनकी ब्रेन सर्जरी हुई थी।

Oscar Fernandes
पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ऑस्कर फर्नांडिस (फाइल फोटो) Source- PTI

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता ऑस्कर फर्नांडीज का सोमवार को मंगलुरु में निधन हो गया। वह 80 वर्ष के थे। फर्नांडीज लंबे वक्त से बीमार चल रहे थे। पिछले दिनों ही उनकी ब्रेन सर्जरी हुई थी। सर्जरी के बाद से ही वह कोमा में बताए जा रहे थे। हालांकि डॉक्टरों ने बताया था कि पिछले दिनों उनके स्वास्थ्य में कुछ सुधार हो रहा है लेकिन सोमवार को दिल का दौरा पड़ने के बाद उन्होंने अस्पताल में ही अंतिम सांस ली। प्राप्त जानकारी के अनुसार करीब एक महीने पहले जब वह योगा कर रहे थे तब उन्हें चोट लगी थी, तभी से उनके स्वास्थ्य में गिरावट होती चली गई।

सोनिया गांधी के सहयोगी: ऑस्कर फर्नांडीज को सोनिया गांधी का करीबी माना जाता था। वह कर्नाटक के कोंकण इलाके से आते हैं। 1980 में जब इंदिरा गांधी हत्याकांड के बाद राजीव गांधी को प्रधानमंत्री बनाया गया था तो ऑस्कर फर्नांडीज को ही उनका संसदीय सचिव बनाया गया था। उनकी गिनती संजय गांधी के करीबी नेताओं में भी होती थी। कांग्रेस पार्टी की बागडोर जब सोनिया गांधी के हाथों में आई को कई संजय़ गांधी करीबी नेताओं को साइड लाइन किया जा रहा था लेकिन इसी दौर में फर्नांडीज को केंद्रीय मंत्री बनाया गया था। इसके बाद कांग्रेस में फर्नांडीज का कद ऊंचा होता चला गया था।

1977 में कांग्रेस की करारी हार और 1978 में कांग्रेस से इंदिरा गांधी को निष्कासित किए जाने के बाद उन्होंने नई पार्टी कांग्रेस इंदिरा का गठन किया था। नई पार्टी को सत्ता तक पहुंचाने के लिए संजय गांधी ने एक टीम बनाई थी। इस टीम में आज के कई कद्दावर नेता मौजूद हैं, जिसमे राजेश पायलट से लेकर गुलाम नबी आजाद तक और माधवराव सिंधिया से लेकर ऑस्कर फर्नांडीज तक शामिल थे। फर्नांडीज 1980 में कर्नाटक की उडप्पी लोकसभा सीट से वह सांसद चुने गए थे, इसके बाद वह 1996 तक लगातार यहां से जीतते रहे थे। अभी भी वह राज्यसभा सांसद थे।

गौमूत्र से अपने कैंसर के ठीक होने का किया था दावा: फर्नांडीज की गिनती कांग्रेस के मृदुभाषी नेताओं में होती थी। विवादों से वह दूर ही रहते थे लेकिन कुछ एक मौकों पर उनके बयानों पर जमकर हंगामा हुआ था। करीब एक साल राज्यसभा में अपने अनुभवों को साझा करते हुए उन्होंने दावा किया था कि गौमूत्र से उनका कैंसर ठीक हुआ था। इतना ही नहीं उन्होंने माना था कि जिस बीमारी के कारण वह ठीक से चल भी नहीं पा रहे थे, योगा के जरिए उस बीमारी से निजात पा ली थी। उनके इस बयान पर कांग्रेस पार्टी की जमकर किरकिरी हुई थी।

ऑस्कर फर्नांडीज के निधन पर पार्टी नेताओं ने शोक प्रकट किया है। कांग्रेस पार्टी ने भी आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर ऑस्कर फर्नांडीज के निधन की खबर को साझा करते हुए इस पर दुख प्रकट किया है।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट
X