ताज़ा खबर
 

दफ्तर देर पहुंचा तो सीनियर ने जूनियर अधिकारी से करवाई उठक-बैठक

जनगर तहसीलदर निहार रंजन मलिक ने बताया कि राजस्व निरीक्षकों को एडीएम के निर्देश पर उठक - बैठक के लिये कहा गया। उन्हें इसलिए सजा दी गयी क्योंकि वे बैठक में करीब 15 मिनट की देरी से पहुंचे।

प्रतीकात्मक तस्वीर।

ओडिशा के केंद्रपाड़ा जिले में एक वरिष्ठ अधिकारी ने राजनगर में एक बैठक में दो राजस्व निरीक्षकों के देरी से पहुंचने पर उन्हें सजा के तौर पर कथित रूप से उठक – बैठक करने के लिये मजबूर किया। पीड़ितों ने कल (16 मई) इस संबंध में जिला कलेक्टर को लिखित में शिकायत दी और आरोप लगाया कि अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट (एडीएम) बसंत कुमार राउत ने मंगलवार को तहसील दफ्तर के राजस्व र्सिकल की समीक्षा बैठक के दौरान उन्हें उठक – बैठक के लिये मजबूर किया। बैठक सुबह साढ़े नौ बजे होने वाली थी। रीघागड़ा और गुप्ती राजस्व सर्किल के ये दोनों राजस्व निरीक्षक बैठक में 15 मिनट की देरी से पहुंचे थे। वरिष्ठ अधिकारी ने पहले तो उन्हें इसके लिये झिड़की लगायी और फिर अन्य सहर्किमयों के सामने उठक – बैठक करने को कहा।

केंद्रपाड़ा के कलेक्टर रघु जी ने कहा कहा , ‘‘ जांच के बाद घटना सही पायी गयी। एडीएम का इस तरह का बर्ताव अनुचित है। उनसे राजस्व निरीक्षकों के प्रतिनिधिमंडल से बिना शर्त माफी मांगने के लिये कहा गया है। ’’ राजनगर तहसीलदर निहार रंजन मलिक ने बताया कि राजस्व निरीक्षकों को एडीएम के निर्देश पर उठक – बैठक के लिये कहा गया। उन्हें इसलिए सजा दी गयी क्योंकि वे बैठक में करीब 15 मिनट की देरी से पहुंचे। एडीएम बसंत कुमार राउत से संपर्क नहीं हो सका क्योंकि उनका फोन बंद आ रहा है। अखिल ओडिशा राजस्व निरीक्षक संघ के पदाधिकारी दुखीश्याम पांडा ने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। गुप्ता के राजस्व निरीक्षक करुणाकर मलिक ने कहा , ‘‘यह बहुत अमानवीय अनुभव था। मैं अब भी सदमे में हूं।’’

इस घटना के बाद दफ्तर के कर्मचारियों में काफी रोष है। इनका कहना है कि सीनियर ऑफिसर इनपर अक्सर अपनी धौंस जमाते हैं। जूनियर अधिकारियों का कहना है कि उन्होंने अपनी परेशानियां बताने की कोशिश की है, लेकिन इनकी कोई सुनने वाला नहीं है। रिपोर्ट के मुताबिक सीनियर अधिकारियों के बर्ताव की वजह से उनके आत्म सम्मान को ठेस पहुंची है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App