ताज़ा खबर
 

छात्रसंघ अध्यक्ष पर भड़के सत्ताधारी विधायक, कान पकड़कर 50 बार कराई उठक-बैठक

बीजेडी युवा विंग के अध्यक्ष राणा प्रताप पात्रा ने कहा कि कभी किसी बीजेडी नेता ने छात्र को अपमानित नहीं किया है और ना ही उनके साथ ऐसी कोई हरकत की है। राणा प्रताप ने कहा है कि अरुण साहू के खिलाफ लगाये गये आरोप झूठे और बेबुनियाद है।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रतीक के तौर पर किया गया है।

ओडिशा के बीजेडी विधायक अरुण साहू पर छात्रसंघ नेता को धमकाने और उसे कान पकड़कर उठक बैठक कराने का आरोप लगा है। इस मामले में उनके खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहा है। विधायक के खिलाफ राज्यभर में राजनीतिक दलों ने विरोध प्रदर्शन किया है। आरोप है कि अरुण साहू ने उत्तर ओडिशा विश्वविद्यालय छात्र संघ के अध्यक्ष तुषार नायक के साथ बदसलूकी की। तुषार नायक विश्वविद्यालय की समस्याओं को लेकर विधायक से मिलने गये थे। इस दौरान विधायक ने उनसे 50 बार उठक-बैठक करवाया। बीजेपी के युवा मोर्चा ने अरुण साहू का पुतला जलाया और विधायक से तुरंत माफी मांगने को कहा। बीजेपी के मयूरभंज जिला युवा मोर्चा के अध्यक्ष कुमार मंगलम ने कहा कि हम लोग अरूण साहू को मयूरभंज में तबतक घुसने नहीं देंगे जब तक वे माफी नहीं मांगते हैं, और यदि वह माफी नहीं मांगते हैं तो उनका काले झंड़ों और सड़े अंडों से स्वागत किया जाएगा।

30 मई को एबीवीपी के छात्रों ने भुवनेश्वर में उत्सल यूनिवर्सिटी के गेट के बाहर प्रदर्शन किया और कहा कि बीजेडी एमएलए जल्द से जल्द माफी मांगे। विरोध प्रदर्शन में कांग्रेस भी पीछे नहीं रही। कांग्रस छात्र नेताओं ने कहा कि यदि मुख्यमंत्री नवीन पटनायक अरुण साहू को सात दिनों में नहीं हटाते हैं तो मयूरभंज को अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया जाएगा। वहीं बीजेडी युवा विंग के अध्यक्ष राणा प्रताप पात्रा ने कहा कि कभी किसी बीजेडी नेता ने छात्र को अपमानित नहीं किया है और ना ही उनके साथ ऐसी कोई हरकत की है। राणा प्रताप ने कहा है कि अरुण साहू के खिलाफ लगाये गये आरोप झूठे और बेबुनियाद है।

बता दें कि ओडिशा में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। इस लिहाज से कई दलों ने इस मुद्दे को चुनावी रंग भी देना शुरू कर दिया है। बीजेपी ने कहा है कि राज्य में बेपरवाही का आलम है और जनप्रतिनिधियों को इससे कोई मतलब नहीं है। कांग्रेस भी इस मुद्दे को उछाल रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App