ताज़ा खबर
 

Odisha, Andhra Pradesh Cyclone Titli Updates: ओडिशा ‘तितली’ की दस्तक, सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाए गए 3 लाख लोग

Odisha, Andhra Pradesh Cyclone Titli Updates, Odisha Cyclone Storm Warning News: ओडिशा सरकार ने पांच तटीय जिलों के निचले क्षेत्रों से तीन लाख से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया।

Odisha, Andhra Pradesh Cyclone Titli Updates: मौसम विभाग ने तितली तूफान के तट पर पहुंचने के बाद काफी तेज रफ्तार से हवाएं चलने का अनुमान जताया। (AP File Photo)

Odisha, Andhra Pradesh Cyclone Titli Updates, Odisha Cyclone Storm Warning: चक्रवाती तूफान ‘तितली’ गुरुवार सुबह ओडिशा पहुंचा। पूरे राज्य में उस दौरान हाई अलर्ट रहा। मौसम विभाग के मुताबिक, उस समय 140 से 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं ओडिशा-आंध्र प्रदेश के तटों पर चलीं, जो कि 165 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ सकती हैं। विभाग ने इसी के साथ बारिश होने की आशंका भी जताई। हालांकि, राहत-बचाव कार्य के लिए खास इंतजाम तैयार रहे। उससे पहले, बंगाल की खाड़ी के ऊपर बुधवार को चक्रवाती तूफान के बेहद प्रचंड रूप लेने और ओडिशा तट की ओर आगे बढ़ने के बाद ओडिशा सरकार ने पांच तटीय जिलों के निचले क्षेत्रों से तीन लाख से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया।

पूरी तरह चौकस ओड़िशा सरकार ने इस आपदा का सामना करने के लिए अपनी पूरी मशीनरी झोंक दी। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा, ‘इस भयंकर चक्रवात के मद्देनजर हमने पहले ही तीन लाख लोगों को वहां से खाली कराया और लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा सकता है।’ बता दें कि तैयारी का जायजा लेने के लिए पटनायक ने बुधवार रात विशेष राहत आयुक्त कार्यालय का दौरा किया। गंजाम, खुर्दा, पुरी, जगतसिंहपुर और केंद्रपाड़ा में लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। मुख्य सचिव ए पी पाधी ने कैबिनेट सचिव पी के सिन्हा को वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से बताया कि राज्य ने स्थिति से निबटने के लिए सभी एहतियाती कदम उठाए।

सीएम ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने को भी कहा कि चक्रवात की वजह से किसी भी व्यक्ति की जान नहीं जाए और लोगों के लिए श्रय स्थलों को तैयार रखने को भी कहा। पटनायक ने राज्य में भारी बारिश के पूर्वानुमान के चलते बृहस्पतिवार और शुक्रवार को सभी स्कूल-कॉलेजों और आंगनवाड़ी केंद्रों को बंद रखने का आदेश दिया है। वहीं, गुरुवार को होने वाले कॉलेज छात्रसंघ चुनाव भी स्थगित कर दिए गए हैं। मुख्य सचिव ने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘हमने अभी तक सेना की मदद नहीं मांगी है। अगर जरूरत पड़ी तो हम मदद मांगेंगे।’

Live Blog

Highlights

    08:59 (IST)11 Oct 2018
    उत्तराखंड में भी हो सकती है तेज बारिश

    उत्तराखंड के चमोली, रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी, पिथौरागढ़ और देहरादून में भारी बारिश और तूफान की संभावना व्यक्त की गई है। इसके साथ ही 3500 फीट से ऊपर के क्षेत्रों में बर्फबारी की संभावना है। मौसम विभाग द्वारा चेतावनी जारी की गई है। 

    08:24 (IST)11 Oct 2018
    08:20 (IST)11 Oct 2018
    फिलहाल सेना नहीं

    वहीं, गुरुवार को होने वाले कॉलेज छात्रसंघ चुनाव भी स्थगित कर दिए गए हैं। मुख्य सचिव ने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘हमने अभी तक सेना की मदद नहीं मांगी है। अगर जरूरत पड़ी तो हम मदद मांगेंगे।’

    08:19 (IST)11 Oct 2018
    दौरे में जुटे पटनायक

    तैयारी का जायजा लेने के लिए पटनायक ने बुधवार रात विशेष राहत आयुक्त कार्यालय का दौरा किया। गंजाम, खुर्दा, पुरी, जगतसिंहपुर और केंद्रपाड़ा में लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। मुख्य सचिव ए पी पाधी ने कैबिनेट सचिव पी के सिन्हा को वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से बताया कि राज्य ने स्थिति से निबटने के लिए सभी एहतियाती कदम उठाए हैं।

    08:18 (IST)11 Oct 2018
    सरकारी मशीनरी झोंकी

    पूरी तरह चौकस ओड़िशा सरकार ने इस आपदा का सामना करने के लिए अपनी पूरी मशीनरी झोंक दी है। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा, ‘इस भयंकर चक्रवात के मद्देनजर हमने पहले ही तीन लाख लोगों को वहां से खाली करा दिया है तथा और लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा सकता है। ’

    08:17 (IST)11 Oct 2018
    तीन लाख लोग निकाले गए

    इससे पहले, बंगाल की खाड़ी के ऊपर बुधवार को चक्रवाती तूफान के बेहद प्रचंड रूप लेने और ओडिशा तट की ओर आगे बढ़ने के बाद ओडिशा सरकार ने पांच तटीय जिलों के निचले क्षेत्रों से तीन लाख से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया।

    08:16 (IST)11 Oct 2018
    चलेंगी तेज हवाएं

    मौसम विभाग ने कहा है कि 140 से 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाएं ओडिशा और आंध्र प्रदेश के तटों पर 165 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ सकती हैं और इनके साथ बारिश होगी। राहत और बचाव कार्य के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं।

    06:32 (IST)11 Oct 2018
    10 बजे के बाद से अगले परामर्श तक ट्रेन सेवा स्थगित

    चक्रवात ‘तितली’ के तट की ओर बढ़ने के मद्देनजर खाद्य सामग्री, ईंधन के भंडारण तथा बिजली आपूर्ति एवं दूरसंचार लाइनों को सुचारू रखने के भी निर्देश दिए। इसके अलावा भारतीय रेलवे ने मौसम पूर्वानुमान के बाद ओडिशा में खुर्दा रोड और विजियानगरम के बीच बुधवार को रात 10 बजे के बाद से अगले परामर्श तक ट्रेन सेवा स्थगित रखने का फैसला किया है।

    06:18 (IST)11 Oct 2018
    11 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से बढ़ रहा 'तितली'

    भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के मुताबिक 'तितली' तूफान ओडिशा के तटीय शहर गोपालपुर से करीब 120 किमी दूर है। यहां के निचलों में रहने वाले लोगों पहले ही राहत शिवरों में पहुंचा दिया गया है। यह तूफान 11 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रहा है।

    05:57 (IST)11 Oct 2018
    इन तटीय क्षेत्रों में हाई अलर्ट

    मौसम विभाग ने कहा कि दीघा, शंकरपुर, मंदरमणि और राज्य के अन्य तटीय क्षेत्रों में पर्यटकों से कहा गया है कि वे इस दौरान गहरे समुद्र में नहीं जाएं। मौसम अधिकारियों ने मछुआरों से कहा है कि वे पश्चिम बंगाल, ओडिशा के अपतटीय क्षेत्रों, बंगाल की उत्तरी और मध्य खाड़ी में 12 अकटूबर तक समुद्र में न जाएं।

    04:47 (IST)11 Oct 2018
    अफवाहें और आतंक से लोगों को रोकने के लिए आग्रह करें

    ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा कि हम तितली तूफान से बचने के लिए सभी कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम 3 लाख जलाशयों की निगरानी कर रहे हैं। आवश्यक सेवाओं और सामानों की आपूर्ति के साथ तैयार हैं। इसके अलावा लोगों से अपील की है कि किसी तरह की अफवाहों से परेशान होने की जरूरत नहीं है।

    03:42 (IST)11 Oct 2018
    केंद्र ने मदद के लिए भेजे NDRF के एक हजार जवान

    केंद्र ने चक्रवात ‘तितली’ के तट की ओर बढ़ने के मद्देनजर स्थिति से निपटने के लिए बुधवार को ओडिशा, आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एन डी आर एफ) के तकरीबन 1,000 कर्मी भेजे।

    02:44 (IST)11 Oct 2018
    सुबह 5.30 बजे तक दक्षिण ओडिशा पहुंच सकता है ‘तितली’ चक्रवात

    गोपालपुर और उसके आस-पास के निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को राहत शिवरों में भेजा गया है। मौसम विभाग का मानना है कि ‘तितली’ चक्रवात सुबह 5.30 तक दक्षिण ओडिशा पहुंच सकता है।

    01:13 (IST)11 Oct 2018
    ओड़िशा में करीब 3 लाख लोग सुरक्षित स्थान पर पहुंचाए गए

    भयंकर चक्रवाती तूफान ‘तितली’ के पहुंचने से पहले ओड़िशा में करीब तीन लाख लोग सुरक्षित स्थान पर पहुंचाये गये : मुख्यमंत्री नवीन पटनायक।

    18:12 (IST)10 Oct 2018
    300 इंजनमुक्त नौकाएं तैयार

    चूंकि चक्रवाती तूफान के दौरान बाढ़ की आशंका भी बनी रही है। ऐसे में उस स्थिति से निपटने के लिए विशेष राहत संगठनों की न्यूनतम 300 इंजनमुक्त नौकाएं कई जिलों में तैयार खड़ी हैं। वहीं, एनडीआरएफ और ओडीआरएएफ के दस्ते भी राहत-बचाव कार्य के लिए मुस्तैद हैं।

    18:12 (IST)10 Oct 2018
    कल सुबह साढ़े पांच बजे ओडिशा पहुंचेगा तितली तूफान

    ओडिशा के मुख्य सचिव ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि तितली तूफान भयंकर रूप ले सकता है। वह गुरुवार सुबह साढ़े पांच बजे दक्षिणी ओडिशा पहुंच जाएगा। ऐसे में उस जगह के आसपास स्थित पांच जिलों के डीएम को जरूरी निर्देश जारी कर दिए गए हैं। राहत-बचाव के पर्याप्त इंतजामात भी कर लिए गए हैं।

    17:15 (IST)10 Oct 2018
    ध्यान रखें ये बातें

    16:38 (IST)10 Oct 2018
    अगले 3 घंटे बताए गए संवेदनशील
    16:11 (IST)10 Oct 2018
    NDRF-ODRAF ने कसी कमर

    ओडिशा के मुख्य सचिव ने एनडीआरएफ की 10 टीमें और ओडीआरएएफ की आठ टीमें विभिन्न तटीय इलाकों और जिलों में तैनात की गई हैं। राज्य के इंजीनियरिंग विभाग से भी इस संबंध में तैयार रहने के लिए कहा गया है।

    16:10 (IST)10 Oct 2018
    रेड अलर्ट पर ओडिशा

    15:59 (IST)10 Oct 2018
    100किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से चलेंगी हवाएं

    जानकारों की मानें तो तितली के गुरुवार तक ओडिशा-आंध्र प्रदेश पहुंचने की आशंका है।  विभाग की मानें तो दक्षिणी ओडिशा तट पर हवा की रफ्तार 100 किमी प्रति घंटे तक पहुंच सकती है।वहीं, उत्तर में हवाओं की रफ्तार 75 किमी प्रति घंटे तक रह सकती है। तितली का केंद्र ओडिशा के गोपालपुर से 530 किमी दक्षिण पूर्व में बताया जा रहा है।

    15:38 (IST)10 Oct 2018
    ऐसे बढ़ रहा तितली तूफान

    15:18 (IST)10 Oct 2018
    CM ने ली बैठक

    ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने बुधवार को तितली तूफान को लेकर एक उच्च-स्तरीय बैठक ली। उन्होंने सभी तटीय जिलों के अधिकारियों को इस बाबत अलर्ट किया है। साथ ही अफसरों को जरूरी इंतजाम करने के निर्देश जारी किए गए हैं। 

    14:59 (IST)10 Oct 2018
    इनके लिए किया गया आश्रयगृह का 'बंदोबस्त'

    विशेष राहत आयुक्त बिष्णुपद सेठी ने स्थानीय मीडिया से कहा कि तूफान से पहले बुजुर्गों, महिलाओं, बच्चों और अक्षम को सुरक्षित जगहों पर बने आश्रय गृहों में पहुंचाने के साथ खास देखभाल की जरूरत है। उन्होंने इसको ध्यान में रखते हुए आश्रयगृहों की तत्काल जांच-पड़ताल की बात कही है।

    14:08 (IST)10 Oct 2018
    NDMA ने जारी की 'डूज और डोंट्स' की लिस्ट

    राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) ने चक्रवाती तूफान के मद्देनजर लोगों को सावधान किया। 'डूज एंड डोंट्स' की सूची में जानें क्या-क्या बताया गया है।

    13:52 (IST)10 Oct 2018
    बंगाल की खाड़ी में बन रहा दबाव

    बंगाल की खाड़ी में दबाव बनने की वजह से बंगाल के उत्तर और दक्षिण 24 परगना, हावड़ा, बर्धमान, पूर्व और पश्चिमी मिदनापुर, नादिया और मुर्शिदाबाद जिले में भी बारिश होने की संभावना है। वहीं, ओडिशा सरकार ने तेज तूफान को लेकर चेतावनी जारी की है। तितली की वजह से ओडिशा के गंजम, खुर्दा और पुरी के तटवर्ती इलाके और आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम जिले के प्रभावित होने की आशंका है। मछुआरों को हिदायत दी गई है कि वह शुक्रवार तक मछली पकड़ने न जाएं।

    13:28 (IST)10 Oct 2018
    ओडिशाः बारिश को लेकर यह आया अलर्ट

    13:20 (IST)10 Oct 2018
    'अगले 3 दिन होगी भारी वर्षा'

    ओडिशा में भुवनेश्वर स्थिथ मौसम विभाग केंद्र की ओर से राज्य में अगले तीन दिनों तक के लिए भारी वर्षा की आशंका जताई गई है। राज्य के कुछ हिस्सों में इसी के साथ हल्की-फुल्की चक्रवाती तूफान की स्थिति भी बन सकती है।

    13:13 (IST)10 Oct 2018
    क्या कहते हैं आंकड़े, जानें

    13:13 (IST)10 Oct 2018
    शुरुआत में 10 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ा था तितली चक्रवात

    मौसम विभाग ने जारी अपने बुलेटिन में बताया, 'तितली शुरुआत में 10 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ा था। आगे बंगाल की खाड़ी में पश्चिमी केंद्र हिस्से में आकर यह कठोर चक्रवाती तूफान बन गया। यह जगह ओडिशा के गोपालपुर से लगभग 370 किमी दूर है।'

    13:08 (IST)10 Oct 2018
    'न हों हैरान-परेशान'

    देश के जाने-माने रेत कलाकार सुदर्शन पटनायक ने कहा है कि तितली चक्रवात को लेकर हैरान होने की जरूरत नहीं है। लोगों को हिम्मत रखनी चाहिए और इसके लिए तैयार और सुरक्षित रहना चाहिए। जरूरत पड़ने पर लोगों को दूसरों की मदद भी करनी चाहिए।

    12:47 (IST)10 Oct 2018
    चक्रवात के दौरान यूं बरतें सावधानी

    Next Stories
    ये पढ़ा क्या?
    X