दिल्ली के गुरुद्वारा बंगला साहिब को बंद करने का आदेश, कोरोना नियमों के पालन नहीं किए जाने पर एक्शन; अफसर पर भड़की सिख मैनेजमेंट कमेटी

आदेशों में कहा है कि एक रिपोर्ट में पाया गया कि गुरुद्वारे के प्रबंधन ने डीडीएमए के निर्देशों का उल्लंघन किया गया है और गुरुद्वारे के अंदर आगंतुकों,अरदास की अनुमति दी।

Covid-19, Corona, Gurudwara
दिल्ली के ऐतिहासिक बंगला साहिब गुरुद्वारे पर प्रतिदिन लाखों लोग मत्था टेकने और लंगर चखने आते हैं।

तीसरी लहर की चेतावनी के बीच मिल रही राहत के बाद अब नियम टूट रहे हैं। ऐसा ही मामला नई दिल्ली से सामने आया है। नई दिल्ली इलाके में स्थित गुुरुद्वारा बंगला साहिब में नियमों का उल्लंघन करने के मामले में क्षेत्रीय एसडीएम गीता ग्रोवर ने गुुरुद्वारे को बंद करने का आदेश दिया है। उधर, दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन समिति के निवर्तमान अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

नई दिल्ली जिला के चाणक्यपुरी उपमंडल मजिस्ट्रेट (एसडीएम) ने 16 सितंबर को यह आदेश जारी किया है। आदेशों में कहा है कि एक रिपोर्ट में पाया गया कि बंगला साहिब गुरुद्वारे के प्रबंधन ने डीडीएमए के निर्देशों का उल्लंघन किया गया है और गुरुद्वारे के अंदर आगंतुकों,अरदास की अनुमति दी। इस उल्लंघन के आधार पर बंगला साहिब गुरुद्वारे को तत्काल प्रभाव से आगंतुकों के लिए बंद करने को कहा गया है।

आदेशों में बताया गया है कि दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने पूर्व में धार्मिक स्थलों को फिर से खोलने का आदेश दिया था, लेकिन कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए आगंतुकों के प्रवेश को अनुमति नहीं दी थी।

रोक का फैसला संक्रमण की चेतावनियों को देखते हुए लिया गया है। शिरोमणि अकाली दल (शिअद) नेता एवं दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति (डीएसजीएमसी) के निवर्तमान प्रमुख मनजिंदर सिंह सिरसा ने चाणक्यपुरी एसडीएम के आदेश पर नाराजगी जताई है।

उन्होंने इस मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से जिले के अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। एक वीडियो संदेश में सिरसा ने कहा कि एसडीएम चाणक्यपुरी द्वारा यह आदेश पारित कर कोरोना उल्लंघन के आरोप में गुरुद्वारा श्रीबंगला साहिब को बंद करने के लिए एक तुच्छ कार्रवाई है। हम दिल्ली सरकार की इस बीमार मानसिकता की निंदा करते हैं।

सिरसा ने कहा कि उस गुरुद्वारे को बंद करने का आदेश जारी किया गया है, जिसने कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर और बंद के दौरान लंगर (मुफ्त भोजन सेवा) का आयोजन तथा मरीजों के लिए बिस्तरों की व्यवस्था की थी।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट