ताज़ा खबर
 

नेता तैयार करेगी योगी सरकार, इंस्टीट्यूट के लिए दिए 300 करोड़, कांग्रेस को डर- सरकारी खर्च से तैयार होंगे आरएसएस कैडर

योगी सरकार ने गाजियाबाद में राजनीतिक प्रशिक्षण संस्थान खोलने का निर्णय लिया है। यहां जन प्रतिनिधियों, उभरते राजनेता और राजनीतिक कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा। वहीं विपक्ष को सरकारी खर्च पर आरएसएस कैडर तैयार करने का डर सता रहा है।

Author October 11, 2018 11:34 AM
योगी सरकार नेता तैयार करने वाला इंस्टीट्यूट खोलेगी। (Photo: PTI)

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार राज्य में पहली बार ‘नेता बनाने वाला’ संस्थान खोलने जा रही है। राज्य कैबिनेट ने संस्थान के निर्माण को इजाजत दे दी है। यहां जन प्रतिनिधियों, उभरते राजनेताओं और राजनीतिक कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस संस्थान का निर्माण 24 एकड़ एरिया में 50 करोड़ की लागत से गाजियाबाद में होगा, जहां प्रशिक्षक राजनीति की नीति, सार्वजनिक आचरण के साथ अन्य पहलुओंं की जानकारी देंगे। हालांकि, यह संस्थान शहरी विकास विभाग के अधीन होगा, लेकिन राज्य सरकार इसे एक अंतरराष्ट्रीय संस्थान के जोड़ने की तैयारी में है ताकि उसके पाठयक्रम को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता मिले। वहीं, विपक्ष को इस बात कर डर सता रहा है कि यहां सरकारी खर्च से राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ के कैडर तैयार होंगे। भाजपा किसी भी तरीके से छात्रों को अपनी पकड़ में करने की कोशिश करेगी।

राज्य के शहरी विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा, “पहले चरण में करीब 198 करोड़ रुपये खर्च होंगे। संस्थान में राजनीति की नीतियों, नियमों, कानूनों सहित अन्य संबंधित पहलुओं पर प्रशिक्षण दिया जाएगा। साथ ही उन समस्याओं की भी जानकारी दी जाएगी जिसका सामना आए दिन राजनेताओं को करना पड़ता है। इस संस्थान की स्थापना गाजियाबाद में करने के पीछे का मकसद है कि यह राष्ट्रीय राजधानी के नजदीक होगा। इससे हमें राजनेताओं और दूसरे देशों के लोगों को यहां आमंत्रित करने में सहूलियत होगी।”

वहीं, एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, उत्तर प्रदेश के कांग्रेस प्रवक्ता द्विजेन्द्र त्रिपाठी ने यह डर जताया है कि एक सरकारी संस्थान में आरएसएस कैडर तैयार किया जाएगा और उन्हें सिखाया जाएगा कि संगठन द्वारा कैसे भी कर के छात्रों को अपनी पकड़ में रखना है। वे कहते हैं, ” तमिलनाडु के श्रीपेरंबुदुर में स्थित राजीव गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ युथ डेवलपमेंट, महाराष्ट्र के थाने स्थित इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ डेमोक्रेटिक लीडरशिप जैसे संस्थानों में पहले से ही राजनीतिक प्रशिक्षण में रूचि रखने वालों के लिए विशेष पाठ्यक्रम चलाया जा रहा है। हमारे विश्वविद्यालय के छात्र संघ राजनीतिक प्रशिक्षण के बेहतर केंद्र हैं, यहां से ट्रेनिंग लेकर युवा भविष्य में राजनेता बनते हैं।”

कांग्रेस नेता ने आगे कहा, “भाजपा सभी तरह का प्रयास कर रही है ताकि किभी भी तरीके से छात्रों को अपनी पकड़ में लाए। हमने हाल ही में संपन्न हुए इलाहाबाद छात्रसंघ चुनाव में इसकी एक बानगी भी देखी। एक पार्टी जो संघ की विभाजनकारी नीति में विश्वास रखती है, गाय के सहारे हिंसा करती है, प्यार करने वालों पर अत्याचार करती है, दलित और अल्पसंख्यक समुदाय का दमन करती है, वह कभी भी राजनेताओं के प्रशिक्षण के लिए एक संस्थान खोलने में ईमानदार नहीं हो सकती।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App