scorecardresearch

वाजपेयी का जिक्र कर राजभर ने केजरीवाल का किया समर्थन, बोले- इतनी महंगाई में कुछ मुफ्त देना गलत तो नहीं

Freebies: राजभर ने कहा कि भाजपा भी मुफ्त राशन दे रही है। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में जनता की इच्छा है कि उन्हें अच्छी व्यवस्था मिले।

वाजपेयी का जिक्र कर राजभर ने केजरीवाल का किया समर्थन, बोले- इतनी महंगाई में कुछ मुफ्त देना गलत तो नहीं
सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर। (फोटो सोर्स: @oprajbhar)।

Freebies: ‘रेवड़ी’ को लेकर एक तरफ, आम आदमी पार्टी और भाजपा के बीच घमासान मचा हुआ है तो दूसरी तरफ, सुभासपा प्रमुख ओमप्रकाश राजभर ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल का समर्थन किया है। ‘रेवड़ी’ को लेकर पूछे गए पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए ओपी राजभर ने कहा कि महंगाई के इस दौर में अगर जनता को कुछ मुफ्त में दे दिया जाता है तो इसमें क्या बुराई है।

सुभासपा प्रमुख से पत्रकारों ने ‘मुफ्त की रेवड़ी’ पर सवाल किया तो उन्होंने अरविंद केजरीवाल की घोषणाओं पर सहमति जताई और कहा कि अगर महंगाई के दौर में जनता को कुछ मुफ्त में दिया जा रहा है तो इसमें गलत क्या है। उन्होंने पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में चलाई गई सरकारी योजनाओं का भी जिक्र किया।

ओपी राजभर ने सवाल करने के अंदाज में कहा कि अगर आपको मुफ्त में बिजली मिले तो क्या आप बिजली नहीं लेंगे। उन्होंने कहा कि आज अगर मुफ्त की बात हो रही है तो स्वर्गीय अटल बिहारी बाजपेयी ने भी कहा था कि मुफ्त देना है तो शिक्षा और इलाज मुफ्त दो। ऐसे में अगर दिल्ली के मुख्यमंत्री मुफ्त शिक्षा, मुफ्त इलाज दे रहे है तो वह क्या बुरा कर रहे है। राजभर ने कहा कि भाजपा भी मुफ्त राशन दे रही है। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में जनता की इच्छा है कि उन्हें अच्छी व्यवस्था मिले।

सुभासपा प्रमुख राजभर ने बढ़ती महंगाई का जिक्र करते हुए कहा कि आज महंगाई इतनी चरम पर हो रही है कि उससे निजात पाने के लिए कोई अभियान नहीं चल रहा है। राजभर ने कहा कि महंगाई से निजात मुफ्त में तो मिलेगी नहीं।

बता दें कि मुफ्त की रेवड़ी के मुद्दे पर बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। इस मामले पर सुनवाई करते हुए सीजेआई एनवी रमना की अगुवाई वाली बेंच ने कहा कि मुफ्त सुविधाएं और चीजें देने की स्कीमों के ऐलान का मामला जटिल होता जा रहा है। बेंच ने कहा कि हम राजनीतिक दलों को मुफ्त में चीजें देने की योजनाओं का ऐलान करने से रोक नहीं सकते।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट