ताज़ा खबर
 

बस अकाली ही फल फूल रहे हैं पंजाब में: राहुल

राहुल गांधी ने गुरुवार को सत्तारूढ़ शिरोमणि अकाली दल पर निशाना साधते हुए कहा कि पंजाब में केवल अकाली ही फल फूल रहे हैं और जोर दिया कि कांग्रेस राज्य में एकजुट है..

Author फरीदकोट | November 6, 2015 1:24 AM
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी (पीटीआई फोटो)

राहुल गांधी ने गुरुवार को सत्तारूढ़ शिरोमणि अकाली दल पर निशाना साधते हुए कहा कि पंजाब में केवल अकाली ही फल फूल रहे हैं और जोर दिया कि कांग्रेस राज्य में एकजुट है। राहुल राज्य में पार्टी में एक दूसरे के धुर विरोधी दो नेताओं के साथ पुलिस की गोलीबारी में मारे गए दो युवकों के परिवारों से मिलने के लिए पहुंचे।

पिछले महीने पवित्र ग्रंथ की बेअदबी की घटनाओं को लेकर प्रदर्शन के दौरान मारे गए युवकों के परिवारों से मिलने के लिए ट्रेन से यहां आए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल ने कहा, ‘अब यहां कोई और नहीं बस अकाली फल फूल रहे हैं। केवल उनका (अकाली खासकर बादल) भविष्य दिखता है। हम चाहते हैं कि भविष्य में पंजाब में हर कोई समृद्ध हो।’ उन्होंने कहा, ‘मैं यहां किसी का भविष्य नहीं देखता। पंजाब संकट में है…यहां पर किसानों को दिक्कत है। नशीले पदार्थों की बड़ी समस्या है।’

विधानसभा चुनाव के मद्देनजर और राज्य इकाई में बढ़ती गुटबंदी को देखते हुए राहुल ने कहा, ‘पंजाब में कांग्रेस राज्य के भविष्य और किसानों, दलितों और श्रमिकों के लिए एकजुट होकर लड़ेगी और (2017 के विधानसभा चुनाव में) मौजूदा सरकार को बदल देगी।’

पार्टी की राज्य इकाई के प्रमुख प्रताप सिंह बाजवा और पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह सहित राज्य के नेताओं की ओर इशारा करते हुए राहुल गांधी ने कहा, ‘कांग्रेस एकजुट ताकत से मौजूदा एसएडी-भाजपा सरकार को बदल देगी। पंजाब में पार्टी के सभी वरिष्ठ नेताओं ने मुझे आश्वासन दिया है कि राज्य के बेहतर भविष्य के लिए वे एकजुट रहेंगे।’

राहुल ने कहा, ‘परिवारों से मिलने के बाद जो जानकारी मुझे मिली वो यह कि वे इंसाफ चाहते हैं।’ उन्होंने साथ ही कहा कि अगर उन्हें इंसाफ नहीं मिलेगा तो कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल उनके मुद्दों पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात करेगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस दोनों सिख परिवारों को इंसाफ सुनिश्चित करने के लिए शिरोमणि अकाली दल-भाजपा गठबंधन पर दबाव बनाएगी।

प्रदर्शन के दौरान मारे गए एक मोटर मैकेनिक गुरजीत सिंह के परिवार के साथ करीब 30 मिनट तक रहे राहुल ने कहा, ‘हर कांग्रेसी बेहबल कलां में गोलीबारी में मारे गए पीड़ितों को इंसाफ सुनिश्चित करने के लिए काम करेगा।’ राहुल ने परिवार के प्रति अपनी संवेदना जताई और घटना के बारे में जानकारी ली। बेहबल कलां में वे उस जगह गए जहां गोलीबारी हुई थी।

बाद में, राहुल आठ किलोमीटर दूर नियामीवाला गांव में गोलीबारी में मारे गए एक युवक कृष्ण सिंह के यहां गए। प्रदर्शन में मारे गए दो युवकों के पिता साधु सिंह और मोहिंदर सिंह ने राहुल को अपने परिवार की हालत और अकाली सरकार की तरफ से उनके साथ की गई कथित ‘नाइंसाफी’ के बारे में अवगत कराया।

पदयात्रा के दौरान राहुल ने ग्रामीणों, बच्चों और महिलाओं सहित अन्य लोगों के साथ बातचीत की। इसके अलावा गोलीबारी की घटना में घायलों से मिलने के लिए उन्होंने बैठक की। कांग्रेस नेता सुनील कुमार जाखड़, विजय इंद्र सिंगला और राजिंदर कौर भट्टल, एआइसीसी महासचिव शकील अहमद, पार्टी सांसद- दीपेंद्र सिंह हुड्डा और रवनीत सिंह बिट्टू भी राहुल के साथ थे। इससे पहले सरावां नियामीवाला गांव जाने के क्रम में राहुल ने गुरुशर गांव में सरकारी प्राथमिक स्कूल के छात्रों से मुलाकात की। राज्य के दो दिवसीय दौरे पर आए राहुल के बठिंडा जिले में किसानों और 1984 के दंगा पीड़ितों के परिवारों से भी मिलने की संभावना है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App