ताज़ा खबर
 

चंदौली के एसपी हुए ऑनलाइन फ्रॉड के शिकार, सेंसर वाले मोबाइल कवर के नाम पर ठगा

उत्तर प्रदेश के चंदौली जिले के एसपी संतोष कुमार ने करीब एक सप्ताह पहले देश की नामी ई-कॉमर्स वेबसाइट से सेंसर वाला मोबाइल कवर बुक किया था। पार्सल में सेंसर कवर के बजाय एक आम कवर था, जिसकी कीमत 100 रुपए भी नहीं थी।

प्रतीकात्मक फोटो ( फोटो सोर्स : फाइनेंसियल एक्सप्रेस )

देश में ऑनलाइन ठगी के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। साइबर अपराधियों के हौसले इतने ज्यादा बुलंद हैं कि वे पुलिस अफसरों को भी निशाना बना रहे हैं। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के चंदौली जिले का है, जहां साइबर ठगों ने पुलिस अधीक्षक को ही ठग लिया।

ऐसे हुई ठगी : उत्तर प्रदेश के चंदौली जिले के एसपी संतोष कुमार ने करीब एक सप्ताह पहले देश की नामी ई-कॉमर्स वेबसाइट से सेंसर वाला मोबाइल कवर बुक किया था। इस मोबाइल कवर की कीमत करीब 1000 रुपए थी। सोमवार को उनका पार्सल डिलीवर किया गया। जब उन्होंने पैसे देकर डिलीवरीमैन से अपना पैकेट लिया तो पुलिस अधिकारी के होश उड़ गए। पार्सल में सेंसर कवर के बजाय एक आम कवर था, जिसकी कीमत 100 रुपए भी नहीं थी। मनचाहा पार्सल नहीं मिलने पर पुलिस अधिकारी नाराज हो गए और उन्होंने डिलीवरीमैन को ही पकड़ लिया। ऐसे में डिलीवरीमैन ने पुलिस अधीक्षक को उनके 1000 रुपए लौटा दिए और भाग खड़ा हुआ।

ऑनलाइन ठगी में महिला भी शिकार : काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के आयुर्वेद संकाय में चिकित्सक की पत्नी भी ऑनलाइन ठगी का शिकार हो चुकी हैं। उन्होंने ऑनलाइन एक मोबाइल खरीदा था, लेकिन जब पार्सल आया तो उसमें जूते निकले। पीड़िता ने मामले की शिकायत लंका थाने में की और डाकघर से पेमेंट रोकने व संबंधित कंपनी पर कार्रवाई करने की मांग भी की। बता दें कि देश में कई ई-कॉमर्स वेबसाइट्स इस तरह की ठगी से निपटने के लिए कोशिश कर रही हैं। उन्होंने ऐसे फ्रॉड की शिकायत करने के लिए 24 घंटे हेल्पलाइन और ईमेल की सुविधा दे रखी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App