ताज़ा खबर
 

Thane: डीजल को पानी समझकर पी गया बच्चा, पहले आंखें हुईं सफेद फिर हो गई मौत, लापरवाही ने मां से छीना बेटा

बताया जा रहा है कि बच्चा खेलते खेलते वहां पहुंचा और बोतल में पड़ा पूरा डीजल को पानी समझ कर पी गया। इसके बाद उसकी आंखे सफेद हो गई और वह उल्टियां करने लगा। उसे पास के अस्पताल में तुरंत भर्ती कराया गया और कुछ समय के बाद बच्चे की मृत्यु हो गई।

प्रतीकात्मक फोटो (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

ठाणे के विट्ठलवाड़ी क्षेत्र में लापरवाही ने एक मां से उसका बेटा छीन लिया। डेढ़ साल के बच्चे ने घर पर रखा डीजल पानी समझकर पी लिया।इसके चलते उसकी मौत हो गई। घटना विट्ठलवाड़ी शहर के देहु गांव की है। पुलिस के अनुसार मृतक बच्चे का नाम वेदांत गौतम गायकवाड़ था और उसके माता-पिता महाराष्ट्र के उस्मानाबाद जिले के रहने वाले हैं। उसके पिता घर के पास में मजदूरी का काम करते हैं। पुलिस ने बच्चे का शव पोस्टमॉर्टम के बाद उसके माता-पिता को सौंप दिया है।

मामले की जांच कर रहे इंस्पेक्टर आदिनाथ मिसाल के अनुसार मासूम घटना के समय घर पर ही खेल रहा था। उसकी मां ने स्टोव में डीजल डालने के लिए बोतल बाहर निकाली थी। डीजल को स्टोव में डालने के बाद वह बोतल बाहर ही रखकर भूल गई। बताया जा रहा है कि बच्चा खेलते-खेलते वहां पहुंचा और बोतल में पड़ा पूरा डीजल पानी समझ कर पी गया। इसके बाद उसकी आंखें सफेद होने लगीं और वह उल्टियां करने लगा। घबराए परिजन उसे तुरंत पास के अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां उसे भर्ती कर इलाज शुरू किया गया लेकिन थोड़े समय बाद ही बच्चे की मौत हो गई।

National Hindi News, 27 May 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की तमाम बड़ी खबरों के लिए क्लिक करें

पोस्टमॉर्टम के बाद पुलिस ने सौंपी लाशः पुलिस के अनुसार डॉक्टरों ने जब बच्चे की मौत की पुष्टि कर दी तो उसके बाद पोस्टमॉर्टम भी हुआ। इसके बाद बच्चे का अंतिम संस्कार करने के लिए शव उसके माता-पिता को सौंप दिया गया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बिहार के भागलपुर से कनेक्‍शन वाले ये चार नेता तीन राज्‍यों से चुने गए सांसद
2 NRC का साइड इफेक्ट! 88 वर्षीय बुजुर्ग ने की खुदकुशी, परिवार का दावा- नागरिकता खोने का था डर
3 PMO के पास पूर्व प्रधानमंत्रियों के आयकर रिफंड का रिकॉर्ड नहीं, जानकारी देने से इनकार