ताज़ा खबर
 

BJP लाई 400 करोड़ का नोट, बापू की जगह केजरीवाल की फोटो, AAP ने कहा-गांधी का न करें अपमान

केजरीवाल सरकार को निशाना बनाने के लिए बीजेपी ने यह अभियान चलाया है।

Author नई दिल्‍ली | July 24, 2016 3:28 PM
बाईं ओर राष्‍ट्रीय प्रतीक की जगह पार्टी के चुनाव चिह्न झाड़ू की फोटो है।

महात्‍मा गांधी की जगह अरविंद केजरीवाल की फोटो। आरबीआई गवर्नर की जगह कपिल मिश्रा का नाम। 1000 रुपए की जगह 400 करोड़। आम आदमी पार्टी पर 400 करोड़ के दिल्‍ली जलबोर्ड घोटाले में शामिल होने का आरोप लगाते हुए अपना संदेश घर-घर पहुंचाने के लिए बीजेपी ने ऐसे 36 हजार हैंडबिल छपवाए हैं। हजार रुपए के नोट से मिलते जुलते इन हैंडबिल्‍स को लोगों को सौंपा जाएगा। बीजेपी के राष्‍ट्रीय सचिव आरपी सिंह ने कहा, ‘जब लोगों को पर्चे दिए जाते हैं तो लोग उन्‍हें देखे बिना ही फेंक देते हैं। यह रवैया लोगों तक पहुंचने की पूरी कवायद को नाकाम कर देता है। हालांकि, हमें लगता है कि लोग इस हैंडबिल को नहीं फेंकेंगे। वे इसे अपने पास सहेज कर रखेंगे।’

दूर से यह हैंडबिल हजार रुपए के नोट जैसा ही दिखता है, लेकिन करीब से देखने पर इसमें बीजेपी की ओर से किए गए बदलाव नजर आते हैं। महात्‍मा गांधी की जगह केजरीवाल की जो फोटो है उसमें वे ट्रेडमार्क कैप में नजर आते हैं। हालांकि, कैप पर ‘मुझे स्‍वराज चाहिए’ की जगह ‘घोटाला पार्टी’ लिखा हुआ है। दाईं ओर कोने पर शेर की तस्‍वीर को लोमड़ी से बदल दिया गया है। बाईं ओर राष्‍ट्रीय प्रतीक की जगह पार्टी के चुनाव चिह्न झाड़ू की फोटो है। बीच में लिखा हुआ है-दिल्‍ली जल बोर्ड के घोटाले द्वारा अर्जित। नोट के किनारे लिखे सीरियल्‍स नंबर की जगह एके 420 लिखा हुआ है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के स्‍थान पर ‘आम आदमी बैंक ऑफ करप्‍शन’ लिखा हुआ है। इसके अलावा, और भी कुछ बदलाव किए गए हैं।

पार्टी इन हैंडबिल्‍स को छापने के अलावा सिग्‍नेचर कैंपेन भी चला रही है। इसमें पार्टी लोगों से अपील कर रही है कि वे इस कथित घोटाले में निष्‍पक्ष जांच और केजरीवाल के इस्‍तीफे की मांग करें। इस बारे में आम आदमी पार्टी के प्रवक्‍ता दीपक वाजपेयी ने कहा, ‘बीजेपी के मन में महात्‍मा गांधी के लिए कोई भी सम्‍मान नहीं है। हम उन्‍हें सुझाव देते हैं कि राष्‍ट्रीय प्रतीकों के साथ खिलवाड़ न करें और हम पर हमला करने के लिए दूसरे रास्‍ते ढूंढें। हमें दुख पहुंचा है क्‍योंकि महात्‍मा गांधी को निशाना बनाया गया है। हम उन्‍हें सुझाव देना चाहते हैं कि राजनीतिक फायदे के लिए महात्‍मा गांधी का अपमान न करें।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App