scorecardresearch

साइकिल पर छड़ी भारी, गठबंधन टूटने की अटकलों के बीच राजभर का अखिलेश पर निशाना, डैमेज कंट्रोल के लिए आजम के घर दिखे महान दल के चीफ

राजभर ने अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि बुढ़ाई में भी छड़ी की जरूरत पड़ती है, बिना उसके नहीं चल सकते। मरने के बाद भी घाट पर लकड़ी की जरूरत होती है और हवन पूजन में भी।

साइकिल पर छड़ी भारी, गठबंधन टूटने की अटकलों के बीच राजभर का अखिलेश पर निशाना, डैमेज कंट्रोल के लिए आजम के घर दिखे महान दल के चीफ
सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर। (फोटो सोर्स: @oprajbhar)

समाजवादी पार्टी और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के गठबंधन टूटने की अटकलों के बीच सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर का बड़ा बयान सामने आया है। राजभर ने सपा गठबंधन पर निशाना साधते हुए कहा कि साइकिल छड़ी पर भारी है। वहीं शनिवार को रामपुर में सपा नेता आजम खान के घर महान दल प्रमुख केशव देव मौर्य नजर आए, जिसके बाद माना जाने लगा कि सपा गठबंधन से नाराज साथियों के साथ बातचीत का दौर फिर से शुरू हो गया है।

जानकारी के मुताबिक ओम प्रकाश राजभर के कमरे में साइकिल और उस पर लगी छड़ी का मॉडल बना हुआ है। जानकारी के मुताबिक, अखिलेश यादव और ओम प्रकाश राजभर के बीच गठबंधन के मौके पर यह मॉडल बनवाया गया था। तब इसका मतलब सपा और सुभासपा गठबंधन था। इन सबके बीच अब सुभासपा प्रमुख ओपी राजभर का कहना है कि गठबंधन अभी जारी है, लेकिन साइकिल पर छड़ी भारी है।

पूर्वांचल में छड़ी ने साइकिल को जीत दिलाई: राजभर
ओपी राजभर ने कहा कि पूर्वांचल में सपा के साथ जाने का नतीजा सभी के सामने है। फैजाबाद से शुरू अंबेडकर नगर, आजमगढ़ समेत कई जगह बीजेपी का खाता नहीं खुला। गाजीपुर, बलिया, मऊ के नतीजे देख लीजिए। राजभर ने यहां तक कह दिया कि पूर्वांचल में बड़ी जीत छड़ी ने साइकिल को दिलाई है। हमने भी उनको वोट दिया, हमने भी उनको वोट दिया, लेकिन हम उनको जितवाने में ज्यादा सफल रहे, लेकिन हमको वोट दिलवाने में जितनी उम्मीद थी उतना मत नहीं मिला। उन्होंने आरोप लगाया कि यह बिल्कुल सही है कि समाजवादी पार्टी अपने ही घर में हारी। उन्होंने कहा कि जहां से सपा प्रमुख चुनाव लड़े, तगड़ी जीत होती थी, वहां देख लीजिए क्या सपा उम्मीदवार को कितने वोट मिले।

मैंने धूम में गांव में चौपाल लगाई: राजभर
राजभर ने अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि बुढ़ाई में भी छड़ी की जरूरत पड़ती है, बिना उसके नहीं चल सकते। मरने के बाद भी घाट पर लकड़ी की जरूरत होती है और हवन पूजन में भी। राजभर ने कहा कि जब हम खाली रहते थे, तब एसी में बैठते हैं, लेकिन जब जनता के बीच निकल लेते हैं तो कड़ी धूप में भी घंटों के हिसाब से रहते हैं। उन्होंने कहा कि आजमगढ़ उपचुनाव के दौरान सभी लोगों ने देखा होगा मुझे कि हमने गांव में चौपाल भी लगाई। गांव में एसी तो नहीं होती है। उस वक्त पारा 45-46 डिग्री रहता था। उन्होंने कहा कि हमारी आदत बन गई कि हम एसी में भी रह लेते हैं और कड़ी धूम में भी।

सपा में मेरी उपेक्षा हुई: केशव देव
आजम से मुलाकात के बाद केशव देव मौर्य ने कहा, गठबंधन में क्या-क्या चीजें घटी। इन विषयों को जानने के लिए आजम खान की दिलचस्पी थी। जो कि उनकी गैर उपस्थित में यह सब कुछ हुआ था। इन सभी मुद्दों को लेकर मैंने उनको विस्तार से बताया कि किस तरह समाजवादी पार्टी में मेरी उपेक्षा हुई, समाजवादी पार्टी ने किस तरह मेरे साथ छोटा व्यवहार किया। उन सभी चीजों को लेकर डिटेल में बात हुई। इन सब बातों को सुनने के बाद आजम खान ने कहा कि अगर कोई हल्की बातें हो भी गईं हैं तो वो नहीं होनी चाहिए थीं। मौर्य ने कहा कि जाहिर सी बात है कि हम राजीनीतिक लोग हैं तो ऐसे में राजनीतिक बातें ही करेंगे। हम लोगों ने राजनीतिक चर्चा की। उन्होंने कहा कि फुर्सत में आजम साहब भी थे और मैं भी था।

आजम खान छोटे दलों के लिए कोई रणनीति बनाते हैं तो अच्छा होगा: केशव देव
सुप्रीम कोर्ट का फैसला उनके पक्ष में आया है तो उन्होंने मुझको मिठाई भी खिलाई। उन्होंने कहा कि आजम खान ने मुझे बहुत प्यार, सम्मान और आशीर्वाद दिया। आशा है कि आजम खान साहब से मुझे बहुत सीखने का मौका मिलेगा। आगे आजम खान कुछ रणनीति बनाते हैं हम छोटे दलों के लिए खासकर महान दल के लिए तो वो अच्छा ही होगा।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट