ताज़ा खबर
 
title-bar

लड़की का आरोप, कैब ड्राइवर बोला- ‘मैं जानता हूं तू कहां रहती है, मैं तुझे छोड़ूंगा नहीं’, जानें पूरा मामला

बेंगलुरु के कोरमंगला में वीकेंड पर छुट्टी मनाने गई 22 साल की अरिजिता बनर्जी के साथ कैब ड्राइवर द्वारा बदतमीजी करने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि आरोपी कैब वाले ने पीड़िता के साथ गाली गलौच की।

कैब प्रतीकात्मक तस्वीर फोटो सोर्स- जनसत्ता

बेंगलुरु के कोरमंगला में वीकेंड पर छुट्टी मनाने गई 22 साल की अरिजिता बनर्जी के लिए उनके पिता ने कैब बुक की थी, तब उन्हें बिलकुल भी अंदाजा नहीं होगा कि यह बुकिंग उनके लिए एक बड़ी मुसीबत बनने जा रही है। इंजीनियर अरिजिता बेंगलुरु में अपनी बहन के घर छुट्टी मनाने गई थी। सोमवार को सुबह 8.55 बजे कोलकाता में रहने वाले उसके पिता ने ओला शेयर कैब बुक की ताकि वो नागावारा में पीजी तक जा सके। यह जगह कोरमंगला से लगभग 20 किमी दूर है।

ड्राइवर ने की असहज बातः यहीं से अरिजिता के लिए मुसीबत की शुरुआत हो गई। कैब बुक होने के बाद, अरिजिता ने ड्राइवर को कॉल किया और उससे पिक-अप लोकेशन पर पहुंचने के बाद अपने नंबर पर कॉल करने के लिए कहा। उसने कथित तौर पर जवाब देते हुए कहा, मैडम आप मेरे नंबर पर कभी भी कॉल कर सकती हैं। अरिजिता ने कहा कि ड्राइवर का ऐसा जवाब उसके लिए असहज करने वाला था लेकिन उसे पहले ही काम के लिए देरी हो रही थी ऐसे में वह दूसरी कैब बुक करने का चांस नहीं ले सकती थी। उसने सोचा कि शेयर कैब में दूसरे लोग भी होंगे ऐसे में यह उसके सुरक्षित होगा और सुबह का समय भी था।

National Hindi News, 25 April 2019 LIVE Updates: जानें दिनभर के अपडेट्स

गलत तरह से चलाने लगा गाड़ीः अरिजिता ने कहा कि उसके कार में बैठने के बाद, कैब ड्राइवर ने 10 किमी प्रति घंटा की गति से कार चलाना शुरू कर दिया। उसने ड्राइवर से स्पीड बढ़ाने के लिए कहा। इस पर ड्राइवर मोहम्मद अजहरुद्दीन ने 40 किमी प्रति घंटा से ज्यादा गति से गलत तरीके से चलाना शुरू कर दिया। इस पर अरिजिता ने गाड़ी ठीक से चलाने के लिए कहा। थोड़ी देर में बाकी लोग उतर गए और ड्राइवर ने उसके साथ बातचीत शुरू कर दी।

कैब ड्राइवर ने की गाली गलौचः गंतव्य तक पहुंचने के बाद कैब ड्राइवर ने 200 रुपए मांगे। इस पर अरिजिता ने कहा कि 70 रुपए पापा ने पहले ही दे दिए है, बाकी वो ओला मनी के जरिये देगी। इसके बाद ड्राइवर ने उसके साथ गाली-गलौज शुरू कर दी। अरिजिता ने बताया, ‘मेरे पापा मेरे साथ कॉल पर थे इसलिए मैंने ड्राइवर से कहा कि उन्हीं से बात कर लो। उसने मेरे हाथ से फोन छीना और मेरे पापा से कहना शुरू कर दिया कि वो मुझे कहीं और ले जाकर छोड़ेगा, यानी मुझे बेच देगा।’

 

फोन देने से किया मनाः अरिजिता ने कहा, ‘मैं डर गई थी। उसने कैब का ऑटो-लॉक फीचर को भी अनलॉक नहीं किया। उसने मेरे पापा से कहना शुरू कर दिया कि तुम्हारी बेटी को काट के फेंक दूंगा उससे कहो कि 130 रुपए दे दे।’ अरिजिता ने आरोप लगाया कि जब उसने अपना फोन वापस मांगा, उसने देने से मना कर दिया। अरिजिता ने आसपास के लोगों से मदद मांगी लेकिन कोई भी उसकी मदद करने के लिए नहीं आया। आखिरकार उसने ड्राइवर को 500 रुपए दिए और अपना फोन वापस लिया। अरिजिता ने कहा, ‘निकलने के पहले मैंने उससे कहा कि मैं सुनिश्चित करूंगी कि वो फिर से ड्राइव न करे। उसने मुझे धमकी देना शुरू कर दिया और कहा, ‘मैं जानता हूं तू कहां रहती है। मैं तुझे छोड़ूंगा नहीं। जब तक मैं गई नहीं वह मेरे पीजी को घूरता रहा। अब मैं यहां से जा रही हूं।’

फाइल की एफआईआरः शाम को अरिजिता ने बनासवाडी में हल्ली पुलिस थाने में एफआईआर फाइल की। आरोपी को गिरफ्तार करके मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया। अरिजिता के पापा सुभेंदु बनर्जी ने ओला के सिक्योरिटी डिपार्टमेंट को इस घटना की जानकारी दी।  ओला  अधिकारी ने कहा कि  वे ड्राइवर को ट्रेनिंग पर भेजेंगे और जब तक वह ट्रेनिंग पास नहीं कर लेता से ड्राइविंग नहीं करने देंगे।  फिलहाल कैब  ड्राइवर को सस्पेंड कर दिया गया है।अरिजिता और उनके पापा का कहना है कि ओला ने इसके बाद उन्हें कॉल नहीं किया। इसी बीच, बेंगलुरु पुलिस ने भी घटना की पुष्टि की। एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘पीड़िता ने 22 अप्रैल (सोमवार) की रात को हमारे पास शिकायत दर्ज कराई थी। पीड़िता ने कहा था कि ओला ड्राइवर ने भुगतान को लेकर हुई बहस के बाद दुर्व्यवहार किया। हमने आरोपी को 23 अप्रैल (मंगलवार) को गिरफ्तार कर उसे जेल भेज दिया था। हमने वाहन भी जब्त कर लिया है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App