ताज़ा खबर
 

Odisha Panchayat Elections: चौथे चरण में भी बीजेपी की स्थिति मजबूत, BJD के गढ़ में की सेंधमारी

ओडिशा में चौथे चरण के पंचायत चुनाव के नतीजे बीजेपी के लिए अच्छी खबर लेकर आएं हैं।

Author February 20, 2017 10:05 AM
Nagpur Election Result 2017: भाजपा की चुनावी रैली में पार्टी के झंडे लहराते उनके समर्थक। (सांकेतिक फोटो)

ओडिशा में पंचायत चुनाव जारी है। चुनाव के तीन चरण पूरे हो चुके हैं जिनमें बीजेपी आगे है और चौथे चरण के नतीजे भी बीजेपी के पक्ष में हैं। भारतीय जनता पार्टी को अच्छी जीत हासिल हुई है। वहीं बीजेडी की मुश्किलें बढ़ रही हैं क्योंकि इन चुनाव में वह अपना गढ़ बचाने में भी नाकाम रही है। वहीं कांग्रेस की स्थिति और भी बदतर हो रही है। जिला परिषद की 161 सीटों के नतीजे में बीजेडी को 85 सीट, बीजेपी को 62 सीट और कांग्रेस को महज 9 ही सीट जीत सकी हैं। चौथे चरण में 76 प्रतिशत मतदान हुआ था। वहीं पहले तीन चरणों के आए नतीजों की बात करें तो बीजेडी को 290, बीजेपी 192, कांग्रेस को 44 और अन्य को 12 सीटों पर जीत हासिल हुई है। गौरतलब है कि बीजेपी की स्थिति पंचायत चुनाव में काफी मजबूत हो रही है। ओडिशा के तटीय जिलों में पार्टी अपनी पकड़ मजबूत बनाती जा रही है। वहीं इससे पहले हुए दो चरणों के चुनाव में भी बीजेपी का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा था। पार्टी ने 364 जिला परिषद की सीटों में से 129 पर जीत हासिल की थी।

हालांकि बीजद अभी भी नंबर एक पर बनी हुई है और उसे 200 सीटें मिली हैं लेकिन पहले की तुलना में उसका आंकड़ा कम हो गया है। बीजेपी के बेहतर प्रदर्शन के चलते सभी कयास लगा कि पार्टी इन चुनाव में 350-400 सीटें तक जीत सकती है। अगर ऐसा होता है तो पंचायत चुनावों में यह उसका अब तक का शानदार प्रदर्शन होगा। वहीं बीजेपी की जीत पर पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, इन इलाकों में किसानों की लगातार नाराजगी बीजेपी के लिए जीत का मुख्य कारण है। वहीं बीजेपी पुरी में बीजद के गढ़ को भेदने में नाकाम रही है। वहीं आखिरी चरण की वोटिंग के लिए भी पार्टी पूरा जोर लगा रही है। प्रचार के लिए कल (21 फरवरी) को आदिवासी मंत्री जुआल ओरम ने खूब जोर लगाया है। वहीं बालासोर जिले की 9 सीटों में से बीजेपी ने 8 जिला परिषद सीटों पर कब्जा कर लिया है। बीजद सांसद रबिंद्र जेना के लिए यह बड़ा झटका साबित हो सकता है। वहीं ऐसा भी माना जा रहा है कि
इस चुनाव के प्रचार से मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की गैरमौजूदगी से बीजेडी को नुकसान उठाना पड़ा है।

देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X