ताज़ा खबर
 

ओडिशा: अस्पताल में मौत के बाद नहीं मिली एंबुलेंस, कंधे पर शव ले जाने को मजबूर हुए परिजन

ओडिशा के कालाहांडी में एक व्यक्ति की मौत के बाद अस्पताल की तरफ से उसके शव को ले जाने के लिए वाहन देने से इनकार कर दिया गया। इसके बाद उसके शव को कांधे पर टांग कर ले जाया गया।

Author नई दिल्ली | July 19, 2019 1:12 PM
अस्पताल प्रशासन ने कहा कि हमारी शव वाहन की सेवा कालाहांडी जिले के लिए नहीं है। (फोटोः एएनआई)

ओडिशा के कालाहांडी में अस्पताल प्रशासन की तरफ से एक अमानवीय व्यवहार का मामला सामने आया है। राज्य के कालाहांडी के गुनुपुर में अस्पताल में इलाज के दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गई। रोगी की मौत के बाद अस्पताल प्रशासन ने मृतक के परिजनों को शव लेजाने के लिए वाहन उपलब्ध कराने से कथित रूप से इनकार कर दिया।

इसके बाद मृतक के परिजन शव को लाठी में कपड़ा बांध कर कंधे पर ही लाद कर ले जाने को मजबूर हुए। इस संबंध में मृतक के परिजनों का कहना है कि अस्पताल प्रशासन ने उनसे कहा कि वह सोमवार को एंबुलेंस सेवा का संचालन नहीं करते हैं। वहीं अस्पताल प्रशासन की तरफ से इस बात से इनकार किया गया है।

तुमुल रामपुर सरकारी अस्पताल के मेडिकल अधिकारी ने कहा कि एक प्राइवेट संस्था इस मरीज को लेकर सुबह 9 बजे अस्पताल पहुंची थी लेकिन रोगी की मौत हो चुकी थी। उन लोगों ने शव ले जाने के लिए वाहन खोजा लेकिन उन्हें वाहन नहीं मिला। मेडिकल अधिकारी ने कहा हमारे पास सिर्फ एक शव वाहन है। यह वाहन जूनागढ़, कालमपुर और तुमुल रामपुर के लिए है।

इससे पहले बिहार के नालंदा जिले में भी ऐसी ही स्वास्थ सेवाओं में लापरवाही की एक घटना सामने आई थी। यहां नालंदा जिला सदर अस्पताल में एंबुलेंस नहीं मिलने पर एक व्यक्ति को अपने बच्चे का शव मोटरसाइकिल पर लाद कर ले जाने को मजबूर होना पड़ा था।

घटना के सामने आते ही संबंधित जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह ने मामले की जांच के आदेश दे दिए थे। सिंह का कहना था कि इस मामले में दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इससे पहले परवलपुर थाना क्षेत्र के सीतापुर गांव का निवासी विरेंद्र यादव अपने 8 साल के बेटे को पेट दर्द की शिकायत के बाद इलाज कराने के लिए अस्पताल पहुंचा था।

बाद में डॉक्टरों ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया। इसके बाद पिता ने शव को लेजाने के लिए कई चक्कर काटे लेकिन उसे अस्पताल प्रशासन की तरफ एंबुलेंस नहीं मुहैया कराया गया। इसके बाद मजबूरन उसे मोटरसाइिकल पर शव लेकर जाना पड़ा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 प्रियंका गांधी को सोनभद्र जाने से रोका, सुरजेवाला बोले- क्या नरसंहार पर पर्दा डाल पाएगी योगी सरकार?
2 Sonbhadra Massacre Updates: प्रियंका गांधी को मिर्जापुर में रोका, राहुल गांधी ने योगी सरकार पर साधा निशाना
3 हनुमान चालीस पाठ में मुस्लिम महिला के शामिल होने पर बवाल, Live डिबेट में बोला पैनलिस्ट- दलाली के लिए मत बुलाया करो