ताज़ा खबर
 

सम-विषम मामले पर पुलिस और आप सरकार में ठनी

सम विषम पर दिल्ली सरकार और दिल्ली पुलिस में आरोप प्रत्यारोप शुरू हो गया है। सोमवार को दिल्ली के परिवहन मंत्री ने पुलिस आयुक्त पर राजनीतिक दलों की तरह बाते करने का आरोप लगाया..

Author नई दिल्ली | December 29, 2015 01:52 am
दिल्ली पुलिस आयुक्त बी एस बस्सी। (पीटीआई फाइल फोटो)

सम विषम पर दिल्ली सरकार और दिल्ली पुलिस की आपस में ठन गई है। सोमवार को दिल्ली के परिवहन मंत्री ने पुलिस आयुक्त को राजनीतिक दल के प्रवक्ता की तरह बातें न करने की सलाह दी है। दूसरी ओर पुलिस आयुक्त ने सम-विषम योजना को जल्दबाजी में लिया गया इस फैसला बताते हुए कहा है कि कानून सबके लिए बराबर है। किसी को भी कानून में हाथ में नहीं लेने दिया जाएगा।

दिल्ली के परिवहन मंत्री गोपाल राय ने शहर के पुलिस आयुक्त बीएस बस्सी की उनके उस बयान के लिए आलोचना की जिसमें उन्होंने कहा था कि सम-विषम योजना को अमल में दौरान कानून अपने हाथ में लेने वाले आम आदमी पार्टी के स्वयंसेवियों के खिलाफ कार्रवाई होगी। राय ने कहा कि बस्सी को राजनीतिक दल के प्रवक्ता की तरह बात नहीं करनी चाहिए। उन्होंने स्पष्ट किया कि दिल्ली सरकार सम-विषम योजना के दौरान आप के स्वयंसेवियों को नहीं, बल्कि नागरिक रक्षा कर्मियों को तैनात करेगी।

मंत्री ने कहा कि पुलिस आयुक्त को दिल्ली के लोगों को ‘गलत सूचना’ नहीं देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं पुलिस आयुक्त से आग्रह करना चाहता हूं कि वह राजनीतिक दल के प्रवक्ता की तरह नहीं बोलें। अगर उनके कुछ मुद्दे और सलाह है तो उचित ढंग से रखना चाहिए ताकि हम सम-विषम योजना के सफलतापूर्वक क्रियान्वयन के लिए आगे गढ़ें।

सम-विषम योजना लागू करने की तैयारियों के बीच दिल्ली के पुलिस आयुक्त बीएस बस्सी ने सोमवार को कहा कि इस नीति को जल्दबाजी में लागू किया जा रहा है और वाहन चालकों पर पाबंदियों का पालन करने का दबाव डालकर कानून हाथ में लेने वाले किसी भी स्वयंसेवी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। योजना के लागू होने से चार दिन पहले बस्सी ने कहा कि पुलिस के लिए इस योजना को अमल में लाना आसान होता, अगर दोपहिया वाहनों समेत विभिन्न श्रेणियों में छूट नहीं दी गई होती। उन्होंने कहा कि जब मूल योजना घोषित की गई थी, तब किसी ने नहीं सोचा था कि कई तरह की छूटें होंगी। कई तरह की छूट हैं जो पूरी तरह अस्पष्ट हैं। मेडिकल संबंधी आपात स्थितियों के लिए योजना में इस बात का कोई उल्लेख नहीं है कि क्या कोई कागज दिखाना होगा या छूट महज पूरी तरह विश्वास पर आधारित होगी। इस तरह तो कई लोग छूट का दुरुपयोग कर सकते हैं।

बस्सी ने पत्रकारों को कहा कि पर्यावरण संरक्षण के हित में बिना किसी छूट के योजना लाई जानी चाहिए थी। दिल्ली पुलिस को सोमवार को सम-विषम नीति के संबंध में अधिसूचना प्राप्त हुई। जिसके बाद आयुक्त ने यातायात विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की और एक कार्ययोजना पर काम शुरू किया। बस्सी ने यह भी कहा कि उन्होंने इस बारे में दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव को सुझावों की एक सूची भेजी है।

इसके पहले आम आदमी पार्टी की ओर से कहा गया था कि आप कार्यकर्ता सम-विषम योजना लागू करने में दिल्ली सरकार की मदद करेंगे लेकिन वे कानून के दायरे में रह कर ऐसा करेंगे। दिल्ली पुलिस प्रमुख के किसी भी रू प में अति ‘सतर्कता’ के खिलाफ चेतावनी देने के एक दिन बाद पार्टी ने सोमवार को यह बात कही। आशुतोष ने कहा कि हां, हमारे कार्यकर्ता वहां होंगे, लेकिन कानून के दायरे के भीतर काम करेंगे। वे हर इलाके में रहेंगे और योजना को लागू करने में मदद करेंगे।

दिल्ली पुलिस आयुक्त बीएस बस्सी ने रविवार को आप कार्यकर्ताओं को किसी भी रूप में ‘सतर्कता’ के खिलाफ चेतावनी दी थी। उन्होंने कहा कि उन्हें ‘सहायता’ करनी चाहिए और जब एक जनवरी से प्रदूषण पर नियंत्रण करने के लिए चलने वाली निजी कारों को सीमित करने के लिए बल सम-विषम योजना को लागू करे तो उनसे ‘जैसा कहा जाए’ वैसा करना चाहिए।

अक्सर बस्सी के साथ टकराव के मूड में रही आप ने कहा कि वह दिल्ली पुलिस प्रमुख के संदेश में कुछ भी गलत नहीं पाती है। आशुतोष ने दिल्ली पुलिस में कर्मचारियों की संख्या कम होने के बारे में भी चर्चा की। आप नेता ने कहा कि विभिन्न समितियों ने दिल्ली पुलिस के कर्मचारियों की संख्या को दोगुना करने की सिफारिश की है क्योंकि तकरीबन 30 फीसद पुलिसकर्मी सुरक्षा ड्यूटी में तैनात हैं। केंद्र को मामले पर गौर करना चाहिए। योजना एक जनवरी से 15 दिन के लिए शुरू की जाएगी। इसका प्रस्ताव निजी वाहनों की आवाजाही को उनकी पंजीकरण संख्या के आधार पर सीमित करके राष्ट्रीय राजधानी में प्रदूषण पर नियंत्रण करने के लिए दिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App