ताज़ा खबर
 

दिल्‍ली में अब 30 अप्रैल तक ODD-EVEN 2, केजरीवाल ने की योजना सफल बनाने की अपील

आज से शुरू हो रही सम-विषम भाग-2 के लिए दिल्ली सरकार ने दावा किया है कि योजना को लागू करने की तैयारी हो चुकी है।

Author नई दिल्ली | April 15, 2016 11:43 AM
(PTI)

आज से शुरू हो रही सम-विषम भाग-2 के लिए दिल्ली सरकार ने दावा किया है कि योजना को लागू करने की तैयारी हो चुकी है। इसके लिए पूरी दिल्ली को 11 जोन में बांटा गया है, प्रत्येक जोन में 10 सेक्टर होंगे और हर सेक्टर की एक टीम होगी। साथ ही 20 लोगों का एक विशिष्ट टास्क फोर्स होगा जो आपात स्थिति में दिल्ली में कहीं भी जाकर कार्रवाई करेगा।

जनता की मांग पर सम-विषम को फिर से लागू की बात कहने वाली सरकार ने गुरुवार को जनता से अपील की कि वे इस दौरान सोशल पुलिसिंग की भूमिका में आएं और योजना को सफल बनाएं। परिवहन मंत्री गोपाल राय ने लोगों से सिविल डिफेंस के कारसेवकों की हर संभव सहयोग और मदद की भी अपील की है।

योजना की तैयारी की जानकारी देते हुए परिवहन मंत्री गोपाल राय ने कहा, ‘जनवरी की अपेक्षा इस बार दो चुनौतियां हैं, एक तो डीटीसी बसों खासकर एसी बसों के ब्रेकडाउन की समस्या और दूसरी कड़ी धूप में कारसेवकों की तैनाती’। गोपाल राय ने कहा कि बसों के मरम्मत के संबंध में नियमों में बदलाव किया गया है, मुख्यालय में एक नियंत्रण कक्ष बनाया गया है, बस खराब होने की स्थिति में वहां संपर्क किया जा सकता है, उन्हें अपने डीपो में संपर्क करने की बाध्यता नहीं है, संपर्क करने की जिम्मेदारी नियंत्रण कक्ष की होगी। वहीं कारसेवकों के मामले में राय ने कहा कि जनता उनका नैतिक समर्थन करे और मनोबल बढ़ाए और हो सके तो गर्मी के कारण होने वाली उनकी जरूरतों की तरफ भी ध्यान दें। इस बार 5331 कारसेवक तैनात किए जा रहे हैं जिन्हें 205 स्थानों और चौराहों पर तैनात किया जा रहा है। इसके अलावा 321 नागरिक सुरक्षा वार्डन तैनात किए जा रहे हैं जिनकी निगरानी में ये कारसेवक काम करेंगे। इनके लिए पानी, छतरी, टोपी, नींबू पानी और एंबुलेंस की व्यवस्था होगी।

HOT DEALS
  • Samsung Galaxy J6 2018 32GB Black
    ₹ 12990 MRP ₹ 14990 -13%
    ₹0 Cashback
  • Sony Xperia L2 32 GB (Gold)
    ₹ 14845 MRP ₹ 20990 -29%
    ₹1485 Cashback

तैयारी का ब्योरा देते हुए गोपाल राय ने बताया कि योजना को लागू करने वाले दलों की तैनाती के लिए 10 मुख्य बिंदु बनाए गए हैं। इनमें शामिल हैं, आईएसबीटी, रेलवे स्टेशन, स्वास्थ्य केंद्र, बड़े बाजार, जिला अदालतें, सीमा प्रवेश बिंदु, शैक्षणिक संस्थानें, बड़े और अहम चौराहे, हवाई अड्डा और प्रशासनिक कार्यालय। परिवहन मंत्री ने बताया कि 400 सदस्यों की पूर्व सैनिकों की इनफोर्समेंट टीम के साथ-साथ 120 टीमें परिवहन विभाग द्वारा बनाई गई हैं, जिनका उपयोग योजना के दौरान मोबाइल टीम के रूप में किया जाएगा। साथ ही प्रवर्तन विंग में 180 कर्मी और उपलब्ध हैं। शुक्रवार से 2000 यातायात पुलिस को सड़कों पर उतारा जा रहा है जो 4-5 की संख्या में 200 अहम चौराहों पर तैनात होंगे। परिवहन विभाग में नियंत्रण कक्ष बनाया गया है जो सभी विभागों जैसे, मेट्रो, पर्यावरण के साथ समन्वय करेगा।

गोपाल राय ने कहा कि डीटीसी की तैयारी पूरी हो चुकी है। पर्यावरण बस सेवा के तहत 600 से अधिक निजी बसों का पंजीकरण किया गया है, जिन्हें विशेष मार्गों पर चलाया जाएगा। आॅड-इवन के समय 16 जगहों से स्पेशल शटल की व्यवस्था की गई है। एनसीआर के लोगों की सुविधा के लिए डीटीसी द्वारा तीन रूटों का संचालन किया जा रहा है। ये हैं नोएडा-दिल्ली, दिल्ली-गुड़गांव और द्वारका-गुड़गांव। डिम्टस द्वारा 1300 से अधिक बसों को चलाई जाने की तैयारी है। दिल्ली मेट्रो इस बार 3248 फेरे लगाएगी जो पिछली बार से 56 ज्यादा है। हर दिन 200 ट्रेनें संचालित होंगी। साथ ही मेट्रो पर तैनात सीआइएसएफ बटालियन की संख्या बढ़ाई गई है और टिकट केंद्रों की संख्या भी बढ़ाई गई है। डीटीसी और मेट्रो संबंधी शिकायतों के लिए हेल्पलाइन भी चलाए जा रहे हैं।

पर्यावरण मॉनिटरिंग के लिए स्थायी टीम के साथ-साथ सीमा क्षेत्र पर भी मॉनिटरिंग होगी। पूरी योजना के दौरान 119 स्थानों पर विशेष रूप से पीएम 2.5 और पीएम 10 प्रदूषण की माप की जाएगी। साथ ही 74 स्थलों पर वायू प्रदूषण की माप की जाएगी जिनमें से 7 सीमा पर होंगे। वायू प्रदूषण की माप बुधवार से शुरू हो चुकी है और यह योजना खत्म होने के दो दिन बाद 2 मई तक जारी रहेगी। इसके साथ ही 20 आवासीय स्थानों और 15 औद्योगिक स्थानों पर वायू प्रदूषण जांच की जाएगी। परिवहन मंत्री ने रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन से पूरे सहयोग और जनता से योजना में भागीदारी करने की अपील की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App