scorecardresearch

जो बात नूपुर ने कही, वही बात 50 से ज्यादा मौलाना कह चुके हैं- जाकिर नाइक का नाम ले पैनलिस्ट ने किया दावा, काजमी ने ओवैसी को घेरा

अश्वनी उपाध्याय ने कहा कि बाटला हाउस एनकाउंटर हुआ था, उस वक्त मैं भी कोर्ट में था, जब ये सारी दलीलें चल रही थीं। कोर्ट का फैसला आने के बाद कांग्रेस के नेता दिग्विजय सिंह ने कहा था कि ये फैसला गलत है।

जो बात नूपुर ने कही, वही बात 50 से ज्यादा मौलाना कह चुके हैं- जाकिर नाइक का नाम ले पैनलिस्ट ने किया दावा, काजमी ने ओवैसी को घेरा
नूपुर शर्मा (फोटो- फाइल)

सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील अश्वनी उपाध्याय ने एक निजी टीवी डिबेट के दौरान कहा कि जो बात नूपुर शर्मा ने कही। वो बात 50 से अधिक मौलाना कह चुके हैं। इस तरह की बात जाकिर नाइक तो 20 बार कह चुका है। उन्होंने कांग्रेस प्रवक्ता से सवाल किया कि आज तक कांग्रेस ने जाकिर नाइक के बयान की निंदा क्यों नहीं की, जो नूपुर शर्मा के पीछे पड़ी है। देबवंद, बरेली और जयपुर के मौलानाओं ने विवादित बयान दिए हैं, आज तक कांग्रेस ने इनके बयानों की निंदा क्यों नहीं की। वहीं सुहैब काजमी ने ओवैसी पर निशाना साधा।

अश्वनी उपाध्याय ने कहा कि बाटला हाउस एनकाउंटर हुआ था, उस वक्त मैं भी कोर्ट में था जब ये सारी दलीलें चल रही थीं। कोर्ट का फैसला आने के बाद कांग्रेस के नेता दिग्विजय सिंह ने कहा था कि ये फैसला गलत है। उन्होंने कहा कि फैसला नहीं आया और जांच चल रही थी उसके पहले ही सोनिया गांधी फूट-फूटकर रात भर रोईं थी। उन्होंने कहा कि जब फैसला नहीं आया था और जांच चल रही थी उसके पहले ही कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद दुखी हो गए थे।

सुप्रीम कोर्ट के वकील ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि मुंबई हमले की जांच पूरी नहीं हुई थी। उसके पहले ही कांग्रेस को पता चल गया था कि कसाब पाकिस्तान का नहीं है, बल्कि हिंदुस्तान का रहने वाला है और आरएसएस का है। ये सब बातें कांग्रेस को पहले ही पता चल जाती हैं, इनका अपना नेटवर्क है, बड़े लोग हैं। कांग्रेस देश की सबसे पुरानी पार्टी है।

उपाध्याय ने कहा कि राजस्थान में एक आदमी पकड़ा भी गया तो उसे 24 घंटे में बेल मिल गई, ऐसी कौन सी धारा लगा दी थी। ऐसा लगता है कि सिर तन से जुदा नहीं, बल्कि उसके सिर की मालिश करने के लिए बुलाया हो। उन्होंने कहा कि पुलिस के सामने उस जिहादी ने धमकी दी और उस पर ऐसी धारा लगाई, कोर्ट में ऐसी दलीलें पेश की गईं कि 24 घंटे के अंदर बाहर आ गया।

जमात उलेमा ए हिंद के अध्यक्ष सुहैब काजमी ने कहा कि 26 तारीख को नूपुर शर्मा ने बयान दिया, लेकिन उसके बाद किसी मुस्लिम तंजीम ने इसको शांत करने की कोशिश नहीं की, बल्कि सड़कों पर उतर कर विरोध किया। सिर तन से जुदा जैसे नारे लगते रहे और ओवैसी सिर पर कफन बांध के घूमते रहे। उन्होंने कहा कि कानपुर के इमाम बार-बार ये कह रहे थे कि हम ईंट से ईंट बजा देंगे। इन्हीं सब वजहों से ये वहशी दरिंदे पैदा हुए।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट