ताज़ा खबर
 

राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष बोले- मंदिर न बनवाना मोदी के लिए घातक होगा

नरेंद्र मोदी ने अपने कार्यकाल में शीघ्र ही राम मंदिर का निर्माण नहीं कराया तो यह भाजपा और मोदी के लिए घातक होगा...

Author आलीगढ़ | September 24, 2018 11:55 AM
अयोध्या राम जन्मभूमि

अयोध्या राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने राम मंदिर के निर्माण को लेकर रविार को बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने कार्यकाल में शीघ्र ही राम मंदिर का निर्माण नहीं कराया तो यह भाजपा और मोदी के लिए घातक होगा, आने वाले चुनाव में जनता उन्हें नकार देगी। अलीगढ़ में मी़डिया से रूबरू दास ने कहा, “मोदी के सामने राष्ट्र के साथ-साथ और भी समस्याएं हैं। मोदी अपना और पार्टी का कल्याण चाहते हैं तो जल्द से जल्द राम मंदिर का निर्माण कार्य प्रारंभ कर दें तो उनका भी भला है और पार्टी का भी भला है। रामजी के राज में देर है अंधेर नहीं। महंत ने आगे कहा, “हम मोदी-योगी की सरकार से कहते हैं, आपको शासन के लिए ही नहीं, मंदिर निर्माण के लिए भी भेजा गया है। मंदिर निर्माण करते हैं तो उनका भी भला है पार्टी का भी भला है, यदि मंदिर निर्माण नहीं करते तो उनका भी बंटाधार और पार्टी का भी बंटाधार होगा।

गौरतलब है कि इससे पहल राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत ने कहा था कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण शीघ्र होना चाहिए जिससे हिंदू और मुस्लिम के बीच मतभेद का प्रमुख कारण दूर होगा। आरएसएस की संगोष्ठी ‘भविष्य का भारत’ के तीसरे व अंतिम दिन सवालों का जवाब देते हुए मोहन भागवत ने कहा, “मैं चाहता हूं कि एक भव्य राम मंदिर का निमार्ण शीघ्र हो। जिस किसी भी तरीके व साधनों से हो इसका निर्माण शीघ्र होना चाहिए। इस पर कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए। अगर यह कार्य सर्वसम्मति से होगा तो हिंदू और मुस्लिम के बीच विवाद सदा के लिए खत्म हो जाएगा। अगर यह भाईचारे के साथ होगा तो मुस्लिमों पर जो बार-बार अंगुलियां उठाई जाती हैं वो नहीं उठेंगी।”

भागवत ने कहा, “संघ के सरसंघचालक के तौर पर मैं कहता हूं कि राम मंदिर का निर्माण शीघ्र होना चाहिए। राम अधिकांश भारतीयों का भागवान है लेकिन बहुत सारे अन्य लोग हैं जो उनको भगवान नहीं मानते हैं.. बल्कि उनको भारतीय मूल्य का जनक मानते हैं उनको इमाम-ए-हिंद मानते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App