ताज़ा खबर
 

ISIS से अपने बच्चों को बचाएंगे मुसलिम, मसजिदों, मदरसों में शुरू होगी IS के खिलाफ मुहिम

हाल ही में देश के कई शहरों में आइएस से कथित तौर पर जुड़े संदिग्धों की गिरफ्तारी के बाद इस प्रतिनिधि संस्था ने आगे आना तय किया है।

Author नई दिल्ली | February 1, 2016 12:56 AM
ISIS की ओर आकर्षित हो रहे मुसलिम नौजवानों को भ्रमित होने से बचाने के लिए बचाएगें मुस्लिम

इसलामिक स्टेट (आइएस) की ओर आकर्षित हो रहे मुसलिम नौजवानों को भ्रमित होने से बचाने के लिए अब मुसलिम संगठनों की प्रतिनिधि संस्था ने पहलकदमी करना तय किया है। आॅल इंडिया मुसलिम मजलिए-ए-मुशाविरत ने जल्द ही इस आतंकी समूह के दुष्प्रचार से मुस्लिम समाज को आगाह करने के लिए मसजिदों, मदरसों तथा दूसरे शिक्षण संस्थानों के स्तर पर आइएस के खिलाफ मुहिम शुरू करने का फैसला किया है।

हाल ही में देश के कई शहरों में आइएस से कथित तौर पर जुड़े संदिग्धों की गिरफ्तारी के बाद इस प्रतिनिधि संस्था ने आगे आना तय किया है। इस मुसलिम समूह ने सरकार से यह मांग भी की है कि सोशल मीडिया और इंटरनेट के उन सभी मंचों पर रोक लगाई जाए जिनके माध्यम से आइएस अपना दुष्प्रचार फैला रहा है।

मुशाविरत के अध्यक्ष नावेद हामिद ने कहा, ‘दाऐश (आइएस) के खतरे और उसके दुष्प्रचार को लेकर पूरे समाज और खासकर नौजवानों को आगाह करने की जरूरत है। इसके लिए हम अभियान शुरू करेंगे। हम जल्द ही मुस्लिम संगठनों तथा दूसरे सभी संबंधित पक्षों की बैठक बुलाएंगे जिसमें आइएस के दुष्प्रचार के खिलाफ मुहिम का पूरा खाका तैयार किया जाएगा।’

HOT DEALS
  • Moto Z2 Play 64 GB Fine Gold
    ₹ 15869 MRP ₹ 29999 -47%
    ₹2300 Cashback
  • Sony Xperia L2 32 GB (Gold)
    ₹ 14845 MRP ₹ 20990 -29%
    ₹1485 Cashback

उन्होंने कहा, ‘भारत का मुस्लिम समाज हमेशा से आतंकवाद के खिलाफ रहा है। कुछ नौजवानों का आइएस की ओर झुकाव हुआ तो उनके मां-बाप ने सुरक्षा एजंसियों को इसकी जानकारी दी और फिर उन नौजवानों की काउंसलिंग की गई। बाकी पेज 8 पर उङ्मल्ल३्र४ी ३ङ्म स्रँी ८
आतंकवाद को लेकर परिवार और समाज के स्तर से दुनिया में शायद ही ऐसी कोई पहल हुई हो।’

हामिद ने कहा, ‘करोड़ों की आबादी में अगर कुछ लोगों का रुझान हुआ है और दो-चार लोगों की गिरफ्तारियां हुई हैं तो यह आंकड़ा ना के बराबर है। परंतु हमारी यह कोशिश होनी चाहिए कि एक भी व्यक्ति आइएस जैसे संगठनों की जद में ना आए।’हामिद ने कहा कि मदरसों, मस्जिदों, इमामों, धर्मगुरुओं तथा शिक्षण संस्थानों के माध्यम से आइएस के खिलाफ जागरूकता फैलाई जा सकती है,‘हाल ही में बंगलुरु में एक मसजिद से आइएस के दुष्प्रचार के खिलाफ लोगों को आगाह रहने का ऐलान किया गया। कई मौलानाओं ने आइएस के खिलाफ अपील जारी की है। इसी तरह से राष्ट्रीय स्तर पर मदरसों, मस्जिदों तथा दूसरे शिक्षण संस्थानों के स्तर पर नौजवानों में इस संगठन के खतरे को लेकर जागरूकता बढ़ाई जा सकती है।’

गौरतलब है कि एनआइए ने हाल ही में देश के कुछ शहरों से कई लोगों को गिरफ्तार किया जिन पर आइएस से जुड़े होने और भारत में हमले की साजिश रचने का आरोप है। मुशाविरत के अध्यक्ष हामिद का यह भी कहना है कि सामजिक स्तर के साथ ही सरकार के स्तर पर भी आइएस की समस्या से निपटने के लिए ठोस प्रयास करना होगा।

उन्होंने कहा, ‘‘आइएस का दुष्प्रचार सोशल मीडिया और इंटरनेट के जरिए चल रहा है। अगर सरकार को यह लगे कि कोई वेबसाइट या कोई दूसरा मंच भारत के नौजवानों को गुमराह कर रहा है तो उस पर तत्काल पाबंदी लगाई जाए।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App