scorecardresearch

Notice to Yogi Minister: योगी सरकार में मंत्री संजय निषाद के घर पर चस्‍पा हुआ नोटिस, पढ़ें पूरा मामला

Sanjay Nishad: सहजनवां के थानेदार श्यामलाल यादव ने इस मामले में FIR दर्ज कराई थी। इस मामले में संजय निषाद सहित 36 आंदोलनकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था।

Notice to Yogi Minister: योगी सरकार में मंत्री संजय निषाद के घर पर चस्‍पा हुआ नोटिस, पढ़ें पूरा मामला
UP News: योगी के कैबिनेट मंत्री संजय निषाद को एमपी-एमएलए कोर्ट का समन (Photo- Express Archives)

MP MLA Court Summon to Yogi Cabinet Minister: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में मंत्री संजय निषाद के घर पर एमपी-एमएलए कोर्ट का समन चस्पा कर दिया गया है। संजय निषाद निषाद पार्टी के अध्यक्ष हैं और यूपी की योगी सरकार में कैबिनेट के मंत्री भी हैं। इसके पहले संजय निषाद को गोरखपुर सीएजेएम कोर्ट से गैर जमानती वारंट जारी किया गया था। इस समन के मुताबिक शाहपुर पुलिस से संजय निषाद को 10 अगस्त को कोर्ट में पेश करने के लिए कहा गया था। अब इस मामले में एमपी-एमएलए कोर्ट से समन जारी हुआ है।

दरअसल ये साल 2015 का मामला था जब गोरखपुर के सहजनवा में कसरवल नामक जगह पर एक धरना प्रदर्शन हुआ था। ये धरना प्रदर्शन सरकारी नौकरियों में निषादों के लिए 5 प्रतिशत आरक्षण को लेकर किया गया था। धरने के दौरान काफी बवाल हुआ और एक व्यक्ति की जान भी चली गई थी। जिसके बाद इसको लेकर मामला दर्ज किया गया। अब इस केस में एमपी-एमएलए कोर्ट नंबर-2 ने यूपी सरकार के मंत्री डॉक्टर संजय निषाद को समन भेजा है।

जानिए ये क्या है पूरा मामला

साल 2015 में अखिलेश यादव की तत्कालीन सरकार को खिलाफ निषाद समुदाय के लोग धरने पर बैठे थे उनकी मांग थी कि उन्हें नौकरियों में 5 फीसदी का आरक्षण दिया जाए। पूरे मामले में राज्य के कई जिलों से निषाद हजारों की संख्या में धरना स्थल पर जा पहुंचे। इस दौरान आंदोलनकारी निषादों ने रेलवे ट्रैक को बाधित करने के उद्देश्य से ट्रेन की पटरी को क्षतिग्रस्त कर दिया। और रेलवे ट्रैक पर आंदोलनकारी चारपाई लगाकर बैठ गए थे जिसके बाद पुलिस की कड़ी मशक्क्त के बाद इन्हें हटाया गया था।

Sanjay Nishad सहित 36 लोगों पर मुकदमा दर्ज

इस प्रदर्शन के दौरान निषादों ने कई गाड़ियों में आग लगा दी थी। जलाए गये वाहनों में पुलिस की गाड़ियां भी शामिल थीं। इस दौरान पुलिस को आंदोलनकारियों को काबू में करने के लिए कई राउंड गोलियां चलानी पड़ी थी, जिसमें इटावा के रहने वाले अखिलेश निषाद की मौत हो गई थी। जबकि कई लोग इस दौरान घायल भी हुए थे। इस मामले को लेकर सहजनवां के थानेदार श्यामलाल यादव ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कराई थी। इस मामले में डॉक्टर संजय निषाद सहित 36 आंदोलनकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। संजय निषाद योगी सरकार में मत्स्य पालन मंत्री हैं।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट