ताज़ा खबर
 

नोएडाः खुदकुशी करने वाली छात्रा ने नोटबुक में लिखा था अपना दर्द, पुलिस ने की जब्त

छात्रा के पिता ने पुलिस को बताया उनकी बेटी ने उनसे कहा था कि विज्ञान और सामाजिक विज्ञान पढ़ाने वाले 2 अध्यापक उसका शारीरिक शोषण करते हैं और वे उसे वार्षिक परीक्षा में फेल कर देंगे।
नोएडा की स्कूली छात्रा द्वारा खुदकुशी के मामले में पुलिस ने छात्रा की एक नोटबुक उसके घर से जब्त की है। इस नोटबुक में छात्रा ने अपनी मनोस्थिति के बारे में लिखा था। (image source-ANI)

नोएडा की स्कूली छात्रा के खुदकुशी मामले में पुलिस ने छात्रा की एक नोटबुक उसके घर से जब्त की है। इस नोटबुक में छात्रा ने अपनी मनोस्थिति के बारे में लिखा था, जिससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि मौत से पहले छात्रा तनाव में थी। बता दें कि दिल्ली के एक स्कूल में पढ़ने वाली 15 वर्षीय छात्रा ने मंगलवार की शाम नोएडा स्थित अपने घर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। मृतक छात्रा के माता-पिता ने स्कूल के 2 अध्यापकों पर छात्रा का शारीरिक शोषण करने का आरोप लगाया है और कहा है कि अध्यापकों ने छात्रा को जानबूझकर वार्षिक परीक्षा में फेल किया। दरअसल, पुलिस द्वारा जब्त की गई नोटबुक के एक पेज पर छात्रा ने लिखा है कि ‘आई एम फेलियर’ (मैं विफल हूं)। इसके साथ ही छात्रा ने ये भी लिखा है कि ‘आई एम डम्ब’ (मैं नाकारा हूं) और ‘आई हेट माइसेल्फ’ (मैं अपने आप से नफरत करती हूं)। नोटबुक के इस पेज पर छात्रा ने कई हस्ताक्षर भी किए हुए हैं। परिजनों ने भी इस बात की पुष्टि की है कि नोटबुक में लिखी गई लिखावट मृतक छात्रा की ही है।

छात्रा के पिता ने पुलिस को बताया उनकी बेटी ने उनसे कहा था कि विज्ञान और सामाजिक विज्ञान पढ़ाने वाले 2 अध्यापक उसका शारीरिक शोषण करते हैं और वे उसे वार्षिक परीक्षा में फेल कर देंगे। छात्रा ने अपने पिता को बताया था कि दोनों आरोपी टीचर उसे गलत तरीके से छूते हैं और वह परीक्षा में कितना भी अच्छा क्यों ना लिख ले, वे उसे फेल ही करेंगे। फिलहाल, छात्रा के परिजनों की शिकायत पर आरोपी अध्यापकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है। पुलिस ने चाइल्ड सेक्शुअल अब्यूज लॉ और आत्महत्या के लिए उकसाने की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। हालांकि, स्कूल के प्रधानाचार्य द्वारा शारीरिक शोषण के आरोपों से इनकार किया गया है।

प्रधानाचार्य ने कहा कि यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। स्कूल द्वारा सीबीएसई की पदोन्नति संबंधी शर्तों का पालन किया जा रहा है। मैं ये साफ कर देना चाहता हूं कि उसे (छात्रा) फेल नहीं किया गया था, बल्कि उसका दोबारा टेस्ट लिया जाना था। छात्रा का दोबारा टेस्ट 23 मार्च को होना था। स्कूल के प्रधानाचार्य ने कहा कि स्कूल मामले की जांच में पूरा सहयोग करेगा। बता दें कि मंगलवार को छात्रा के परिजन घर से बाहर गए हुए थे और छात्रा घर पर अकेली थी। जब परिजन शाम 6 बजे के करीब घर वापस लौटे तो उन्होंने देखा कि छात्रा ने अपने आप को कमरे में बंद किया हुआ है, जब दरवाजा तोड़ा गया तो पता चला कि छात्रा ने फांसी लगा ली है। इसके बाद छात्रा के परिजन उसे लेकर अस्पताल पहुंचे, लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिवार का कहना है कि छात्रा कत्थक की अच्छी डांसर थी और क्लासिकल डांस की ट्रेनिंग ले रही थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App