ताज़ा खबर
 

नमाज पर विवाद: कांग्रेस नेता ने डीजीपी को लिखी चिट्ठी- सार्वजनिक जगहों पर रोकी जाएं संघ की शाखाएं

बीजेपी प्रवक्ता हरीश श्रीवास्तव ने कहा, 'आरएसएस की शाखाओं में शारीरिक व्यायाम से जुड़ी गतिविधियों के साथ नैतिक शिक्षा दी जाती है। इसमें कोई धर्म वाला एंगल नहीं है।

Author December 28, 2018 9:56 AM
कांग्रेस नेता ने आरएसएस शाखाओं के आयोजन पर उठाए सवाल। (file/representational image)

नोएडा पुलिस द्वारा हाल ही में सेक्टर 58 स्थित कंपनियों को यह निर्देश दिया गया था कि वे अपने कर्मचारियों को स्थानीय पार्क में नमाज पढ़ने से रोकें। अब एक कांग्रेस नेता ने डीजीपी ओपी सिंह ने चिट्ठी लिखकर दरख्वास्त की है कि सार्वजनिक जगहों पर ‘बिना इजाजत’ लगने वाली संघ की शाखाओं पर पूरे राज्य में रोक लगाई जाए। कांग्रेस के विचार विभाग के नेता संपूर्णानंद ने अपनी चिट्ठी में कहा है कि वह जिले-जिले जाकर बीजेपी सरकार को ‘एक्सपोज’ करेंगे। कांग्रेस नेता ने कहा, ‘नोएडा में जो हुआ, वो बेहद गंभीर है। कांग्रेस राज्य ईकाई के अध्यक्ष राज बब्बर से सलाह करने के बाद मैंने यह चिट्ठी डीजीपी को लिखी है।’

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘मैंने उन्हें (डीजीपी को) सूचित किया है कि यूपी पुलिस ने कंपनियों को निर्देश दिया है कि वे अपने कर्मचारियों को पब्लिक पार्क के बाहर या अंदर नमाज पढ़ने से रोकें। इसके लिए 2009 के सुप्रीम कोर्ट के फैसले का हवाला दिया है…सरकारी और गैर सरकारी संस्थाओं के अलावा पब्लिक पार्कों में संघ की शाखाएं बिना इजाजत आयोजित की जाती हैं, जहां से समाज को तोड़ने के संदेश फैलाए जाते हैं। ऐसे में, किसी धर्म विशेष से जुड़े आदेश देने के बजाए उन्हें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि सार्वजनिक जगहों पर या संस्थानों में कोई धार्मिक या राजनीतिक गतिविधि बिना इजाजत न हो।’ अपनी चिट्ठी में संपूर्णानंद ने डीजीपी से दरख्वास्त की है कि इस संदर्भ में सभी सरकारी और गैर सरकारी संस्थानों को दोबारा से चिट्ठी लिखी जाए। उन्होंने कहा, ‘इस तरह की गतिविधियों में तुरंत विराम लगाया जाए जिससे प्रदेश आने वाले समय में किसी सामाजिक विद्वेष की दुर्घटनाओं से बच सके।’

कांग्रेस नेता ने कहा कि पूरे राज्य में पार्टी की ईकाइयां सामाजिक सौहार्द का संदेश लेकर जाएंगी और सबको साथ लेकर चलने के बीजेपी के दावे का कच्चा चिट्ठा खोलेगी। नेता के मुताबिक, विचार विभाग इसे एक अभियान के तौर पर शुरू करेगा। हालांकि, कांग्रेस नेता की इस चिट्ठी पर बीजेपी प्रवक्ता हरीश श्रीवास्तव ने कहा, ‘आरएसएस की शाखाओं में शारीरिक व्यायाम से जुड़ी गतिविधियों के साथ नैतिक शिक्षा दी जाती है। इसमें कोई धर्म वाला एंगल नहीं है। वे लोग वोटों के लिए उन चीजों पर टिप्पणी कर रहे हैं, जिनकी कभी तारीफ नेहरू और लोहिया भी कर चुके हैं। उनके बयानों पर ध्यान नहीं देना चाहिए।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App