ताज़ा खबर
 

Noida: ऑनलाइन लाइक दिलाने के नाम पर ठगे 500 करोड़, दिल्ली समेत कई राज्यों के लोगों को ऐसे लगाया चूना

बताया जा रहा है कि आरोपियों ने अब तक ऑनलाइन लाइक्स दिलाने के नाम पर देशभर के हजारों लोगों से करीब 500 करोड़ रुपए ठगे हैं।

Author नोएडा | July 17, 2019 11:42 AM
प्रतीकात्मक फोटो फोटो सोर्स- जनसत्ता

देश की राजधानी दिल्ली से सटे नोएडा सेक्टर-58 थाने में ऑनलाइन लाइक दिलाने के नाम ठगी के एक मामले की शिकायत दर्ज कराई गई है। शिकायतकर्ता ने पुलिस को बताया कि सोशल कॉज नाम की कंपनी कथित तौर पर विज्ञापन का काम करती है, जो 56 हजार रुपए लेकर आवेदक को आईडी मुहैया कराकर प्रतिदिन 70 लिंक भेजने की बात कहती थी। प्रत्येक लिंक पर सात रुपए देने का वादा किया जाता था। इसी झांसे में शिकायतकर्ता ने कंपनी में 28 लाख 50 हजार लगा दिए। लेकिन कुछ ही समय बाद कंपनी पैसे लेकर फरार हो गई। बताया जा रहा है कि आरोपियों ने अब तक ऑनलाइन लाइक्स दिलाने के नाम पर देशभर के हजारों लोगों से करीब 500 करोड़ रुपए ठगे हैं।

National Hindi News, 17 July 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

क्या है मामला: द्वारका सेक्टर-18 के निवासी अनिल कुमार बैंक ऑफ अमेरिका में बतौर सॉफ्टवेयर इंजीनियर कार्यरत हैं। उन्होंने सेक्टर-58 पुलिस थाने में दी गई शिकायत में बताया कि दिसंबर 2016 में उनके पास मनोज गुप्ता और शिवदत्त शर्मा नाम के व्यक्तियों की कॉल आई थी। उन दोनों ने बताया कि सेक्टर-62 में उनकी सोशल कॉज नाम से एक कंपनी है। जिसके बाद फोन करने वाले वाले लोगों ने अनिल को कंपनी के निदेशक दीपक राजपूत, निर्मित और अजय गुप्ता से मिलवाया। मुलाकात के दौरान उन लोगों ने बताया कि कंपनी 56 हजार रुपए लेकर आवेदक को आईडी (ID) देती है जिसपर प्रतिदिन 70 लिंक भेजे जाते हैं और एक क्लिक पर 7 रुपए दिए जाते हैं। इसके झांसे में आने के बाद अनिल ने कंपनी में 28 लाख से भी अधिक रुपए लगा दिए। बताया जा रहा है कि कुछ दिनों तक तो कंपनी ने कुछ पैसे अनिल को दिए लेकिन मार्च 2017 में एक दिन सभी आरोपी ऑफिस छोड़कर फरार हो गए।

पुलिस ने शुरू की जांच: मामले की शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने कंपनी के निदेशक और उसके साथियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। एसपी सिटी विनीत जायसवाल ने बताया कि सबूत जुटाए जा रहे हैं, जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी होगी। गौरतलब है कि ऑनलाइन लाइक्स दिलाने के नाम पर पहले ठगी के कई मामले सामने आते रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App