ताज़ा खबर
 

गौरी लंकेश हत्या मामले में बोलीं बीजेपी सांसद- इस मर्डर में किसी हिंदू का हाथ नहीं

पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या में भले ही विशेष जांच टीम ने हिंदू युवा सेना से नाता रखने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। बावजूद इसके भाजपा की सांसद शोभा करंदलाजे ने दावा किया है कि गौरी लंकेश की हत्या में किसी हिंदू का हाथ नहीं है।

Author नई दिल्ली | March 4, 2018 6:10 PM
वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश। Photo Source-Twitter

पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या में गिरफ्तार आरोपी को भले ही एसआईटी हिंदू युवा सेना से जुड़ा बता रही है, बावजूद इसके भाजपा की सांसद शोभा करंदलाजे ने दावा किया है कि गौरी लंकेश की हत्या में किसी हिंदू का हाथ नहीं है। गिरफ्तारी के पीछे बीजेपी सांसद ने राजनीतिक वजह बताई है। कहा है कि कर्नाटक की सरकार हत्या का ठीकरा हिंदुओं के सिर पर फोड़ना चाहती है। उन्होंने कर्नाटक की सिद्धारमैया सरकार को हिंदू और भाजपा विरोधी बताया।
उधर भाजपा सांसद के बयान पर कांग्रेस ने तीखा जवाब दिया है। पार्टी ने पलटवार करते हुए कहा है कि पुलिस अपना काम कर रही है। गिरफ्तारी के पीछे कोई राजनीतिक साजिश नहीं है। कांग्रेस नेता रेणू ने कहा कि बीजेपी सांसद जिस ढंग से दावा कर रही हैं कि आरोपी हिंदू नहीं है, उससे उन्हें आरोपी के बारे में ज्यादा जानकारी मालुम पड़ती है। यदि वह सारी जानकारियां पुलिस को नहीं देती हैं तो माना जाएगा कि वह सुबूतों को दबा रहीं हैं।

HOT DEALS
  • Samsung Galaxy J6 2018 32GB Gold
    ₹ 12990 MRP ₹ 14990 -13%
    ₹0 Cashback
  • Sony Xperia XA Dual 16 GB (White)
    ₹ 15940 MRP ₹ 18990 -16%
    ₹1594 Cashback

बता दें कि एसआईटी ने शुक्रवार (2 मार्च) को 37 वर्षीय केटी नवीन कुमार को गौरी लंकेश की हत्या के मामले में गिरफ्तार किया था। गौरी लंकेश की हत्या पिछले साल 5 सितंबर को हुई थी। पांच महीने में पुलिस की यह पहली गिरफ्तारी रही। पुलिस ने अवैध रूप से हथियार रखने के आरोप में गिरफ्तार केटी नवीन कुमार को इस मामले में पहला आरोपी माना गया था। विशेष जांच दल ने बेंगलुरु की एक मजिस्ट्रेट कोर्ट को नवीन कुमार के खिलाफ हत्या से जुड़े प्रमाण होने की सूचना दी। एसआईटी ने कोर्ट को यह भी बताया कि आरोपी के खिलाफ अवैध हथियार रखने को लेकर जांच चल रही थी, जिसके लिए उसे 18 फरवरी को गिरफ्तार किया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App