ताज़ा खबर
 

IIT मुंबई में गडकरी : हम गरीब आबादी वाले अमीर देश, खराब नेतृत्व-भ्रष्ट शासन इसका जिम्मेदार

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा, ‘‘भारत गरीब आबादी वाला अमीर देश है। इसके लिए खराब नेतृत्व और भ्रष्ट जिम्मेदार है।’’ यह बात उन्होंने शनिवार को मुंबई में राज्यसभा सदस्य और एंटप्रिन्योर राजीव चंद्रशेखर के साथ दिए इंटरव्यू में कही।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी। (पीटीआई फाइल फोटो)

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा, ‘‘भारत गरीब आबादी वाला अमीर देश है। इसके लिए खराब नेतृत्व और भ्रष्ट जिम्मेदार है।’’ यह बात उन्होंने शनिवार को मुंबई में राज्यसभा सदस्य और एंटप्रिन्योर राजीव चंद्रशेखर के साथ दिए इंटरव्यू में कही। यह इंटरव्यू 19-20 जनवरी को आईआईटी-पोवई के ई-सेल के एनुअल इवेंट को लेकर हो रहा था। गडकरी बोले, ‘‘हमें ऐसी आर्थिक नीति की जरूरत है, जो भारत को मजबूत आर्थिक देश में बदल सके।’’

IIT के छात्रों पर जताया भराेसा : गडकरी ने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि आईआईटी के छात्र भविष्य में भी इनोवेशन, एंटप्रिन्योरशिप, विज्ञान, तकनीक, रिसर्च और ज्ञान पर भरोसा रखेंगे।’’ उन्होंने कहा कि लोकतंत्र और राजनीति के हित में ‘गुणात्मक नेतृत्व’ की जरूरत है, जिससे सामाजिक-आर्थिक सुधार आएगा।

काम के तरीके का उदाहरण दिया : गडकरी ने मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे समेत कई फ्लाईओवर का उदाहरण देते हुए कहा, ‘‘जब मैंने इन्हें बनवाया, तब मैं इकोनॉमी और सिविल इंजीनियरिंग के बारे में ज्यादा नहीं जानता था। हालांकि, अपनी क्षमता की वजह से मैं यह रिस्क ले सका।

मूलभूत सिद्धांत भी समझाया : उन्होंने बताया कि सांताक्रूज एयरपोर्ट के पास फ्लाईओवर बनते वक्त मैंने एक नियम बनाया। इसके तहत हर रोज काम में तेजी लाने वालों को एक लाख रुपए का इनाम दिया जाता। वहीं, जिनकी वजह से काम रोजाना लेट होता, उन पर डेढ़ लाख रुपए का जुर्माना लगाया जाता।’’ गडकरी ने कहा, ‘‘एक ही मूलभूत सिद्धांत है कि अच्छा काम करने वालों का सम्मान होना चाहिए। वहीं, खराब काम करने वालों को सजा मिलनी चाहिए।’’

 

ठाकरे को भी किया याद : बाबासाहेब ठाकरे को याद करते हुए गडकरी ने कहा, ‘‘उन्होंने मुझे एक एक्रेलिक शीट दी थी और कहा था कि मुझे ऐसे लोग पसंद हैं, जो चीजें हासिल कर सकते हैं। तकनीक ला सकते हैं और रिसोर्सेज तैयार कराए जा सकते हैं, लेकिन सक्षम नेतृत्व को सिर्फ गुणों से बनाया जा सकता है।’’ गडकरी ने बताया कि पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में अब तक 1400 नए बिल, नोटिफिकेशन और कानून लागू किए जा चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App