ताज़ा खबर
 

प्रदूषण मामले में हापुड़ स्थित कोका कोला संयंत्र जांच के दायरे में

हरित अधिकरण ने कोका कोला को निर्देश दिया कि वह शुल्क के तौर पर अदालत आयुक्त को 20 हजार रुपए का भुगतान करे

Author नई दिल्ली | April 11, 2016 12:40 AM
राष्ट्रीय हरित अधिकरण

राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने कोका कोला के उत्तर प्रदेश के हापुड़ स्थित संयंत्र का निरीक्षण करने और नजदीकी तालाब में क्या वह दूषित जल छोड़ रहा है इसकी जांच के लिए स्थानीय आयुक्त नियुक्त किया है। हरित अधिकरण ने कोका कोला को निर्देश दिया कि वह शुल्क के तौर पर अदालत आयुक्त को 20 हजार रुपए का भुगतान करे और उनसे किए गए कार्य की वीडियोग्राफी कर और तस्वीरें लेकर अपनी रिपोर्ट दाखिल करने को कहा।

न्यायमूर्ति यूडी सालवी की पीठ ने कहा-एक-दूसरे के खिलाफ लगाए गए आरोपों की गंभीरता और हमारे समक्ष मामले के गुण-दोष पर इसके प्रभाव के मद्देनजर हम पलाश अग्रवाल को हिंदुस्तान कोका कोला बेवरेज प्राइवेट लिमिटेड के परिसर का दौरा करने के लिए अदालत आयुक्त नियुक्त करते हैं। वे आवेदक और प्रतिवादी संख्या 4 (कोका कोला) के प्रतिनिधि की मौजूदगी में स्थानीय जांच करेंगे और तथ्यों से संबंधित तस्वीर हमारे सामने रखेंगे।

यह निर्देश याचिकाकर्ता संजय कुमार की अशोधित दूषित जल को कथित तौर पर तालाब में छोड़े जाने पर रोक लगाने की मांग पर आया है। उन्होंने पीठ के समक्ष तस्वीरें पेश कीं। जिसमें दिखाया गया है कि परिसर की चहारदीवारी के दाहिनी तरफ से दूषित जल को तालाब में छोड़ा जा रहा है। कोका कोला के वकील ने दावों का खंडन किया और अधिकरण से कहा कि वह परिसर का निरीक्षण करने के लिए स्थानीय आयुक्त नियुक्त करें और कंपनी की चहारदीवारी के संबंध में सही तथ्य पेश करें। उन्होंने मामले की अगली सुनवाई की तारीख 21 अप्रैल निर्धारित की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App