ताज़ा खबर
 

1-1 नेता आपका ‘बकलोल’ हो गया…जब कांग्रेसी नेता की कवि ने ली चुटकी, एंकर भी बोले- आप ऐक्शन ही नहीं कर रहे, तो रिएक्शन होगा कहां से…

कवि शिखर ने कांग्रेस के उस दावे पर भी ताना मारा जिसमें पार्टी ने कृषि कानूनों के विरोध में दो करोड़ लोगों के हस्ताक्षए करा लिए।

rahul gandhi farm bill 2020कार्यक्रम में कवि शम्भू शिखर ने कांग्रेस नेता से खूब मजे लिए। (वीडियो स्क्रीनशॉट)

देश में कांग्रेस के घटते जनाधार पर टीवी चैनल न्यूज18 इंडिया के कार्यक्रम ‘लपेटे में नेताजी’ में कवि शम्भू शिखर ने अपनी कविता से पार्टी नेता अखिलेश प्रसाद सिंह से खूब मजे लिए। उन्होंने कविता के माध्यम से कांग्रेस पर तंज कस कहा- पहले की तरह अब जनता का सपोर्ट नहीं है… है दौर कमल का, गुलाब कोट नहीं है। लाए कहां से करोड़ों के साइन तुम… इतने तो कांग्रेसियों के वोट नहीं हैं।

कवि शिखर ने इसके जरिए कांग्रेस के उस दावे पर ताना मारा जिसमें पार्टी ने कृषि कानूनों के विरोध में दो करोड़ लोगों के हस्ताक्षए करा लिए। बता दें कि बाद में राहुल गांधी ने हस्ताक्षर वाले पर्चे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को सौंप दिए। शिखर के इस तंज का कांग्रेस के राज्यसभा सांसद अखिलेश प्रसाद सिंह ने जवाब दिया। उन्होंने कहा- कवि जी करेक्ट कर लेना चाहिए कि दो करोड़ नहीं, पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी को 12 करोड़ से ज्यादा वोट मिले थे। हालांकि उनके जवाब में कवि ने कहा कि कविताओं में कभी-कभी ऐसा हो जाता है।

शिखर ने कांग्रेस नेता से मजे लेते हुए आगे कहा- एक-एक नेता आपका बकलोल हो गया… लगता है जैसे फटा सा ढोल हो गया। ऐसा क्या कारनामा किया था प्रचार में… पूरे बिहार में डब्बा गोल हो गया। कवि ने आगे कहा कि बिहार में कांग्रेस इतना बुरा प्रदर्शन करेगी इसकी उम्मीद हमें भी नहीं थी। बता दें कि इस साल बिहार में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस महज 18 सीट जीत सकी जबकि उसने करीब 70 सीटों पर चुनाव लड़ा था।

कवि सम्मेलन के दौरान एंकर ने कांग्रेस नेता से पार्टी के लगातार ढलान पर आने को लेकर सवाल किया। उन्होंने कहा कि पार्टी की गाड़ी ढलान पर लगातार चल रही है और चलती जा रही है। कोई उसको रोकर ऊपर ला नहीं पा रहा। दूसरी पार्टी जो ऊपर चढ़ती जा रही है उसे कोई नीचे नहीं ला पा रहा। जवाब अखिलेश प्रताप सिंह ने कहा कि अब पार्टी ऊपर आ जाएगी। इस पर तपाक से एंकर ने कहा- आप एक्शन ही नहीं कर रहे तो रिएक्शन कहां से होगा।

उल्लेखनीय है कि आज यानी 28 दिसंबर, 2020 को कांग्रेस का 136वां स्थापना दिवस भी है। विदेश यात्रा के चलते पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी स्थापना कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सके। हालांकि राहुल गांधी और पार्टी के कई अन्य नेताओं ने शुभकामनाएं दीं और देश की आजादी एवं विकास में कांग्रेस के योगदान को याद किया। कार्यक्रम में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी भी शामिल नहीं हो सकीं। पार्टी सूत्रों का कहना है कि कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति को देखते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को सलाह दी गई थी कि वह पार्टी मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में शामिल नहीं हों।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 यूपीः नर्सिंग होम पर रेड, 40 आशा कार्यकर्ताओं को हिरासत में, होंगी बर्खास्‍त
2 कांग्रेस के स्थापना दिवस पर विवादों में राहुल का विदेश दौरा, हुआ प्रियंका से सवाल तो ना देते बना जवाब
3 उत्तराखंड के कोरोना संक्रमित CM त्रिवेंद्र सिंह रावत की बिगड़ी तबीयत! दिल्ली AIIMS किए जा रहे शिफ्ट
ये पढ़ा क्या?
X