ताज़ा खबर
 

नागालैंड के नवनिर्वाचित विधायकों की मांग, चाहिए 22 लाख की ये लग्जरी कार

नागालैंड में फरवरी में विधानसभा चुनाव हुए थे जिनके नतीजे 3 मार्च को घोषित किए गए थे। इन चुनावों में नागा पीपल्स फ्रंट पार्टी को 27 सीटें मिली जिसके बाद यह पार्टी राज्य में एकल बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। इतनी सीट जीतने के बाद भी पार्टी राज्य में सरकार नहीं बना पाई।

विधायकों को शुरुआत में रेनॉल्ट डस्टर मुहैया कराई गई थी लेकिन मंत्रियों ने इनोवा क्रिस्टा के टॉप मॉडल की मांग की है।

नागालैंड में सरकार बनते ही कुछ नेताओं ने अपने नखरे दिखाना शुरू कर दिया है। नागालैंड के 11 विधायकों ने सरकारी गाड़ी लेने से इनकार करते हुए उन्हें एसयूवी गाड़ी मुहैया कराने की मांग की है। ये सभी विधायक नागा पीपल्स फ्रंट पार्टी से ताल्लुक रखते हैं। नागालैंड विधानसभा के कमीश्नर और सेक्रेटरी को पत्र लिखकर इन विधायकों ने लग्जरी एसयूवी गाड़ी देने की मांग की है जिसकी कीमत प्रति 22 लाख रुपए है। बता दें कि विधायकों को शुरुआत में रेनॉल्ट डस्टर मुहैया कराई गई थी लेकिन मंत्रियों ने इनोवा क्रिस्टा के टॉप मॉडल की मांग की है।

विधायकों को दी जाने वाली 60 रेनॉल्ट डस्टर का खर्चा 7.8 करोड़ रुपए का है लेकिन अगर विधायकों की मांग स्वीकार की जाती है तो 60 एसयूवी का खर्चा 13 करोड़ रुपए पड़ेगा। विधायकों ने अपने पत्र में रेनॉल्ट डस्टर को स्वीकार न करने की वजह उसके रखरखाव का मुद्दा बताया है। आपको बता दें कि नागालैंड में फरवरी में विधानसभा चुनाव हुए थे जिनके नतीजे 3 मार्च को घोषित किए गए थे। इन चुनावों में नागा पीपल्स फ्रंट पार्टी को 27 सीटें मिली जिसके बाद यह पार्टी राज्य में एकल बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। इतनी सीट जीतने के बाद भी पार्टी राज्य में सरकार नहीं बना पाई।

बीजेपी और नेशनल डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी ने मिलकर राज्य में सरकार बनाई है। गुरुवार को नेफ्यू रियो ने राज्य के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। नेफ्यू रियो चौथी बार राज्य के मुख्यमंत्री बने हैं। उन्होंने रियो राजभवन के बाहर शपथ ली और ऐसा करके वे पहले मुख्यमंत्री बन गए हैं जिन्होंने रियो राजभवन के बाहर शपथ ली है। राज्यपाल पी बी आचार्य ने नेफ्यू रियो समेत 11 मंत्रियों को पद और गोपनियता की शपथ दिलाई। नेशनल डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी ने 18 सीटे जीती थीं तो वहीं बीजेपी के हाथ 12 सीटें लगी। नेफ्यू रियो सबसे पहले 2003 से 2008 तक मुख्यमंत्री रहे। इसके बाद उन्होंने 2008-13 तक और फिर 2013-14 तक राज्य के मुख्यमंत्री का पद संभाला था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्ली: पड़ोस के लड़के से था अफेयर, पिता ने नाबालिग बेटी का गला रेत लाश नाले में फेंक दी
2 परीक्षा के डर से घर से भागी, रेलवे को मिली तो पीयूष गोयल ने मिलकर दिया ये ‘गिफ्ट’
3 जया प्रदा बोली थीं- आजम खां को देख मुझे अलाउद्दीन ख़िलजी याद आता है, उधर से आया ये जवाब
ये पढ़ा क्या?
X