YOGENDRA YADAV ASK COMMISSION FOR MANDSAUR FIRING ON FARMERS - Jansatta
ताज़ा खबर
 

मंदसौर का दौरा कर लौटे योगेंद्र यादव बोले- किसानों की हत्या की जांच के लिए बनाया जाए स्वतंत्र आयोग

मध्य प्रदेश के मुलताई में 23 किसानों को कांग्रेस सरकार ने गोली मारी थी, उसी प्रदेश में इस बार भाजपा की सरकार ने किसानों पर गोली चलाई है।

Author नई दिल्ली | June 14, 2017 3:14 AM
योगेंद्र यादव (PTI file photo)

मंदसौर का दौरा कर लौटे स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने मांग की है कि मंदसौर घटना की जांच मध्य प्रदेश हाई कोर्ट की निगरानी में एक स्वतंत्र आयोग का गठन कर की जाए। यादव ने आरोप लगाया कि मध्य प्रदेश में लोकतांत्रिक अधिकारों व मानवाधिकारों का हनन हो रहा है और संविधान की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं।  मंदसौर दौरे का अनुभव साझा करते हुए योगेंद्र यादव ने मंगलवार को कहा कि रतलाम जिले की पुलिस व प्रशासन ने उन्हेंं गैर-कानूनी ढंग से मंदसौर में शहीद हुए किसानों की श्रद्धांजलि सभा में जाने से रोका। यहां तक कि नीमच जिले में उनके दल को आम लोगों से संवाद तक करने से रोका गया और जबरन मध्य प्रदेश की सीमा से बाहर राजस्थान ले जाया गया। यादव ने कहा कि एक तरफ जहां किसानों को गोली मारने वाले खुलेआम घूम रहे हैं, वहीं उन्हें श्रद्धांजलि देने जा रहे लोगों पर कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि जिस मध्य प्रदेश के मुलताई में 23 किसानों को कांग्रेस सरकार ने गोली मारी थी, उसी प्रदेश में इस बार भाजपा की सरकार ने किसानों पर गोली चलाई है।

बिना किसी संवाद के किसानों पर गोली चलाने की इस प्रवृत्ति के मामले में कांग्रेस हो या भाजपा कोई भी सरकार पीछे नहीं रही है। योगेंद्र यादव ने मांग रखी है कि भाजपा के चुनावी घोषणापत्र में किए गए वादे के मुताबिक, किसानों को फसल की लागत मूल्य से 50 फीसद ज्यादा कीमत मिले और उनके उत्पाद की बाजार में बिक्री सुनिश्चित की जाए। साथ ही मध्य प्रदेश के किसानों का कर्ज माफ करके खेती को फायदेमंद बनाया जाए ताकि किसान कर्ज और खुदकुशी के जाल से मुक्त हो सकें। इसके साथ ही यादव ने मांग रखी है कि मध्य प्रदेश सरकार हाई कोर्ट के न्यायाधीश की अध्यक्षता में एक स्वतंत्र आयोग का गठन करे और पुलिस गोलीबारी में मारे गए किसानों की हत्या की परिस्थितियों की जांच करे। प्रदेश सरकार उन सभी पुलिसवालों और प्रशासनिक अधिकारियों पर हत्या का मुकदमा दर्ज करे जिन्होंने गोलीबारी के आदेश दिए। 1 जून से 10 जून तक चले किसान आंदोलन को लेकर जिन भी किसानों के ऊपर मुकदमे दर्ज किए गए, उन्हें भी तुरंत वापस लिया जाए। यादव ने घोषणा की है कि 6 जुलाई को मध्य प्रदेश में एक शहीद किसान महापंचायत का आयोजन किया जाएगा जिसके जरिए एक जन आयोग का गठन किया जाएगा, जो मंदसौर के घटनाक्रमों की जांच करेगी।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App