ताज़ा खबर
 

योगेंद्र यादव ने कपिल मिश्र को दी सलाह प्रतिशोध के बजाए प्रायश्चित करें

योगेंद्र यादव ने कपिल मिश्र को यह सलाह भी दी है कि वे नकारात्मक व प्रतिशोध की राजनीति से बचें और अरविंद केजरीवाल के खिलाफ रोज-रोज प्रेस वार्ता करना बंद कर दें।

Author नई दिल्ली | May 23, 2017 03:29 am
योगेंद्र यादव। ( File Photo)

आप से निलंबित नेता और पूर्व मंत्री कपिल मिश्र की माफी के जवाब में स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने उन्हें खुला पत्र लिखा है और कहा है कि उनके और प्रशांत भूषण के साथ आप में जो कुछ भी हुआ उसका पूरा सच देश के सामने रखें। योगेंद्र यादव ने कपिल मिश्र को यह सलाह भी दी है कि वे नकारात्मक व प्रतिशोध की राजनीति से बचें और अरविंद केजरीवाल के खिलाफ रोज-रोज प्रेस वार्ता करना बंद कर दें। पत्र के जवाब में कपिल मिश्र ने कहा कि वह योगेंद्र यादव के साथ सच सामने रखने को तैयार हैं। आम आदमी पार्टी के संस्थापकों में से एक रहे स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने कपिल मिश्र के माफी मांगने की हिम्मत की दाद देते हुए कहा कि इससे कई दोस्तों के पुराने घाव भरने में मदद मिलेगी। अपने पत्र में यादव ने लिखा है, ह्यबहुत वक्त बीत गया है, फिर भी आपकी सार्वजनिक क्षमा याचना से कई दोस्तों के पुराने घाव भरने में मदद मिलेगी।

जब हमें झूठे लांछन लगाकर पार्टी से निकाला गया उस वक्त (खासतौर पर केलिस्टा रिसॉर्ट कांड में) आपकी और अपने कई साथियों की भूमिका देखकर मेरा इंसानियत पर से भरोसा उठ गया था। आपके विशेष अनुरोध पर मैं आपके चुनाव क्षेत्र में कई बार प्रचार करने गया था। सोचिए मुझे कैसा लगा होगा जब आपके ही मुंह से गद्दारी का आरोप सुना? और आपका आदरणीय शांति भूषण जी पर हमला…अब भी याद कर सिहर उठता हूं! आज आपने उस घटना के सच का इशारा तो किया, लेकिन कभी ठीक समझें तो उस कांड का पूरा सच देश के सामने रख दीजिएगा।ह्ण योगेंद्र यादव ने यह भी कहा कि उनके भीतर जो भी कड़वाहट बची हुई थी, वो धुल गई है। कपिल मिश्र को राजनीतिक सलाह देते हुए यादव लिखते हैं, ह्यवैसे आप राजनीति में मुझसे बहुत होशियार हैं, लेकिन अगर अन्यथा न लें तो एक सुझाव दूं? ये रोज-रोज अरविंद केजरीवाल के खिलाफ प्रेस कांफ्रेंस करनी बंद कर दीजिए। मैं नहीं कहता कि आपके सारे आरोप गलत हैं। कुछ आरोप वजनदार हैं, हालांकि बाकी का अभी कोई प्रमाण नहीं है, लेकिन दिन-रात आरोपों की झड़ी लगाने से आम आदमी पार्टी तो साफ नहीं होगी, लेकिन ईमानदार राजनीति में जनता की जितनी भी आस्था बची है वो जरूर साफ हो जाएगी।

अरुण जेटली ने अरविंद केजरीवाल पर ठोका 10 करोड़ रुपये की मानहानि का दूसरा मुकदमा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App