ताज़ा खबर
 

Coronavirus का खतरा: लखनऊ में 66 दिन बाद CAA विरोधी प्रदर्शन से हटी महिलाएं, पर शाहीन बाग में डटीं, बदली रणनीति

UP के CM योगी आदित्यनाथ ने रविवार (22 मार्च) को लखनऊ-कानपुर समेत राज्य के 15 जिलों में लॉकडाउन का ऐलान किया था, वहीं दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने पूरी तरह शहर बंद किया है।

उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन के ऐलान के बाद सोमवार को प्रदर्शनकाररी धरनास्थल से चले गए। (फोटो-एएनआई)

देश भर में कोरोनावायरस का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। अब तक इसके संक्रमण से 7 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं 400 के करीब लोग पीड़ित पाए गए हैं। इन स्थितियों को देखते हुए ज्यादातर राज्य सरकारों ने लॉकडाउन का ऐलान कर दिया। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी रविवार (22 मार्च) को राज्य के 15 जिलों में लॉकडाउन की घोषणा की। लॉकडाउन के ऐलान के बाद सोमवार को लखनऊ का शाहीन बाग कहे जा रहे घंटाघर चौराहे से महिलाओं ने प्रदर्शन अस्थाई रूप से वापस ले लिया। यहां सैकड़ों महिलाएं 66 दिन से नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन कर रही थीं।

बताया गया है कि कोरोनावायरस के कारण महिलाओं ने प्रदर्शनों को टालने का फैसला किया है। वे खुद ही सारे टेंट और इंतजाम छोड़ कर अपने घरों को रवाना हो गईं।

इसी बीच शाहीन बाग में भी प्रदर्शकारियों में भारी कमी आई है। यहां पिछले करीब 100 दिनों से धरना जारी है। हालांकि, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोरोनावायरस के डर से अब वहां गिनती की महिलाएं ही बची हैं। रविवार को शाहीन बाग में रहने वाले लोगों ने प्रधानमंत्री मोदी आह्वान पर घरों से बाहर निकल कर घंटियां और तालियां बजाईं।

न्यूज एजेंसी से एएनआई से बातचीत में एक महिला ने कहा, “हम प्रधानमंत्री मोदी के फैसले का सम्मान और आदर करते हैं। अपील की गई है कि एक जगह पर ज्यादा लोग न जुटें। इसलिए लोग यहां पांच-पांच की शिफ्ट में आ रहे हैं। हम कोरोनावायरस से लड़ने के लिए तैयार हैं। हम इसके ग्लव्स, मास्क और सैनिटाइजर भी पहन रहे हैं।”

एक दिन पहले (22 मार्च) ही शियाओं के धर्मगुरु मौलाना कल्बे सादिक ने अपील की थी कि कोरोनावायरस की वजह से बिगड़े हालात को देखते हुए वे प्रदर्शन स्थगति कर दें। उन्होंने कहा था कि अभी हालात गंभीर हैं, जैसे ही कोरोना का दौर थम जाए तो वे धरना शुरू कर सकते हैं। लेकिन इस मुश्किल में उन्हें एहतियात बरतना चाहिए।

यूपी में 343 लोगों में कोरोना के लक्षण पाए गएः इस बीच उत्तर प्रदेश स्वास्थ्य विभाग ने कोरोनावायरस को लेकर जो आंकड़े जारी किए, उसके मुताबिक राज्य में अब तक 343 लोगों में कोरोना जैसे लक्षण पाए गए। कोरोना प्रभावित 12 देशों से अबतक 6134 लोग उत्तर प्रदेश लौटे हैं। अब तक वाराणसी और नोएडा समेत अन्य जिलों से 28 लोगों की जांच पॉजिटिव पाई गए थे। इनमें आगरा के 8, गाजियाबाद 2, लखनऊ 8, नोएडा में 8, लखीमपुर खीरी और मुरादाबाद में एक-एक मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है। 3378 लोगों को 28 दिन के ऑब्जर्वेशन पर रखा गया हैं। यूपी के हवाई अड्डों पर अब

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Coronavirus: मणिपुर की महिला को ‘कोरोना’ बता थूका, दिल्ली पुलिस ने शख्स के खिलाफ दर्ज किया केस