ताज़ा खबर
 

दिल्‍ली: देवर से अफेयर था, महिला ने पति का गला घोंटा फिर चेहरा कूच दिया ताकि कोई पहचान न सके

चौंकाने वाली बात यह है कि शुरू में पुलिस को महिला की बात पर यकीन भी हो गया। मगर पड़ोसियों से बाचतीत में सच्चाई की परतें खुलने लगीं। पड़ोसियों ने बताया कि राजेश कुमार जब भी घर से बाहर होता था, तब एक शख्स हमेशा अनीता से मिलने आता था।

चित्र का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में एक शख्स को पत्नी के अफेयर पर आपत्ति जताने की कीमत अपनी जान देकर चुकानी पड़ी। मामला 23 अगस्त का है, जहां राजघाट के करीब शांतिवन में पत्नी ने अमन की गला घोंटकर हत्या कर दी। इसके आरोपी पत्नी ने अपने प्रेमी यानी पति के भाई को वारदात स्थल पर बुलाया और शव की पहचान छिपाने के लिए चेहरा बुरी तरह कूच दिया। इसके बाद शव को करीबी नाले में फेंक दिया गया। खास बात यह है कि इसी दिन पुलिस को एक शव मिला। जिसकी जेब में आधार कार्ड और मोबाइल फोन था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में आया की व्यक्ति की मौत दम घुटने की वजह से हुई। घटना के करीब एक सप्ताह बाद पुलिस ने शव की पहचान राजेश कुमार के रूप में की, जो मूल रूप से उत्तर प्रदेश के हाथरस का निवासी था। राजेश कुमार की मौत के सिलसिले में पुलिस ने जबकि उसकी विधवा से बात की तो वह लूट के एंगल से पुलिस को घुमाने की कोशिश करने लगी।

जांच की दौरान पुलिस ने कॉल डिटेल खंगाली। केस की जांच कर रहे अधिकारियों ने एक मोबाइल नंबर पर ध्यान केंद्रित किया, जो घटना वाले दिन ही किया गया था। जांच में पता चला नंबर मृतक के नाम पर लिया गया था मगर उसका उसका इस्तेमाल पत्नी कर रही थी। वहीं पूछताछ के दौरान मृतक की पत्नी अनीता दावा करती रही कि दोनों के बीच बहस के बाद पति घर छोड़कर हाथरस वापस चला गया। अपने झूठ को सच दिखाने के लिए उसने ट्रेन की टिकट भी दिखाई।

चौंकाने वाली बात यह है कि शुरू में पुलिस को महिला की बात पर यकीन भी हो गया। मगर पड़ोसियों से बाचतीत में सच्चाई की परतें खुलने लगीं। पड़ोसियों ने बताया कि राजेश कुमार जब भी घर से बाहर होता था, तब एक शख्स हमेशा अनीता से मिलने आता था। इसके अलावा पूरे मामले की तहकीकात के लिए पुलिस की एक टीम को हाथरस भेजा गया और मृतक के रिलेटिव से पूछताछ की गई। मगर उसने भी अनीता जैसा बयान दोहराया। हालांकि बाद में पुलिस ने राजेश के भाई विजय से पूछताछ की। यहां मृतक की पत्नी और उसके भाई के बयानों में विरोधाभास था। इसके बाद पुलिस ने अनीता और विजय से सख्ती से पूछताछ शुरू की।

शुरुआती पूछताछ में दोनों यही बात दोहराते रहे कि पूरे घटनाक्रम से दोनों अंजान हैं। मगर अनीता ने तब अपने गुनाह को कबूल लिया जब उसका सामना विजय से हुआ। पुलिस को विजय ने बताया कि उसकी पत्नी करीब पांच साल पहले उसे छोड़कर जा चुकी है। पत्नी से उसकी दो बेटियां हैं। एक साल पहले भाई की शादी के बाद उसने अनीता से अवैध संबंध बनाने शुरू कर दिए। हालांकि जब राजेश के दोनों के अवैध संबंध के बारे में पता चला तो वह पत्नी संग दिल्ली में आ गया। मगर इस दौरान भी अनीता से मिलता रहा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App