ताज़ा खबर
 

कहां तक पहुंची गांवों के विकास की बात

केंद्र के सहयोग से नरेला क्षेत्र तक मेट्रो लाई जा सकी है। ग्रामीण क्षेत्रों में बस सेवा की कमी के मामले में उदित राज ने बताया कि यह सीधे तौर पर दिल्ली सरकार के अधिकार क्षेत्र का मामला है। इस मामले में जनता की परेशानियां भी उन तक पहुंची हैं।

सांसद उदित राज (फोटो सोर्स : file Photo)

पंकज रोहिला

दिल्ली के ग्रामीण क्षेत्रों में चुनावी दंगल का आगाज हो चुका है। उत्तर पश्चिम दिल्ली संसदीय क्षेत्र दिल्ली की सबसे अधिक गांव वाली लोकसभा सीट है। चुनावों को लेकर गांवों में चाय की दुकान से लेकर चौपाल तक छोटी-छोटी चर्चाएं शुरू हो गई हैं। इन चर्चाओं में ग्रामीण क्षेत्रों के परिवहन तंत्र को लेकर नाराजगी साफ देखी जा सकती है। यह नाराजगी सांसद तक भी पहुंची है। सांसद उदित राज का कहना है कि पांच सालों में मेट्रो ने शहरी क्षेत्रों से ग्रामीण इलाकों की दूरियां कम की हैं। बसें नहीं आने की वजह से लोगों ने निजी वाहनों और मेट्रो सेवा को अपना हमसफर बनाया है।

केंद्र के सहयोग से नरेला क्षेत्र तक मेट्रो लाई जा सकी है। ग्रामीण क्षेत्रों में बस सेवा की कमी के मामले में उदित राज ने बताया कि यह सीधे तौर पर दिल्ली सरकार के अधिकार क्षेत्र का मामला है। इस मामले में जनता की परेशानियां भी उन तक पहुंची हैं। इसके बाद दिल्ली सरकार को कई बार पत्र लिखकर इस सेवा को ठीक करने के लिए कहा गया है। 3000 बसें नहीं आने की वजह से सबसे अधिक परेशानी उनके क्षेत्र के लोगों को हो रही है क्योंकि यह दिल्ली के आखिरी क्षेत्रों में शामिल हैं। इसके अतिरिक्त लगातार इन बसों की संख्या में कमी आ रही है। अधिक लोगों को मेट्रो का लाभ देने के लिए कुतुबगढ़ लाइन विस्तार का प्रस्ताव किया गया है।

बादली रेलवे स्टेशन पर बढ़ाई गईं सुविधाएं
बादली रेलवे स्टेशन पर आम जनता की सुविधा के लिए टॉयलेट ब्लॉक, सेमी हाईमास्ट लाइट, 6 वॉटर बूथ व टीन शेड आदि की व्यवस्था कराई गई है। इनके लिए यात्रियों की ओर से काफी समय से मांग की जा रही थी। इस कार्य पर करीब 68 लाख रुपए की धनराशि खर्च की गई है। इसके अलावा 19 लाख रुपए की लागत से बादली क्रॉसिंग और समय पुर बादली स्कूल के पास नए बस शेल्टर भी बनाए गए हैं।

गांव तक पहुंचा विकास
ग्रामीण क्षेत्रों की खराब हालत को सुधारने के लिए पहले से ही चल रही योजनाओं को सफलतापूर्वक लागू किया गया। डीडीए की मदद से 300 करोड़ रुपए की लागत से फ्लाईओवर का निर्माण किया गया। इसके अतिरिक्त आयुष मंत्रालय की मदद से 322.50 करोड़ रुपए की लागत से होम्योपैथी केंद्र बनाया गया।

हर दिन लगता है जनता दरबार
लोकसभा क्षेत्र में आम जनता की परेशानियों को दूर करने के लिए उदित राज हर दिन जनता दरबार लगाते हैं। सांसद ने बताया कि इस दरबार की मदद से आने वाले लोगों की परेशानियां दूर करने की कोशिश होती है। यह उनके कार्यालय का रिकार्ड है कि वे समस्याओं के निवारण के लिए दिल्ली व केंद्र सरकार के विभिन्न विभागों को 17 हजार से अधिक पत्र लिख चुके हैं और करीब 3 लाख फोन किए हैं। जनता से जुड़े 98 मामलों को संसद में उठाया है और 321 बार सवाल पूछकर अपने फंसे कार्यों का जवाब भी सरकार से मांगा है। उन्होंने बताया कि उनके क्षेत्र की बड़ी आवश्यकता महिला विश्वविद्यालय है। इसके लिए वे निजी विधयेक भी लोकसभा में पेश कर चुके हैं। अब तक उनके माध्यम से जनता से संबंधित 21 निजी विधेयक पेश किए जा चुके हैं।

शाहजहां की शिकारगाह को संवारा
शाहजहां की शिकारगाह के आसपास बसे जौंती गांव, सांसद का आदर्श गांव है। इस गांव को संवारने के लिए करीब 15 करोड़ रुपए खर्च किए गए। अब इस गांव को ग्रामीण पर्यटन से जोड़ने की तैयारी है। इसके लिए 10 एकड़ जमीन पीपीपी मॉडल पर दिए जाने का फैसला हो गया है ताकि यहां पर्यटन को बढ़ाया जा सके। बताया जा रहा है कि गांव के लोग खुले में शौच में जाते थे, इसे समाप्त करने के लिए गांवों के घरों में शौचालय बनवाए गए हैं। इसके अलावा गांव का फिरनी मार्ग बनाया गया है। गांव में मार्ग पर दुर्घटनाओं से बचाने के लिए वन विभाग की मदद 191 पेड़ों को हटाया गया है। इससे दुर्घटनाओ में कमी लाई गई है। अब तक सांसद ने चार गांवों को गोद लिया। इनमें जौंती के अलावा खामपुर, सलाहपुर और बुद्धनपुर गांव शामिल हैं।

वादे जो किए
नरेला अलीपुर में फ्लाईओवर का निर्माण
मेट्रो का विस्तार कुतुबगढ़ तक करना था
महिला विश्वविद्यालय बनाने का कार्य
ग्रामीण क्षेत्र के अंदरूनी मार्ग तक सार्वजनिक परिवहन
नांगलोई रेलवे क्रॉसिंग पर 11 फुट ओवर ब्रिज बनाने

वादे जो वफा न हुए

महिला विश्वविद्यालय बनाने का कार्य
कुतुबगढ़ तक मेट्रो विस्तार की योजना
ग्रामीण क्षेत्र के अंदरूनी मार्ग तक सार्वजनिक परिवहन
सरकार और केंद्र के क्षेत्र में फंसा ग्रामीण क्षेत्र का विकास
आदर्श गांव के युवाओं के लिए खेल परिसर

क्या रहीं शिकायतें
शहरीकृत गांवों मे पानी, सीवर की समस्या बनी रही, वीआइपी इलाका , फिर भी सड़कों पर जाम पहले से ज्यादा
करोलबाग में भीड़ कम करने की कोई योजना नहीं, पार्किंग की समस्या, नए फ्लाईओवर की योजना नहीं
केंद्र सरकार के अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या बढ़ाने से लेकर नए अस्पताल की कोई योजना नहीं

सांसद के दावे
लोकसभा में आने वाली सभी विधानसभा सीटों में विकास का काम किया गया है। इस काम के आधार पर ही आगामी लोकसभा चुनाव में वोट मांगे जाएंगे। इस काम की बदौलत ही मुझे बेहतरीन सांसद पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया है। अपने कार्यकाल के दौरान में आम जनता की समस्याओं के निदान के लिए 17 हजार से पत्र विभिन्न सरकारी एजंसियों को लिखे हैं और काम पूरा करने की पहल की है।
उदित राज, सांसद

विपक्ष के बोल
लंबे समय से किसान लड़ाई लड़ रहे हैं। इनके लिए क्षेत्रीय सांसद ने कोई पहल नहीं की है। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं की सुरक्षा के लिए कोई काम नहीं हुआ है। ये काम नहीं कर पाने की वजह से ही भाजपा के खिलाफ लोगों में नाराजगी है।
गुगन सिंह, प्रत्याशी, आम आदमी पार्टी

Next Stories
1 दिग्विजय ने विदेशी मीडिया की रिपोर्ट का दिया हवाला, Air Strike की सफलता पर फिर उठाए सवाल
2 दिग्विजय ने पुलवामा को बताया दुर्घटना, रविशंकर बोले- ओसामा को ‘जी’ और हाफिज सईद को ‘साहब’ कहने वालों से क्या उम्मीद करें?
3 Pulwama Attack: आतंकी हमले से 10 दिन पहले मसूद अजहर ने किया था यह दावा, ऑडियो टेप से हुआ खुलासा
ये पढ़ा क्या?
X