ताज़ा खबर
 

दिल्ली सचिवालय की छत से झमाझम लीक हुआ पानी, देखें VIDEO

वीडियो में नजर आ रहा है कि सचिवालय की छत बिल्कुल ही जर्जर हो चुकी है इस छत से झमाझम पानी दफ्तर में गिर रहा है। इस दौरान सचिवालय के कुछ कर्मचारी भी वहां से गुजरते हैं। सचिवालय के दफ्तरों में पानी भर रहा है और सचिवालय के कर्मचारी किसी तरह छत से गिरते पानी की तेज धार से बच कर निकल रहे हैं।

दिल्ली सचिवालय की छत से झमाझम गिरता बारिश का पानी।

दिल्ली-एनसीआर में शुक्रवार (13 जुलाई) को झमाझम बारिश हुई। तेज बारिश की वजह से लोगों को भीषण गर्मी से राहत तो मिली लेकिन भारी बारिश ने लोगों को परेशानियों में डाल रखा है। इस बारिश के दौरान दिल्ली सचिवालय की एक जबरदस्त तस्वीर सामने आई है। दिल्ली सचिवालय की छत से पानी गिर रहा है और सचिवालय पानी-पानी हो गया है। सचिवालय के दफ्तर में पानी टपकने का एक वीडियो भी सामने आया है। वीडियो में नजर आ रहा है कि सचिवालय की छत से तेज धार के साथ पानी दफ्तर में गिर रहा है।

वीडियो में नजर आ रहा है कि सचिवालय की छत बिल्कुल ही जर्जर हो चुकी है इस छत से झमाझम पानी दफ्तर में गिर रहा है। इस दौरान सचिवालय के कुछ कर्मचारी भी वहां से गुजरते हैं। सचिवालय के दफ्तरों में पानी भर रहा है और सचिवालय के कर्मचारी किसी तरह छत से गिरते पानी की तेज धार से बच कर निकल रहे हैं। दिल्ली सचिवालय में ही मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का भी ऑफिस है। खुद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके मंत्री इस सचिवालय में बैठ कर दिल्ली के विकास की योजनाएं बनाते हैं। जिस वक्त सचिवालय में पानी भर रहा था उस वक्त भी सचिवालय के कर्मी अलग-अलग दफ्तरों में अपना काम कर रहे थे।

आपको बता दें कि दिल्ली-एनसीआर में अचानक हुई तेज बारिश की वजह से कई इलाकों मसलन – मंडी हाउस, करोल बाग, निजामुद्दीन ईस्ट, नोएडा, गाजियाबाद, एवं फरीदाबाद समेत दूसरे अन्य इलाकों में भारी जाम लग गया। ट्रैफिक व्यवस्था ध्वस्त हो जाने की वजह से कई गाड़ियां घंटों जाम में फंसी रहीं। गाड़ियों के जाम में फंसे होने की कई तस्वीरें भी सामने आई हैं। बहरहाल आपको बता दें कि दिल्ली-एनसीआर के अलावा गुजरात, गोवा, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, केरल, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाण, एवं महाराष्ट्र के कई हिस्सों में बारिश हुई है।

देखें वीडियो –

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App