ताज़ा खबर
 

आतंकी हमले के समय संसद बाधित करने पर नायडू ने कांग्रेस की निंदा की

संसद के कामकाज में व्यवधान डालने के लिए कांग्रेस पर निशाना साधते हुए केंद्रीय मंत्री एम वेंकैया नायडू ने आज कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि मुख्य विपक्षी दल..

Author July 27, 2015 8:30 PM
केंद्रीय संसदीय मंत्री वेंकैया नायडु (पीटीआई फोटो)

कांग्रेस पर ‘‘राष्ट्रीय हितों को अपने राजनीतिक एजेंडा से ऊपर रखने में नाकाम’’ रहने का आरोप लगाते हुए सरकार ने आज कहा कि मुख्य विपक्षी पार्टी ऐसे समय संसद बाधित करके ‘‘अलग थलग’’ पड़ गई जब अन्य दलों के सांसदों ने एकजुटता के साथ गुरदासपुर आतंकी हमले की निंदा की।

केन्द्रीय मंत्री एम वेंकैया नायडू ने कहा, ‘‘कांग्रेस राष्ट्रीय हितों को राजनीतिक एजेंडा से ऊपर रखने में नाकाम रही और (उसे) नुकसान पहुंचा। बाद में उसने यह सब ढंकने का प्रयास किया लेकिन नाकाम रही। (यह) दिखाता है कि किस तरह बुरी राजनीति एक पार्टी को नुकसान पहुंचा सकती है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने हमले की गंभीरता और इसके असर को नहीं समझा। नतीजन, कांग्रेस अलग थलग पड़ गई। बाद में कांग्रेस ने लोकसभा अध्यक्ष को जिम्मेदार ठहराने का प्रयास किया।’’

उन्होंने कहा कि (मल्लिकार्जुन) खड़गे से स्पष्ट रूप से कहा गया कि आप सदन बाधित नहीं कर सकते और वह भी बोल सकते हैं।

नायडू ने कहा कि कांग्रेस को आतंकी हमले पर चर्चा की मांग को लेकर प्रदर्शन बंद करना चाहिए। आंख बंद करके राजनीति की कीमत चुकानी पडती है। विशाल पुरानी पार्टी को कम से कम अब यह अहसास होना चाहिए।

संसद बाधित करने के लिए कांग्रेस पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि जब लोकसभा में अन्य दलों के सांसद गुरदासपुर आतंकी हमले की निंदा कर रहे हैं, कांग्रेस सांसद लोकसभा अध्यक्ष की कुर्सी के पास आकर सदन को बाधा पहुंचा रहे हैं।

वेंकैया ने कहा, ‘‘इससे गलत संकेत जा रहा है। उन्हें इस बात को समझना चाहिए। मैं उनसे अपील करता हूं। पूरे देश और विशेष तौर पर कांग्रेस जैसी पार्टी को कम से कम राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मुद्दे पर एक स्वर में बोलना चाहिए।’’

संसदीय कार्य मंत्री नायडू ने कहा, ‘‘ ऐसे मामलों में (गुरदासपुर आतंकी हमला) कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए। हमें एक स्वर में बोलना चाहिए। एक तरफ जहां कई विपक्षी दल इस आतंकी हमले की निंदा कर रहे हैं और एकजुटता का प्रदर्शन कर रहे हैं, यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है कि मुख्य विपक्षी दल जिसने इतने वर्षों तक शासन किया, उसने ऐसे बयान के दौरान व्यवधान उत्पन्न करने का काम किया।’’

नायडू ने किसान पदयात्रा पर राहुल गांधी और किसानों के मुद्दे पर जनता परिवार एवं वाम दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि वे बाहर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन संसद में इन मुद्दों पर चर्चा नहीं होने दे रहे हैं।

नायडू ने कहा, ‘‘आज किसानों का मुद्दा उठाया गया (संसद में)। लोग बाहर बयान दे रहे हैं। कुछ लोग पदयात्रा भी निकाल रहे हैं लेकिन वे संसद के अंदर चर्चा होने नहीं दे रहे हैं।’’

उल्लेखनीय है कि ललित मोदी प्रकरण, व्यापमं घोटाले एवं अन्य मुद्दों पर पिछले सप्ताह लोकसभा में कामकाज नहीं हो सका था और आज भी सदन की कार्यवाही कई बार बाधित हुई।

संसदीय कार्य मंत्री ने कहा कि उन्होंने लोकसभा में सदस्यों को आश्वस्त किया है कि यह (गुरदासपुर आतंकी हमला) गंभीर घटना है और सरकार इस मुद्दे पर सदन में बयान देने के साथ साथ इस विषय पर चर्चा भी कराना चाहती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App