ताज़ा खबर
 

उत्तराखंड: मोदी के खिलाफ मुखर हुई कांग्रेस, मुकदमा दर्ज करने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन

भाजपा के स्थानीय नेता प्रधानमंत्री की 10 फरवरी को हुई हरिद्वार रैली से अब पिंड छुड़ा रहे हैं।

Author देहरादून | February 28, 2017 4:10 AM
कांग्रेस पार्टी।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की हरिद्वार में 10 फरवरी को हुई चुनावी रैली को लेकर सोमवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आक्रामक रुख अपनाते हुए उत्तराखंड के सभी 13 जिलों में भाजपा और प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया और जिलाधिकारियों के माध्यम से केंद्रीय चुनाव आयोग को ज्ञापन भेजकर प्रधानमंत्री के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि हरिद्वार के ऋषिकुल मैदान में भाजपा ने हरिद्वार विधानसभा क्षेत्र के निर्वाचन अधिकारी से अनुमति लिए बिना ही प्रधानमंत्री की चुनावी रैली कर दी। वहीं दूसरी ओर सोमवार को उत्तराखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय के नेतृत्व में दिल्ली में एक प्रतिनिधिमंडल केंद्रीय चुनाव आयोग को ज्ञापन देकर प्रधानमंत्री के खिलाफ चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में मुकदमा दर्ज करने की मांग की गई।

प्रदेश अध्यक्ष ने बताया कि चुनाव आयोग से कांग्रेस ने मांग की कि उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा ने चुनाव प्रचार में पानी की तरह जो पैसा बहाया है तथा केंद्रीय मंत्रियों की फौज ने उत्तराखंड के चुनाव को प्रभावित करने के लिए केंद्रीय सरकार की मशीनरी का जिस तरह से दुरुपयोग किया है उसकी जांच की जाए। उन्होंने बताया कि केंद्रीय मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी को ज्ञापन की प्रति दी गई। ज्ञापन देने वालों में मुख्यमंत्री हरीश रावत, केंद्रीय प्रभारी अंबिका सोनी, सहप्रभारी संजय कपूर, कैबिनेट मंत्री डॉ. इंदिरा हृदयेश और उत्तराखंड महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सरिता आर्य शामिल थीं। किशोर उपाध्याय ने कहा कि कांग्रेस की शिकायत पर उत्तराखंड के निर्वाचन आयोग ने भाजपा के जिला स्तर के नेताओं के खिलाफ तो मुकदमा दर्ज कर दिया, परंतु प्रधानमंत्री के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने में निर्वाचन अधिकारी आनाकानी कर रहे हैं। जबकि राहुल गांधी और हरीश रावत के खिलाफ निर्वाचन आयोग ने 12 फरवरी को निकाले गए रोड शो को लेकर रातों रात मुकदमा दर्ज कर दिया था। अब आयोग प्रधानमंत्री के मामले में मुकदमा दर्ज करने से पीछे क्यों हट रहा है। उन्होंने कहा कि इससे साफ जाहिर होता है कि चुनाव आयोग दवाब में काम रहा है।

वहीं भाजपा के स्थानीय नेता प्रधानमंत्री की 10 फरवरी को हुई हरिद्वार रैली से अब पिंड छुड़ा रहे हैं। भाजपा के जिलाध्यक्ष जयपाल सिंह और चुनाव संयोजक विकास तिवारी के खिलाफ हरिद्वार विधानसभा क्षेत्र के निर्वाचन अधिकारी ने हरिद्वार कोतवाली में मुकदमा दर्ज कर दिया है और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अजय भट्ट को निर्वाचन आयोग ने नोटिस जारी कर दिया है। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता डॉ. देवेन्द्र भसीन का कहना है कि भाजपा को बदनाम करने के लिए कांग्रेस इस मुद्दे पर राजनीति कर रही है।

 

 

 

अखिलेश यादव ने कहा, "मायावती बीजेपी के साथ कभी भी मना सकती हैं रक्षा बंधन"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App