ताज़ा खबर
 

केंद्रीय मंत्री ने कहा- मोदीजी जितना मशहूर होंगे, मॉब लिंचिंग की घटनाएं उतनी ही बढ़ेंगी

इस घटना का जिक्र करते हुए अर्जुन राम मेघवाल ने कहा, "हम मॉब लिंचिंग की निंदा करते हैं, लेकिन ये एकमात्र ऐसा वाकया नहीं है, आपको इतिहास में जाना पड़ेगा, ऐसा क्यों होता है? इसे किसे रोकना चाहिए? 1984 में सिखों के साथ जो हुआ वो इस देश के इतिहास में सबसे बड़ा मॉब लिंचिंग था।"

केन्द्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि आपको इतिहास खोजना पड़ेगा कि ऐसी घटनाएं क्यों हो रही है।

केन्द्रीय मंत्री और राजस्थान बीजेपी के बड़े नेता अर्जुन राम मेघवाल ने अलवर हिंसा की निंदा की है। अलवर में गोतस्करी के आरोप में भीड़ ने अकबर नाम के शख्स को पीट-पीटकर मार दिया है। हालांकि अर्जुन राम मेघवाल ने इस हिंसा की निंदा करते हुए मॉब लिंचिंग पर कई सवाल भी खड़े किये। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि मोदी जी जितना मशहूर होंगे, मॉब लिंचिंग की घटनाएं उतनी ही बढ़ेगी। अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि आपको इतिहास खोजना पड़ेगा कि ऐसी घटनाएं क्यों हो रही है। उन्होंने कहा, “बिहार चुनाव के वक्त ये ‘अवॉर्ड वापसी’ था, यूपी चुनाव के वक्त ये मॉब लिंचिंग था, 2019 के चुनाव में ये कुछ और होगा, मोदी जी ने योजनाएं दी और उसका असर दिख रहा है, ये उसका एक रिएक्शन है।” बता दें कि राजस्थान के अलवर के रामगढ़ में शुक्रवार (20 जुलाई) की रात को गो तस्करी के शक में कुछ लोगो ने अकबर खान नाम के शख्स की पीट पीटकर हत्या कर दी।

इस घटना का जिक्र करते हुए अर्जुन राम मेघवाल ने कहा, “हम मॉब लिंचिंग की निंदा करते हैं, लेकिन ये एकमात्र ऐसा वाकया नहीं है, आपको इतिहास में जाना पड़ेगा, ऐसा क्यों होता है? इसे किसे रोकना चाहिए? 1984 में सिखों के साथ जो हुआ वो इस देश के इतिहास में सबसे बड़ा मॉब लिंचिंग था।”राजस्थान के अलवर में ही पिछले साल पहलू खान नाम के शख्स की गोतस्करी के आरोप में हत्या कर दी गई थी। राजस्थान के मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी शुक्रवार की इस घटना की निंदा की है।

वसुंधरा ने ट्वीट कर कहा, “अलवर में गो परिवहन से संबंधित वारदात में हुई नृशंस हत्या की मैं कड़े शब्दों में निंदा करती हूं। पुलिस मामला दर्ज कर दो संदिग्ध व्यक्तियों से पूछताछ कर रही है। मैंने गृह मंत्री गुलाबचंद कटारिया जी को जल्द से जल्द मामले की छानबीन कर दोषियों को कड़ी सज़ा दिलाने के निर्देश दिए हैं।” वही गृह मंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि इस मामले में कठोर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि ऐसी कोई गारंटी नहीं है कि अगर मृत्युदंड का कानून बना दिया जाए तो कल से मर्डर नहीं होंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App