ताज़ा खबर
 

दो युवकों की दिनदहाड़े हत्या

दिल्ली में सोमवार को दिनदहाड़े दो युवकों की हत्या कर दी गई। द्वारका में जहां 27 साल के एक युवक को दोपहर में एक पब्लिक स्कूल के पास कार सवार चार युवकों ने गोली मार दी, वहीं सिविल लाइंस इलाके के एक पार्क में एक युवक की चाकू घोंपकर हत्या कर दी गई।

Author नई दिल्ली | February 2, 2016 04:14 am
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

दिल्ली में सोमवार को दिनदहाड़े दो युवकों की हत्या कर दी गई। द्वारका में जहां 27 साल के एक युवक को दोपहर में एक पब्लिक स्कूल के पास कार सवार चार युवकों ने गोली मार दी, वहीं सिविल लाइंस इलाके के एक पार्क में एक युवक की चाकू घोंपकर हत्या कर दी गई। पुलिस का कहना है कि दोनों मामलों में आरोपियों की पहचान के लिए सीसीटीवी फुटेज खंगाली गई है जिससे कुछ सबूत मिले भी हैं। आरोपियों को बहुत जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

पुलिस के मुताबिक सोमवार दोपहर दो बजे द्वारका सेक्टर-सात के पास के मैक्सफोर्ट स्कूल के पास बच्चों को लाने-ले जाने के लिए गाड़ियों की भीड़ लगी थी तभी एक युवक पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दी गर्इं। मौके पर पहुंची पुलिस ने तुरंत युवक को पास के एक अस्पताल पहुंचाया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। युवक की पहचान पालम डाबड़ी रोड, महावीर एन्क्लेव के रहने वाले सत्यप्रकाश के 27 साल के बेटे निखिल के रूप में हुई। निखिल पर भी डाबड़ी और सागरपुर में दो मामले दर्ज पाए गए हैं। उसके सिर और शरीर के अन्य भागों पर कई गोलियां मारी गई थीं। जांच में सामने आया है कि निखिल का कुछ दिन पहले एक युवक से झगड़ा हुआ था। उस युवक का भी इस हत्या से संबंध हो सकता है।

उधर सोमवार सुबह सिविल लाइंस इलाके के एक पार्क में 20 साल के युवक की चाकू घोंपकर हत्या कर दी गई। युवक की पहचान बाड़ा हिंदू राव इलाके के रहने वाले मोहम्मद अनस कुरैशी के रूप में हुई है। कुरेशी आजादपुर सब्जी मंडी में काम करता था। जांच में पता चला है कि रविवार रात वह घर से बाहर निकला था, पर सोमवार सुबह तक वापस नहीं आया। सुबह पार्क के चौैकीदार ने उसे खून से लथपथ देखकर पुलिस को इत्तिला की। उसके पेट और शरीर के अन्य भागों पर चाकू के हमले के निशान थे।

आप विधायक और डॉक्टरों में ठनी : आम आदमी पार्टी के विधायक व विधानसभा उपाध्यक्ष वंदना कुमारी और सुश्रुत ट्रॉमा सेंटर के डॉक्टरों के बीच हुए झगड़े का असर अस्पताल पर पड़ने लगा है। डॉक्टरों ने इसे प्रतिष्ठा का सवाल बताते हुए शिकायत की है, जबकि कुमारी का कहना है कि ऐसा कुछ नहीं है। वे एक मरीज का उचित समय पर इलाज नहीं होने के कारण अस्पताल गए थे और इसी दौरान कुछ डॉक्टरों के बारे में उन्हें शिकायत मिली थी। वे इस मामले की जांच करवाएंगे। वहीं डॉक्टरों ने इसे विधायक और उनके समर्थकों की करतूत बताई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App