ताज़ा खबर
 

पुलिस वालों ने पहले मारी 5 गोली फिर जान बचाने को दिया खून, बोले- वो हमारी ड्यूटी थी, ये मानवता

अशोक कहते हैं, "संदिग्ध अपराधी को गोली मारना हमारी ड्यूटी थी और अब मैं मानवता का निर्वाह कर रहा हूं।"

दिल्ली पुलिस के जवान (File Photo)

देश की राजधानी दिल्ली में दिल्ली पुलिस का दो चेहरा एकसाथ उजागर हुआ है। बुधवार (26 अप्रैल) को रोहिणी इलाके में दिल्ली पुलिस की टीम ने एक संदिग्ध चोर को पकड़ने के दौरान हुई मुठभेड़ में पहले तो उस पर ताबड़तोड़ पांच गोलियां दाग दीं, बाद में ज्यादा खून बह जाने पर उसे अस्पताल में भर्ती कराया और दो जवानों ने उसे सर्जरी के बाद अपना खून भी दिया। रक्तदान करने वाले कॉन्स्टेबल अशोक कुमार बताते हैं कि वो अक्सर बीमार, सड़क दुर्घटना में घायल लोगों और वृद्ध लोगों के लिए रक्त दान करते रहे हैं लेकिन ये पहला मौका है जब किसी संदिग्ध को पहले गोली मारने के बाद उसकी जान बचाने के लिए उसे खून दान दिया हो। बाबा साहब अंबेडकर अस्पताल में रक्त दान करने से पहले एक पर्ची को भरते हुए अशोक कहते हैं, “संदिग्ध अपराधी को गोली मारना हमारी ड्यूटी थी और अब मैं मानवता का निर्वाह कर रहा हूं।”

दरअसल, रोहिणी सेक्टर 9 के आशियाना विहार अपार्टमेंट में रहने वाले लोगों ने सुबह तड़के चार बजे के करीब दो लोगों को बाउंड्री की दीवार फांदते हुए देखा था। इसके बाद लोगों ने तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी। बाइक पर दो पुलिस वाले वहां पहुंच गए जबकि कुछ पुलिसकर्मा गाड़ी से आए। ये पुलिस वाले उन दोनों संदिग्ध चोरों तक पहुंच गए। संदिग्धों में 24 साल का नितिन और उसका साथी सलमान पुलिस को अपनी तरफ बढ़ता देख घबरा गया और वह दीवार फिर से फांदकर दूसरी तरफ चला गया। लेकिन उस तरफ सब इन्स्पेक्टर रामाश्रय सिंह, हेड कॉन्स्टेबल राजेश कुमार और कॉन्स्टेबल अशोक खड़े थे।

पुलिस को अपने से करीब 15 मीटर की दूरी पर खड़ा देख एक संदिग्ध ने पिस्टल निकाल लिया और पुलिस वालों पर फायरिंग शुरू कर दी। संदिग्ध की गोली अशोक के कान के पास से गुजर गई। इसके बाद अशोक और रामाश्रय सिंह ने अपने सर्विस रिवॉल्वर से मिलकर 9 राउंड फायरिंग की। इनमें से पांच गोली नितिन को जा लगी। नितिन को पैर, दोनों बांह और कमर के पास गोली लगी है। इस बीच सलमान भागने में कामयाब रहा।

इसके बाद नितिन को पुलिस वालों ने बाबा भीमराव अंबेडकर अस्पताल में भर्ती कराया, जहां डॉक्टरों ने उसकी सर्जरी की। सर्जरी के बाद जब खून चढ़ाने की बारी आई तो कॉन्स्टेबल अशोक ने मानवता धर्म निभाते हुए ब्लड डोनेट किया।

वीडियो: दिल्ली पुलिस ने 10-20 पैसे में बैंक डाटा बेचने वाले शख्स को किया गिरफ्तार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App