13 करोड़ का बकाया चुकाए बिना विदेश से भागा बड़े माकपा नेता का बेटा- पार्टी को आई शिकायत - Top CPI(M) leader and Politburo member Kodiyeri Balakrishnan elder son defaulted 13 crore from a Dubai businessman Sitaram Yechury reaction - Jansatta
ताज़ा खबर
 

13 करोड़ का बकाया चुकाए बिना विदेश से भागा बड़े माकपा नेता का बेटा- पार्टी को आई शिकायत

हसन इस्माइल अब्दुल्ला अलमरजूक़ी के मुताबिक बिनॉय ने उसकी कंपनी के अकाउंट से AUDI A8 खरीदने के लिए 3, 13,200 दिरहम का कर्ज लिया और इसे किश्तों में देने का वादा किया।

माकपा नेता कोडियारी बालाकृष्णन (फोटो-ट्विटर)

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के एक बड़े नेता के बेटे पर विदेश से एक बिजनेसमैन का 13 करोड़ रुपये लेकर भागने का आरोप लगा है। इस बावत बिजनेसमैन ने माकपा की सबसे बड़ी निर्णायक संस्था पोलित ब्यूरो को भी शिकायत भेजी है। माकपा के पोलित ब्यूरो सदस्य कोडियारी बालाकृष्णन के बड़े बेटे बिनॉय विनोदिनी बालाकृष्णन पर संयुक्त अरब अमीरात के दुबई शहर के व्यापारी, जिसने अपने पहचान हसन इस्माइल अब्दुल्ला अलमरजूक़ी के रूप में की है, का पैसा लेकर भागने का आरोप है। इस शख्स ने कहा है कि वह दुबई स्थित जास टूरिज्म एलएलसी का मालिक है और उसने कुछ कर्ज विनोदिनी बालाकृष्णन को दिया था जिसे चुकाये बिना वह फरार हो गया। हसन इस्माइल के मुताबिक दुबई में विनोदिनी बालाकृष्णन के खिलाफ 5 केस पेंडिंग हैं। इस शख्स ने अपने शिकायत में कहा है कि वह विनोदिनी बालाकृष्णन को गिरफ्तार करने और उसे यूएई में प्रत्यर्पण के लिए भारतीय अधिकारियों की मदद चाहता है। शिकायती पत्र के मुताबिक बिनॉय विनोदिनी बालाकृष्णन दुबई की कंसलटेंसी फर्म सोल्वो मैनेजमेंट कंसलटेंसी एफजेडई में बिजनेस पार्टनर था। 5 जनवरी को लिखे गये शिकायती पत्र में इस शख्स ने लिखा है कि बिनॉय उसके फर्म में पार्टनर राहल कृष्णन का दोस्त है।

हसन इस्माइल अब्दुल्ला अलमरजूक़ी के मुताबिक बिनॉय ने उसकी कंपनी के अकाउंट से AUDI A8 खरीदने के लिए 3, 13,200 दिरहम का कर्ज लिया और इसे किश्तों में देने का वादा किया। इसके बाद उसने यूएई, इंडिया, नेपाल, केएसए में फैले अपने बिजनेस के लिए फिर से 4.5 मिलियन दिरहम उधार लिया और इसे 10 जून 2016 तक चुकाने का वादा किया। लेकिन जब पैसे चुकाने की बारी आई थो बिनॉय मुकर गया। हसन इस्माइल ने आरोप लगाया कि जबतक यह मामला कोर्ट जाता वह दुबई से फरार हो गया। बाद में पता चला कि उसने वहां पर और भी लोगों से कर्ज ले रखे हैं। जब इस मामले में सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें अभी ऐसी कोई शिकायत नहीं मिली है, लेकिन पार्टी के उच्च पदस्थ सूत्र मानते हैं कि माकपा को यह शिकायत मिल चुकी है और इसे कोदियारी बालाकृष्णन को आगे बढ़ाया जा चुका है। कोदियारी बालाकृष्णन राज्य में पार्टी के सचिव भी हैं।

इस बावत जब बिनॉय से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि दुबई में उनके खिलाफ कोई केस नहीं चल रहा है। उन्होंने कहा, ‘मैंने 3 मिलियन UAE दिरहम जास टूरिज्म से 2015 में उधार लिया था, इस रकम में मैंने 2 मिलियन वापस कर दिया है, लेकिन कंपनी ने मेरे चेक को मिसयूज किया और पिछले साल दुबई कोर्ट में उन्होंने मेरे खिलाफ दुबई कोर्ट में केस किया और दावा किया मैंने 3 मिलियन दिरहम का भुगतान नहीं किया है, लेकिन बकाया सिर्फ एक मिलियन का था, कोर्ट ने मुझपर 60 हजार दिरहम का जुर्माना लगाया और मामला खत्म हो गया।’ कोडियारी बालाकृष्णन ने इस मामले में कहा कि सारे आरोपों का जवाब उनके बेटे बिनॉय देंगे, उन्होंने कहा कि पार्टी से इसका कोई लेना-देना नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App