ताज़ा खबर
 

चालान काटने में चुस्त, सुरक्षा में सुस्त

कोरोना संक्रमण के मामले कम होने से मिली राहत के बाद आम जनता ही नहीं बल्कि सरकारी एजंसियां भी सुस्त हुई हैं। यह आकलन दिल्ली सरकारी के कामकाज की रिपोर्ट के आधार पर सामने आया है।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (Photo- Indian Express)

कोरोना संक्रमण के मामले कम होने से मिली राहत के बाद आम जनता ही नहीं बल्कि सरकारी एजंसियां भी सुस्त हुई हैं। यह आकलन दिल्ली सरकारी के कामकाज की रिपोर्ट के आधार पर सामने आया है। रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली में सेनेटाइजर व मास्क का वितरण गिरा है, वहीं चालान पर जोर बढ़ा है। हालांकि मंगलवार को चालान की संख्या में राहत देखी गई है।

पुरुष हो रहे संक्रमण के अधिक शिकार : दिल्ली में संक्रमण का अधिक शिकार पुरुष हो रहे हैं। सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक, इसमें 27 से लेकर 31 मई तक के आंकड़ों का आकलन किया गया। पता चला कि 60 वर्ष से अधिक आयु के 316 महिलाएं और 447 पुरुष इस बीमारी से संक्रमित हुए हैं।
जो कि पुरुषों में 58 फीसद और महिलाओं में 41.42 फीसद दर्ज किया गया।

30 से 60 वर्ष की आयु में 37.38 महिला और 62 फीसद पुरुष शामिल थे। 30 तक की आयु में पुरुषों का आंकड़ा 58 और महिलाओं का आंकड़ा 41.05 फीसद दर्ज किया गया। 14 वर्ष से कम आयु के लड़के ही अधिक इस बीमारी के शिकार हुए। इनमें 41.34. फीसद लड़कियां व 58 फीसद लड़के शामिल थे। वहीं, मेट्रो में यात्री भी लापरवाह हुए हैं। ऐसे लोगों की निगरानी के लिए मेट्रो ने विशेष टीमें भी तैनात की है। नौ जून से 13 जून के बीच मेट्रो ने 250 से अधिक लोगों के चालान किए।

कम हो रहा है सेनेटाइजर व मास्क वितरण :
नौ जून से लेकर 15 जून तक के आंकड़े बताते हैं कि नौ जून को मास्क का निशुल्क वितरण जहां 3608 था। वह 11 जून को 3962, 13 जून को 3297 और 15 जून को केवल 1871 ही रह गया। इसी प्रकार सेनेटाइजर का वितरण यह आंकड़ा 11 जून को 3962, 13 जून को 3297 और 15 जून को केवल 1871 ही रह गया।

उल्लंघन चालान तेजी में : संक्रमण रोकने को सरकारी एजंसियां तय नियमों का पालन करने वालों का लगातार चालान कर रही है। नौ जून को दिल्ली में 3981 चालान किए थे। इसके बाद 11 जून को 4602, 12 जून को 4675 और 14 जून को यह आंकड़ा 4886 तक पहुुंच गया था। मंगलवार को इन चालान की संख्या केवल 2021 ही रही।

Next Stories
1 संसदीय समिति के सामने पेश होने के लिए ट्विटर को समन, 18 जून को नए IT नियमों और बाकी शिकायतों पर होगी चर्चा
2 ये है यमुना
ये पढ़ा क्या?
X