ताज़ा खबर
 

..जामिया मिल्लिया इस्लामिया के दूरस्थ केंद्र में तीसरे लिंग के विद्यार्थियों को मिलेगी मुफ्त शिक्षा

इस वर्ग के विद्यार्थी दूरस्थ व मुक्त अध्ययन केंद्र के तहत चलने वाले 19 पाठ्यक्रमों में से किसी में भी बिना कोई शुल्क दिए पढ़ाई कर सकते हैं।

Author नई दिल्ली | Published on: August 15, 2017 3:51 AM
केंद्रीय विश्वविद्यालय जामिया मिल्लिया इस्लामिया। (फाइल फोटो)

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) के बाद जामिया मिल्लिया इस्लामिया के दूरस्थ व मुक्त अध्ययन केंद्र ने भी तीसरे लिंग वर्ग (ट्रांसजेंडर) के विद्यार्थियों को मुफ्त शिक्षा देने का फैसला किया है। यह केंद्र इस वर्ग के विद्यार्थियों से प्रवेश शुल्क से लेकर कार्यक्रम शुल्क तक कुछ भी नहीं लेगा। यहां प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और 16 अक्तूबर तक आवेदन किया जा सकता है।  दूरस्थ व मुक्त अध्ययन केंद्र के विशेष कार्य अधिकारी (ओएसडी) प्रोफेसर एम मुज्तबा खान ने बताया कि हमने इस साल से तीसरे लिंग के विद्यार्थियों को मुफ्त पढ़ाने का फैसला किया है। इस वर्ग के विद्यार्थी दूरस्थ व मुक्त अध्ययन केंद्र के तहत चलने वाले 19 पाठ्यक्रमों में से किसी में भी बिना कोई शुल्क दिए पढ़ाई कर सकते हैं।

प्रोफेसर खान ने बताया कि इसके लिए इस वर्ग के विद्यार्थियों को जामिया स्थित हमारे केंद्र पर संपर्क करना होगा। केंद्र पर आकर विद्यार्थियों को जिस पाठ्यक्रम में प्रवेश लेना है, उसके लिए अपनी योग्यता और तीसरे लिंग को साबित करने वाला प्रमाणपत्र दिखाना होगा। इसके बाद केंद्र से उन्हें मुफ्त में दाखिले का आवेदन पत्र उपलब्ध करा दिया जाएगा और विद्यार्थी का प्रवेश हो जाएगा। उसे आगे भी किसी तरह का कोई शुल्क नहीं देना होगा। गौरतलब है कि इसी साल 2 जुलाई को इग्नू ने सभी ट्रांसजेंडर (किन्नर) विद्यार्थियों को मुफ्त शिक्षित करने का फैसला किया था। इग्नू ने साल 2012 में ही दाखिला फॉर्म में ‘तीसरे लिंग’ के लिए जगह दे दी थी। साल 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने तीसरे लिंग के तौर पर ट्रांसजेंडर्स को मान्यता दी थी। तमिलनाडु की मनोन्मानियम सुंदरनार विश्वविद्यालय ने भी ट्रांसजेंडर्स छात्रों की फीस माफ की है। इस विश्वविद्यालय में सर्टिफिकेट पाठ्यक्रम से लेकर पीएचडी करने के लिए ट्रांसजेंडर्स विद्यार्थियों को एक भी पैसा नहीं देना होता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 निजी एअरलाइन पर आरोप- पैरा एथलीट को जबरदस्ती विमान से उतारा
2 दिल्ली: बेटे के कम नंबर आने पर पिता ने सरेआम महिला टीचर की कर दी पिटाई
3 कार्ति चिदंबरम के खिलाफ लुकआउट नोटिस नहीं रोक नहीं, सुप्रीम कोर्ट ने हाई कोर्ट के फैसले पर लगाई रोक
ये पढ़ा क्या?
X