ताज़ा खबर
 

दिल्ली: गाड़ी चोरी रोकने वाले दस्ते के हेड, इंस्पेक्टर की ही नई कार उड़ा ले गए चोर

अतरे अब तक 15 गाड़ी चोरी के केस सुलझा चुके हैं और 10 चोरों को जेल की हवा खिलवा चुके हैं।

Author नई दिल्ली | June 10, 2017 11:59 am
महिलाओं की सुरक्षा करने का दावा करने वाली पुलिस के सिपाही ने ही सहकर्मी को असुरक्षा का अहसास करा दिया।(प्रतिकात्मक तस्वीर)

दिल्ली में 31 मई को दक्षिण-पूर्वी जिले में गाड़ी चोरी और धोखाधड़ी के आरोप में पुलिस के एंटी ऑटो थेफ्ट स्क्वॉड ने चार लोगों को गिरफ्तार किया। इस टीम का नेतृत्व इंस्पेक्टर लव अतरे कर रहे थे। एक तरफ तो पुलिस ने गाड़ी चोरी वाले गैंग को गिरफ्तार किया तो वहीं दूसरी ओर खुद इंस्पेक्टर की गाड़ी को चोर ले उड़े। यह मामला शेख सराय का है। इस मामले की शिकायत मालवीय नगर पुलिस थाने में दर्ज कराई गई है। इस मामले की पुष्टि करते हुए दक्षिण जिले के डीसीपी ने कहा कि मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है। प्राप्त जानकारी के अनुसार अतरे अपनी परिवार के साथ शेख सराय के फेस 2 में रहते हैं। यह चोरी की वारदात 2 जून की आधी रात को हुई, ठीक गाड़ी चोर गैंग की गिरफ्तारी के तीन दिन बाद।

अतरे ने 6 महीने पहले ही ग्रेनाइट ग्रे रंग की स्विफ्ट ली थी। गाड़ी चोरी होने का पता अतरे और उसके परिवार को तब लगा जब वे सुबह सोकर उठे। इसके बाद उन्होंने तुरंत ही इसकी शिकायत पुलिस को की। मौके पर पहुंची पुलिस की टीम ने जांच पड़ताल शुरु की और साथ ही फोरेंसिक टीम को भी फिंगरप्रिंट की जांच के लिए बुलाया गया। यह एक इंस्पेक्टर की गाड़ी की चोरी का मामला है इसलिए मालवीय नगर के पुलिस अधिकारी इस मामले में ज्यादा दिलचस्पी दिखा रहे हैं। अतरे का हाल ही में प्रमोशन हुआ था और उन्होंने एंटी ऑटो थेफ्ट स्क्वॉड ज्वॉइन की थी। अतरे अब तक 15 गाड़ी चोरी के केस सुलझा चुके हैं और 10 चोरों को जेल की हवा खिलवा चुके हैं।

वहीं इस मामले में एंटी ऑटो थेफ्ट स्क्वॉट की एक टीम उन सभी चोरों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है जो कि कई बार चोरी की वारदात में गिरफ्तार हो चुके हैं। सूत्रों के मुताबिक उच्च अधिकारियों ने टीम को इस मामले को जल्द से जल्द सुलझाने के निर्देश दिए हैं। पुलिस उस इलाके में रहने वाले लोगों, फेस 2 के सिक्यूरिटी गार्ड और आस-रहने वाले ड्राइवरों से इस मामले में पूछताछ कर रही है। शुरुआती जांच में पुलिस को लग रहा है कि यह हरियाणा या उत्तर प्रदेश के किसी गिरोह का काम है। पुलिस जांच में यह भी सामने आया है कि गाड़ी में उसकी सुरक्षा हेतु कोई भी डिवाइस नहीं लगाया गया था जिसके कारण चोर आसानी से गाड़ी को चुराकर ले गए।

देखिए वीडियो - चुराने को कुछ नहीं मिला तो देखिए चोर ने क्या चुराया

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App