ताज़ा खबर
 

दिल्ली सरकार का एलान, ऑटो-टैक्सी चालकों को राहत राशि, परिवारों को मिलेगा मुफ्त राशन

कोरोनाकाल में आर्थिक संकट से जूझ रहे परिवारों को राहत देने के लिए दिल्ली सरकार ने दो माह का राशन मुफ्त उपलब्ध कराने का फैसला लिया है।

Author नई दिल्‍ली | Updated: May 5, 2021 5:29 AM
chief Ministerदिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल।

कोरोनाकाल में आर्थिक संकट से जूझ रहे परिवारों को राहत देने के लिए दिल्ली सरकार ने दो माह का राशन मुफ्त उपलब्ध कराने का फैसला लिया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आॅनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि इसका लाभ 72 लाख परिवारों को मिलेगा और राशन कार्ड प्राप्त परिवारों तक राशन पहुंचाया जाएगा। इसी प्रकार 1.56 लाख आॅटो-टैक्सी वालों को भी दिल्ली सरकार ने पांच- पांच हजार रुपए की आर्थिक सहायता देने का भी फैसला लिया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दो महीने तक मुफ्त राशन देने का मतलब यह नहीं है कि दिल्ली में बंद भी दो माह तक चलेगा। उन्होंने कहा कि जैसे ही मामले कम होंगे तो बंद को खत्म कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह समय एक-दूसरे की मदद करने और अच्छा इंसान बनने का है। मैं अपील करता हूं कि सभी पार्टी और जाति-धर्म के लोग एक-दूसरे की मदद करें। हम लोगों को अस्पताल में भर्ती कराने, आॅक्सीजन व बिस्तर दिलाने, बीमार और गरीब लोगों को खाना खिलाने में मदद कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि मुझे पूरी उम्मीद है कि हम सब मिलकर लड़ेंगे, तो बहुत जल्द कोरोना से जीत पा लेंगे। उन्होंने बताया कि पिछली बार दिल्ली सरकार ने 1.56 लाख आॅटो-टैक्सी चालकों की मदद की थी। उन सभी लोगों की मदद इस बार भी की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बंद लगाना जरूरी था, ताकि कोरोना के केस में कमी आ सके और कोरोना संक्रमण की कड़ी टूट सके। उन्होंने कहा कि हम सब लोग जानते हैं कि बंद खासकर गरीब लोगों के लिए बड़ा आर्थिक संकट पैदा कर देता है। खास कर उन लोगों के लिए जो दिहाड़ी करके रोज कमाते हैं। बीते सप्ताह दिल्ली सरकार ने खासकर मजदूरों के खाते में 5-5 हजार रुपए डालने का एलान किया था। उनके खाते में 5-5 हजार रुपए जा भी चुके हैं। इसके अलावा जिनकी आरटी-पीसीआर की रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है। सरकार ने उन मजदूरों के लिए भी अलग से मदद करने का एलान किया था।

Next Stories
1 कोरोना, ऑक्सिजन संकटः आप अंधे हो सकते हैं, हम नहीं…कैसे इतने असंवेदनशील हो सकते हैं?- मोदी सरकार को दिल्ली HC की फटकार
यह पढ़ा क्या?
X