ताज़ा खबर
 

चांदनी चौक में सामान उतारने व चढ़ाने की परेशानी होगी दूर

चांदनी चौक के कारोबार को पटरी पर लाने के लिए बुधवार को एक बड़ी पहल शुरू हो रही है।

chandni chaukचांदनी चौक में चल रहा विकास कार्य । फाइल फोटो।

चांदनी चौक के कारोबार को पटरी पर लाने के लिए बुधवार को एक बड़ी पहल शुरू हो रही है। लम्बे समय से सामान उतारने व चढ़ाने में (लोडिंग- अनलोडिंग) आ रही परेशानियों के बाद इस क्षेत्र के लिए एक नई शुरुआती परियोजना शुरू की जा रही है।

इसके लिए सरकारी एजंसियों ने कुछ स्थान चिहिन्त किया, जहां से पूरे बाजार को सामान पहुंचाया या वहां से सामान भेजा सकेगा। ऐसे तीन से चार जगहों का परियोजना बुधवार से शुरू होगी। ज्ञात हो कि कोरोनाकाल व चांदनी चौक नवीनीकरण परियोजना की दिक्कतों को लेकर कारोबारी पहले ही दिल्ली सरकार के पास कई बार फरियाद लगा चुके हैं।

चांदनी चौक में दिल्ली ही नहीं बल्कि देश व दुनिया का कारोबार चलाया जाता है। इस पहल के बार सामान आने में आ रही परेशानियों को दूर किया जा सकेगा। इसके लिए चांदनी चौक के पूरे इलाके को 9 जोन में बांटा गया है। जहां से आसानी से किसी भी क्षेत्र तक सामान पहुंचाया जा सकेगा। इसके एक बार फिर से चांदनी चौक के कारोबार को बढ़ाने में मदद मिलेगी। चांदनी चौक में व्यवसायिक क्षेत्र होने के साथ- साथ यहां पर बड़ी संख्या में रिहायशी आबादी भी रहती है। इन आबादी को ध्यान में रखकर नए केंद्र स्थापित किए गए हैं।

यहां सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक कोई वाहन प्रवेश नहीं कर सकता। केवल गैर मोटर वाहन ही यहां जा सकते हैं।
इस मार्ग को सुंदर बनाने के लिए तीन स्तरीय हरित क्षेत्र स्थापित किया गया है और नियमों का सख्ती से पालन किया जा सके। इसके लिए सीसीटीवी कैमरों की भी मदद ली जा रही है।

लाल किले से लेकर फ्तेहपुरी तक के मार्ग पर वाहनों की मनाही रहेगी। इस मार्ग पर केवल साइकिल रिक्शा को अनुमत किया गया है और इस सेवा को नियमित बनाए रखने के लिए रंग आधारित रिक्शा की व्यवस्था भी तैयार की गई है। इसकी मदद से इस मार्ग पर अवैध रिक्शाओं की आवाजाही को रोकने में मदद हासिल होगी और आम जनता के लिए सहूलियत होगी।

लालकिले के स्तर की ऐतिहासिकता बनाए रखने की तैयारी

चांदनी चौक दिल्ली सरकार की प्रमुख परियोजनाओं में से है। इसे दिल्ली सरकार एक मॉडल के तौर पर तैयार कर रही है। इसके ठीक सामने लाल किले का मॉडल है। इसका मकसद केंद्र सरकार की परियोजना जैसा स्तर भी इस परियोजना को देना है। क्योंकि यह दुनिया की ऐतिहासिक धरोहरों में शामिल है।

इसी तर्ज पर दिल्ली सरकार चांदनी चौक को भी प्रमुखता देने की तैयारी में लगी है। इसीलिए सरकार ने यह भी तय किया है कि लोक निर्माण विभाग इस मार्ग का रखरखाव तो करेगा ही उसे एक कंपनी माध्यम से यहां की सुरक्षा, हरित क्षेत्र और सफाई व्यवस्था संभालने का भी जिम्मा दिया जाएगा। अब तक हरित क्षेत्र व सफाई व्यवस्था का जिम्मा यहां निगम के हाथों में ही रहा है।

Next Stories
1 रात्रि कर्फ्यू के बाद सता रहा पूर्णबंदी का डर, दिहाड़ी मजूदर बोले, काम पर पड़ा असर
2 वंदेमातरम की गूंज से परेशान हो गए थे अंग्रेज, लेखन की वजह से बंकिमचंद्र को नहीं मिला था प्रमोशन
3 CDS बिपिन रावत ने बताया, कहां भारत से आगे है चीन, बोले- कर सकता है साइबर अटैक
ये पढ़ा क्या?
X